NEET को लेकर मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया का बयान, नहीं टाली जा सकती परीक्षा

NEET को लेकर मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया का बयान, नहीं टाली जा सकती परीक्षा
मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने कहा कि परीक्षा टालना ठीक नहीं है.

NEET Exams: एमसीआई ने यह भी कहा है कि देश के बाहर कोई परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाएगा. सरकार ने भी कह दिया है कि परीक्षा नहीं टाली जाएगी. हालांकि, काफी लोग स्वास्थ्य सुरक्षा का हवाला देते हुए परीक्षा को टालने की मांग कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2020, 3:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (Medical Council of India) ने कहा कि नीट (NEET) को फिर नहीं टाला जा सकता है क्योंकि ऐसा करने से काउंसिल का पूरा शिड्यूल बिगड़ जाएगा. एमसीआई ने इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court of India) में एक एफिडेविट फाइल की है. इसमें कहा गया है कि नीट परीक्षा में और देरी होने से इस साल के एकेडमिक कैलेंडर (Academic Calendar) में देरी हो जाएगी जिसकी वजह से बाद के सालों के कैलेंडर में भी देरी होगी.

देश के बाहर नहीं बनाए जाएंगे सेंटर्स
एमसीआई ने यह भी कहा कि देश के बाहर परीक्षा केंद्र नहीं बनाए जाएंगे. चूंकि परीक्षा की तैयारियां करने में पूरा साल लग जाता है और बाहर के परीक्षा केंद्रों पर ऐसा कंट्रोल होना आसान नहीं है. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने एक एफिडेविट में कहा कि कॉमन मेडिकल टेस्ट पूरी दुनिया में एक सिंगल शिफ्ट में किया जाता है ताकि किसी भी तरह से पेपर लीक न हो और एक जैसी परीक्षा करवाई जा सके.

अगर सबके लिए एक ही समय पर परीक्षा नहीं हो पाएगी तो इसकी शुचिता नष्ट हो जाएगी. नीट को ऑनलाइन के बजाय पेपर-बुक फॉर्मेट में करवाया जाता है ताकि यूनिफॉर्मिटी को मेंटेन किया जा सके. बता दें कि जेईई और नीट की परीक्षाएं (JEE-NEET Exams) सितंबर में होनी हैं.
साथ ही इस एफिडेविट में ये भी कहा गया है कि क्वेस्चन पेपर और एग्जाम मटीरियल को एनटीए हेडक्वार्टर से काफी ज्यादा संख्या में कई शहरों में ले जाया जाता है जिसकी सुरक्षा और सिक्योरिटी के लिए काफी प्लानिंग की जरूरत होती है.



ये भी पढ़ेंः


सरकार ने कहा नहीं टलेगी परीक्षा
वहीं बता दें कि सरकार ने पहले ही परीक्षा को टालने से मना कर दिया है. हालांकि, राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी सहित दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी सरकार से नीट परीक्षा को टालने की अपील की थी. लेकिन सरकार ने अपना अभी तक यही कहा है कि परीक्षा को टाला नहीं जाएगा. इसी बीच एनटीए ने भी गाइडलाइन्स जारी कर दी हैं कि किस तरह से परीक्षा के दौरान सुरक्षा के उपाय अपनाए जाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज