मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर डिग्री के लिए पहुंचे हाई कोर्ट

मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर डिग्री के लिए पहुंचे हाई कोर्ट
परीक्षा के लिए उन छात्रों को 15 अगस्त तक अपनी डिग्री अपलोड करनी होगी.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

अधिवक्ता ने अदालत से दिल्ली विश्वविद्यालय को निर्देश देने का आग्रह किया है. मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज दिल्ली विश्वविद्यालय से मान्यता प्राप्त है.

  • Share this:
नई दिल्ली. मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज से ग्रेजुएट दस डॉक्टरों ने दिल्ली उच्च न्यायालय का रुख किया. इन डॉक्टर्स को अभी डिग्री नहीं मिली है. लोग संयुक्त राज्य अमेरिका में एक रेजीडेंसी कार्यक्रम के लिए आवेदन करना चाहते हैं. डिग्री न होने के चलते ये लोग आवेदन नहीं कर सकेंगे. ये याचिका, वकील सार्थक मग्गन के माध्यम से दायर की गई.

कई प्रयासों के बावजूद नहीं मिली डिग्री
याचिका में कहा गया, डॉक्टरों ने 2018 में मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली से ग्रेजुएशन की, लेकिन अधिकारियों से संपर्क करने के कई प्रयासों के बावजूद डिग्री प्रमाण नहीं मिले. सोमवार को उच्च न्यायालय के सामने सुनवाई के लिए मामला आने की संभावना है.


शुक्रवार को दायर की गई दलील में कहा, डॉक्टर संयुक्त राज्य अमेरिका में अपने रेजीडेंसी कार्यक्रम के लिए आवेदन करने चाहते हैं. जिसके लिए डिग्री जमा करने की अंतिम तिथि 15 अगस्त है.



याचिका में कहा गया है, आवेदन प्रक्रिया के बाद दस्तावेजों को संबंधित विभाग द्वारा सत्यापित किया जाएगा. 14 अक्टूबर, 2020 तक यह प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी.

डिग्री न देने की वजह
डिग्री प्रमाण पत्र लेने के कई प्रयासों के बावजूद, संबंधित अधिकारियों ने स्पष्ट रूप से कहा है डिग्री अपेक्षित कागजात (requisite paper) की अनुपस्थिति के कारण जारी नहीं की जा सकती.

ये भी पढ़ें-
MHRD ने बनाई समिति, देश में रहकर छात्रों के पढ़ाई करने पर देगी सुझाव
COMEDK UGET Exam 2020 फिर से स्थगित, अब 19 अगस्त को दो शिफ्ट्स में होगा आयोजित

अधिवक्ता ने अदालत से दिल्ली विश्वविद्यालय को निर्देश देने का आग्रह किया है. ताकि अवसर खोए बिना याचिकाकर्ताओं को डिग्री को और अधिक देरी किए बिना जारी किया जा सके. बता दें कि मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज दिल्ली विश्वविद्यालय से मान्यता प्राप्त है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading