JEE-NEET परीक्षा पर मनीष सिसोदिया का बयान- 28 लाख स्टूडेंट की जान खतरे में डालने जैसा

JEE-NEET परीक्षा पर मनीष सिसोदिया का बयान- 28 लाख स्टूडेंट की जान खतरे में डालने जैसा
मनीष सिसोदिया ने जेईई-नीट परीक्षा का विरोध किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2020, 5:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के उप मुख्मंत्री मनीष सिसोदिया (Delhi Deputy Chief Minister Manish Sisodia) ने बुधवार को एक बार फिर मेडिकल और इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा नीट (NEET) और जेईई (JEE) को टालने की अपील की है. उन्होंने कहा कि सरकार को इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था पर विचार करना चाहिए. सिसोदिया ने कहा कि केंद्र का कहना है कि प्रोटोकॉल को फॉलो किया जाएगा. लेकिन उसी प्रोटोकॉल को फॉलो करते हुए लाखों लोग कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं.

जादू की छड़ी नहीं है परीक्षा
सिसोदिया ने कहा कि काफी सुरक्षित माहौल में रहने के बाद भी केंद्रीय गृह मंत्री भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए. इसके अलावा दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सहित अन्य भी तमाम नेताओं को कोरोना का संक्रमण हो गया. आगे उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को तत्काल प्रभाव से परीक्षा टाल देनी चाहिए ताकि 28 लाख छात्रों के स्वास्थ्य की सुरक्षा को सुनिश्चित किया जा सके. सरकार को एडमिशन के लिए वैकल्पिक व्यवस्था पर काम करना चाहिए. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि हम ये भी नहीं कह रहे हैं कि इस साल को ज़ीरो एकेडमिक इयर घोषित कर दिया जाए और न ही ये कह रहे हैं कि बच्चों को ऐसे ही एडमिशन दे दिया जाए क्योंकि हमें भी अच्छे डॉक्टर और इंजीनियर की जरूरत है. लेकिन ये मानना सिर्फ इस तीन घंटे की परीक्षा से ही टैलेंट की पहचान हो जाएगी और इसे किसी जादू की छड़ी की तरह से लेना अच्छी बात नहीं है.

सितंबर में होनी है परीक्षा
जेईई और नीट की परीक्षा सितंबर में की जाएगी. हालांकि, इस बीच काफी राजनेताओं ने भी इसका विरोध किया है. इनमें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, कांग्रेस के राहुल गांधी, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने भी परीक्षा को टाले जाने की बात कही है.



ये भी पढ़ेंः
JEE Advanced 2020: जारी हुआ नया शेड्यूल, 11 स‍ितंबर से शुरू होगा रज‍िस्‍ट्रेशन
JEE-NEE Exam 2020: जेईई-नीट परीक्षा टालने को लेकर छात्र घर से ही करेंगे विरोध


सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी थी याचिका
बता दें कि पिछले हफ्ते परीक्षा को कैंसिल करने वाली याचिका खारिज कर दी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जिंदगी चलती रहनी चाहिए. इस साल जेईई की परीक्षा में 9. 53 लाख कैंडीडेट्स और नीट परीक्षा के लिए 15.97 लाख छात्रों ने अप्लाई किया है. हालांकि, परीक्षा करवाने के लिए सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाएगा. इसके लिए सेंटर्स की संख्या बढ़ाई जाएगी ताकि सोशल डिस्टेंसिंग को मेनटेन किया जा सके. एनटीए पूरी कोशिश करेगी कि परीक्षा को सुरक्षित तरीके से करवाई जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज