MHRD का छात्रों को सुझाव, ‘एकलव्य ई लर्निंग रिसोर्स’ की लें मदद

MHRD का छात्रों को सुझाव, ‘एकलव्य ई लर्निंग रिसोर्स’ की लें मदद
मंत्री नेकहा, ‘एकलव्य’ के जरिये विविध प्रकार के पठन-पाठन संबंधी संसाधन की मदद ले सकते हैं.

एकलव्य लर्निंग रिसोर्स के जरिये माध्यमिक स्तर पर अंग्रेजी, हिन्दी, उर्दू, गुजराती, मराठी, ओडिया, मलयाली, तेलगू भाषा में पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं .

  • Share this:
कोविड-19 संकट के कारण उत्पन्न स्थिति के बीच सुचारू पठन-पाठन के लिये मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने छात्रों से ‘‘एकलव्य ई लर्निंग रिसोर्स’’ की मदद लेने का सुझाव दिया है.

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अपने ट्वीट में छात्रों से कहा, “छात्र, इस समय स्कूल नहीं जा पा रहे हैं . ऐसे में आप इस समय का सदुपयोग कुछ नया और रूचिकर सीखने में क्यों नहीं करते. आप ‘एकलव्य’ के जरिये विविध प्रकार के पठन-पाठन संबंधी संसाधन की मदद ले सकते हैं. ”


गौरतलब है कि ‘एकलव्य’ एक व्यापक मुक्त आनलाइन कोर्स (एमओओसी) है जिसके माध्यम से माध्यमिक, उच्च माध्यमिक और व्यवसायिक पाठ्यक्रम पेश किये जाते हैं . यह राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) की पहल है.



मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि ये पाठ्यक्रम न केवल स्कूल स्तर पर मुक्त एवं दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से पढ़ाई करने वालों बल्कि अकादमिक पाठ्यक्रम एवं कौशल विकास से जुड़े व्यवसायिक शिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक छात्रों के लिये भी मददगार होगा .

एकलव्य लर्निंग रिसोर्स के जरिये माध्यमिक स्तर पर अंग्रेजी, हिन्दी, उर्दू, गुजराती, मराठी, ओडिया, मलयाली, तेलगू भाषा में पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं . वहीं, उच्च माध्यमिक स्तर पर हिन्दी, अंग्रजी, संस्कृत, गणित, रसायन शास्त्र, जीव विज्ञान, इतिहास, भूगोल, अर्थशास्त्र, कारोबार अध्ययन, एकाउंटेंसी, गृह विज्ञान, मनोविज्ञान जैसे विषयों में पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं .

ये भी पढ़ें-
PGIMER: चेक करें MS और MD काउंसलिंग अलॉटमेंट लिस्ट और MLT एंट्रेंस लिस्ट
Final Year Exams 2020: HRD मिनिस्टर का स्टूडेंट्स के लिए खास मैसेज, कही ये बात

इसके अलावा व्यवसायिक शिक्षा श्रेणी में योग शिक्षा, ब्यूटी थेरेपी, मधुमक्खी पालन, पंचकर्म सहायक आदि के पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं .
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading