Medical Courses without NEET: 12वीं के बाद करें मेडिकल के ये कोर्स, इनके लिए NEET पास करना नहीं जरूरी

मेडिकल के यूजी कोर्स में एडमिशन के लिए नीट परीक्षा में हर साल करीब 15 लाख छात्र शामिल होते हैं.

मेडिकल के यूजी कोर्स में एडमिशन के लिए नीट परीक्षा में हर साल करीब 15 लाख छात्र शामिल होते हैं.

Medical Courses without NEET: मेडिकल के अंडर ग्रेजुएट कोर्स में एडमिशन के लिए नीट परीक्षा पास करनी होती है. लेकिन इसके बिना भी मेडिकल के क्षेत्र में करियर बनाया जा सकता है. कई ऐसे कोर्स हैं जिनमें एडमिशन के लिए नीट परीक्षा में शामिल होना जरूरी नहीं है.

  • Share this:

नई दिल्ली. मेडिकल की पढ़ाई के लिए नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) प्रमुख परीक्षा है. इसके जरिए मेडिकल के अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट, दोनों कोर्स में एडमिशन होते हैं. अंडर ग्रेजुएट के लिए NEET UG और पीजी के लिए NEET PG का आयोजन होता है. इस बार नीट यूजी 2021 परीक्षा एक अगस्त को होनी है. इसके जरिए प्रत्येक वर्ष एमबीबीएस (MBBS) और बीडीएस (BDS) कोर्स में एडमिशन के लिए 15 लाख से ज्यादा छात्र इस परीक्षा में शामिल होते हैं. इसमें से करीब 50% ही इसे क्वॉलिफाई कर पाते हैं.

नीट परीक्षा पास न कर पाने के कारण कई अभ्यर्थी हताश या निराश हो जाते हैं. लेकिन हम आज आपको बताने जा रहें कि मेडिकल की फील्ड में एंट्री के लिए नीट के अलावा भी कई अन्य विकल्प हैं. जिसके जरिए आप मेडिकल फील्ड के करियर की ऊंची उड़ान भर सकते हैं.

बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में बीटेक

बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में बीटेक चार साल का अंडर ग्रेजुएट कोर्स है. इसमें एडमिशन के लिए न्यूनतम 60% अंकों के साथ फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स विषयों के साथ 12वीं पास होना चाहिए. पढ़ाई पूरी करने के बाद आपके लिए बतौर बायोमेडिकल टेक्नीशियन, बायोमेडिकल इंजीनियर और बायोकेमिस्ट के तौर पर काम करने का रास्ता खुलता है. बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में बीटेक करने के बाद बायोमेडिकल इंजीनियर, इक्विपमेंट डिजाइन इंजीनियर, लैब टेक्नीशियन और रिसर्च इंजीनियर बना जा सकता है.
सैलरी- शुरुआत में 03 लाख से 10 लाख रुपये सालाना तक कमा सकते हैं. अनुभव बढ़ने के साथ हर महीने लाखों रुपये की भी सैलरी हो सकती है.

बीएससी न्यूट्रिशन

आजकल डाइटीशियन और न्यूट्रिशनिस्ट की मांग काफी बढ़ रही है. इसके मद्देनजर यह एक सुनहरा करियर हो सकता है. बीएससी न्यूट्रिशन तीन साल का अंडर ग्रेजुएट कोर्स है. इसमें डाइट और न्यूट्रिशन वैल्यू के बारे में पढ़ाया जाता है. न्यूट्रिशन एंड डायटिक्स में बीएससी करने के बाद आप अस्पतालों, हेल्थ क्लीनिक्स, हेल्थ सेंटर्स या मल्टीनेशनल कंपनियों में बतौर डायटीशियन या न्यूट्रीशनिस्ट काम कर सकते हैं. सैलरी भी अच्छी मिलती है.



सैलरी- शुरुआत में औसत सैलरी तीन लाख रुपये तक सालाना हो सकती है. अनुभव और प्रसिद्धि के साथ लाखों रुपये प्रति माह भी मिल सकते हैं.

बैचलर इन फॉर्मेसी

बैचलर इन फार्मेसी को आमतौर पर बी फार्मा भी कहा जाता है. यह चार साल का अंडर ग्रेजुए कोर्स है. कोर्स पूरा करने के बाद फार्मासिस्ट या केमिस्ट के रूप में प्रैक्टिस की जा सकती है. साथ ही इसके जरिये फार्मास्युटिकल इंडस्ट्री, हर्बल इंडस्ट्री, कॉस्मेटिक्स इंडस्ट्री या क्लिनिकल रिसर्च के क्षेत्र में लाजवाब करियर बना सकते हैं. इसके अलावा सरकारी विभागों में भी प्रोडक्शन, क्वालिटी कंट्रोल, रिसर्च एंड डेवलपमेंट, आदि के लिए नौकरियां निकलती हैं.

सैलरी - कोर्स पूरा करने के दो से पांच लाख रुपये की औसत सैलरी वाली जॉब मिल सकती है.

बीएससी फिजियोथेरेपी

यह भी अंडर ग्रेजुएट कोर्स है. यह तीन साल का है. इसे पूरा करने के बाद फिजियोथेरेपिस्ट, रिसर्चर, रिसर्च असिस्टेंट, स्पोर्ट्स फिजियो रिहैबिलेटर, थेरेपी मैनेजर जैसे विभिन्न क्षेत्रों में काम करने का मौका मिलता है. किसी अस्पताल के साथ जुड़कर या निजी क्लीनिक में भी काम कर सकते हैं.

सैलरी- कम से कम पांच से छह लाख प्रति वर्ष का सैलरी पैकेज

बीए साइकोलॉजी

हेल्थ केयर फील्ड के अन्य कोर्स की तरह साइकोलॉजी में करियर बनने के लिए 12वीं में साइंस की पढ़ाई की अनिवार्यता नहीं है. आर्ट्स या कॉमर्स के स्टूडेंट्स भी साइकोलॉजी में ग्रेजुएशन कर सकते हैं. इसके बाद आप हेल्थ या मेंटल केयर काउंसलर, कंसल्टेंट के तौर पर काम कर सकते हैं. या फिर क्रिमिनल जस्टिस या सोशल वर्क के क्षेत्र में करियर बना सकते हैं.

सैलरी- बीएससी साइकोलॉजी करने के बाद चार लाख से नौ लाख रुपये प्रति वर्ष की जॉब मिल सकती है.

ये भी पढ़ें-

Sarkari naukri: छत्तीसगढ़ राज्य सेवा मुख्य परीक्षा के लिए करें आवेदन, लास्ट डेट नजदीक

Sarkari Naukri: एम्स में असिस्टेंट प्रोफेसर सहित कई पदों पर नौकरियां, जानें कितनी मिलेगी सैलरी

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज