मलाला यूसुफजई ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पूरी की ग्रेजुएशन, कहा-अब सोने पर है फोकस

मलाला यूसुफजई ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पूरी की ग्रेजुएशन, कहा-अब सोने पर है फोकस
मलाला यूसुफजई दुनिया का सबसे युवा नोबल पुरस्कार विजेता हैं.

सबसे कम उम्र में शांत का नोबल पुरस्कार (Nobel Piece Prize) जीतने वाली मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने फिलोसॉफी, पॉलिटिक्स और इकोनॉमिक्स में डिग्री पूरी की.

  • Share this:
नई दिल्ली. सबसे कम उम्र में शांत का नोबल पुरस्कार जीतने वाली सोशल एक्टिविस्ट मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने अपनी ग्रेजुएशन पूरी कर ली है. मलाला ने फिलोसॉफी, पॉलिटिक्स और इकोनॉमिक्स में ब्रिटेन की प्रतिष्ठित ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) से डिग्री हासिल की. ऑक्सफोर्ड के लेडी मार्गेट हॉल कॉलेज से ग्रेजुएशन करने के बाद 22 साल की मलाला ने सोशल मीडिया पर अपनी खुशी साझा की. मलाला ने डिग्री के जश्न की दो तस्वीरें पोस्ट कर अपनी खुशी का इजहार किया.

तस्वीरें शेयर कर बयां की खुशी
मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने तस्वीरें पोस्ट कर लिखा, मैंने ऑक्सफोर्ड (Oxford) से फिलोसॉफी, पॉलिटिक्स और इकोनॉमिक्स में डिग्री पूरी कर ली है. मेरे लिए ये खुशी बयां करना मुश्किल है. मलाला ने जो दो तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट की हैं, उनमें से एक में वे परिवार के साथ केक काटकर ग्रेजुएशन पूरी होने का जश्न बना रहीं हैं तो दूसरी तस्वीर में उनके चेहरे पर केक लगा हुआ है.

मैं नहीं जानती, आगे क्या है...
मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने अपने ट्वीट में भविष्य की योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा कि वे फिलहाल सोना चाहती हैं. मलाला ने ट्वीट किया, मैं नहीं जानती आगे क्या है. फिलहाल तो नेटफ्लिक्स, रीडिंग और सोना ही है. बता दें कि तालिबानी आतंकियों ने दिसंबर 2012 में मलाला यूसुफजई पर हमला करते हुए उनके सिर में गोली मार दी थी. मलाला तब उत्तरी पाकिस्तान में फीमेल एजुकेशन को बढ़ावा देने की मुहिम में जुटी थीं. गंभीर रूप से घायल मलाला को पाकिस्तान के सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उन्हें आगे के इलाज के लिए ब्रिटेन भेज दिया गया.



ये भी पढ़ें
जेईई मेन और नीट के आयोजन पर बड़ी अपडेट, जानिए एग्जाम होंगे या नहीं!
यूपी के कॉलेज और यूनिवर्सिटीज एग्जाम को लेकर बड़ी खबर, जानिए कब से शुरू होंगे


17 साल की उम्र में नोबल
मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) को साल 2014 में नोबल पीस प्राइज से नवाजा गया था. तब उनकी उम्र महज 17 साल थी. मलाला सबसे कम उम्र की नोबल प्राइज विजेता हैं. मलाला अभी ब्रिटेन में ही हैं और वहीं से पाकिस्ताना, नाइजीरिया, जॉर्डन, सीरिया और केन्या में शिक्षा को बढ़ावा देने की मुहिम में जुटी हैं. बता दें कि तालिबान ने चेतावनी थी कि अगर मलाला बच जाती हैं तो वो फिर से उन पर हमला करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading