• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • नर्स बनना नहीं होगा आसान, B.Sc नर्सिंग में ए‍डमिशन के लिए देनी होगी NEET परीक्षा

नर्स बनना नहीं होगा आसान, B.Sc नर्सिंग में ए‍डमिशन के लिए देनी होगी NEET परीक्षा

बीएससी नर्सिंग करने के लिए देनी होगी नीट (NEET) परीक्षा. . (प्रतीकात्मक)

बीएससी नर्सिंग करने के लिए देनी होगी नीट (NEET) परीक्षा. . (प्रतीकात्मक)

NEET Exam For B.Sc in Nursing Admission: गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्‍थ यूनिवर्सिटी नई दिल्‍ली की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है कि बीएससी नर्सिंग 2021 में दाखिला नीट परीक्षा 2021 में प्राप्‍त किए गए अंकों के आधार पर दिया जाएगा.

  • Share this:

    नई दिल्‍ली. कोरोना महामारी के दौरान सिर्फ डॉक्‍टरों ने ही नहीं बल्कि नर्स और नर्सिंग स्‍टाफ (Nursing Staff) ने दिन रात एक कर मरीजों की सेवा की है. कोरोना वॉरियर (Corona Warrior) के नाम से जाने गए ये नर्सिंग ऑफीसर और नर्स स्‍टाफ को देखकर अब आम युवा भी उनकी तरह मेडिकल फील्‍ड में जाकर सेवा करने का सपना देख रहे हैं. हालांकि स्‍टाफ नर्स (Staff Nurse) या क्‍लीनिकल स्‍पेशलिस्‍ट बनने की राह अब इतनी आसान नहीं रहेगी.

    हाल ही में केंद्र सरकार की ओर से बीएससी इन नर्सिंग (B.Sc in Nursing) कार्यक्रम के लिए संशोधित नियम और पाठ्यक्रम 2020 जारी किया गया  है. जिसमें नर्स बनने की योग्‍यता से लेकर सभी जरूरी बातों को रेखांकित किया गया है. हालांकि लंबे समय से नर्सिंग काउंसिल ऑफ इंडिया (Nursing Council Of India) और नर्सेज फेडरेशन (Nurses Federation) की ओर से बीएससी इन नर्सिंग में एंट्रेंस एग्‍जाम (Entrance Exam for Bsc in Nursing) को लेकर मांग की जा रही थी. जिसे केंद्रीय कॉलेजों में लागू कर दिया गया है.

    लिहाजा अब से केंद्र सरकार के नर्सिंग कॉलेजों या इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में बीएससी इन नर्सिंग की पढ़ाई करने के लिए नीट (NEET) की परीक्षा में प्राप्‍त अंकों के आधार पर दाखिला दिया जाएगा. गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्‍थ यूनिवर्सिटी नई दिल्‍ली की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है कि बीएससी नर्सिंग 2021 में दाखिला नीट परीक्षा 2021 में प्राप्‍त किए गए अंकों के आधार पर दिया जाएगा.

    जीजीएसआईपी यूनिवर्सिटी के इस नोटिस में कहा गया है कि शैक्षिक सत्र 2021-22 में बीएससी नर्सिंग में दाखिला देने के लिए विवि ने भारत सरकार के डीजीएचएस की पॉलिसी को अपना लिया है. अब यूनिवर्सिटी में नीट में प्राप्‍त अंकों के आधार पर छात्र दाखिला ले सकेंगे. वहीं एम्‍स (Aiims) में भी बीएससी नर्सिंग करने के लिए साइंस स्‍ट्रीम में फिजिक्‍स , कैमिस्‍ट्री और बायोलॉजी के साथ 12वीं करने के बाद नीट परीक्षा में हासिल हुए अंकों में आधार पर ही एडमिशन मिलेगा.

    इस बारे में ऑल इंडिया गवर्नमेंट नर्सेज फेडरेशन की सेक्रेटरी जनरल जी के खुराना कहती हैं कि नीट (NEET) को लेकर फेडरेशन लंबे समय से मांग कर रही है. फेडरेशन की मांग है कि सभी राज्‍यों में भी बीएससी नर्सिंग के लिए नीट को जरूरी कर दिया जाए. अभी भी प्राइवेट मेडिकल कॉलेज कहीं से भी छात्रों को नर्सिंग के लिए दाखिला दे देते हैं. जबकि बड़ी बात है कि बीएससी नर्सिंग करने के बाद छात्र एमएससी नर्सिंग के अलावा एमबीबीएस में भी दाखिला ले सकता है और एक डॉक्‍टर बन सकता है.

    खुराना कहती हैं कि एक स्‍टाफ नर्स को मानव शरीर की पूरी संरचना से लेकर मेडिकल टर्म की पूरी जानकारी होती है. यहां तक कि दवाएं प्रिस्‍क्राइब करने के अलावा एक नर्स सभी काम करती है या डॉक्‍टरों के साथ मदद करती है. वहीं दिन प्रतिदिन नई-नई बीमारियों के आने के कारण इलाज और भी जटिल होता जा रहा है. लिहाजा इनकी योग्‍यता को लेकर भी नियम कड़े होने चाहिए और नर्सों की गुणवत्‍ता पर फोकस करना चाहिए.

    वहीं सफदरजंग में सीनियर नर्स प्रेम कहती हैं कि सरकारी मेडिकल कॉलेजों में नीट को अनिवार्य करना अच्‍छा कदम है लेकिन ये सभी जगह होना चाहिए. साथ ही सभी राज्‍यों में भी नीट में प्राप्‍त अंकों के आधार पर ही बीएससी नर्सिंग में दाखिला दिया जाना चाहिए. इसके लिए अभी नर्सेज फेडरेशन और नर्सेज संगठन लगातार मांग कर रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज