एमपी बोर्ड का निर्देश-12वीं के स्टूडेंट परीक्षा केंद्र पर एग्जाम से एक घंटे पहले पहुंचें

एमपी बोर्ड का निर्देश-12वीं के स्टूडेंट परीक्षा केंद्र पर एग्जाम से एक घंटे पहले पहुंचें
स्टूडेंट्स को परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा से एक घंटे पहले पहुंचना होगा.

परीक्षा केंद्र (Exam Center) में सभी स्टूडेंट्स की थर्मल स्कैंनिंग (Thermal scanning) की जाएगी. सभी स्टूडेंट्स को परीक्षा केंद्र में मास्क (Mask) पहनकर आना अनिवार्य है.

  • Share this:
भोपाल. माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल (Board of Secondary Education Bhopal) ने कक्षा 12वीं की 9 जून से शुरू हो रही परीक्षाओं को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए हैं. ये दिशा-निर्देश परीक्षा केंद्रों में पहुंचने को लेकर जारी किए गए है. कहा गया है कि थर्मल स्क्रीनिंग के चलते छात्र-छात्राओं को परीक्षा केंद्र पर एक घंटे पहले पहुंचना होगा. कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते परीक्षार्थियों की परीक्षा केंद्रों पर थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी. थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही छात्र-छात्राओं को परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया जाएगा. स्क्रीनिंग की प्रक्रिया के चलते छात्र-छात्राओं को एक घंटे पहले परीक्षा केंद्रों पर पहुंचना अनिवार्य होगा. सुबह 9 बजे की पाली में परीक्षा देने आने वाले परीक्षार्थियों को सुबह 8 बजे केंद्र में पहुंचना होगा. वहीं दोपहर 2 बजे की पाली में आने परीक्षार्थियों को 1 बजे परीक्षा केंद्र पर पहुंचना होगा. परीक्षा केंद्र में सुबह 8:45 और दोपहर 1:45 के बाद पहुंचने वाले किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

परीक्षा केंद्रों पर मास्क पहनना होगा अनिवार्य
एमपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षाएं 9 जून से शुरू हो रही है. 9 जून से शुरू होने वाली परीक्षाओं में परीक्षार्थियों को केंद्र पर मास्क पहनना जरूरी होगा. परीक्षार्थियों को अपने नाक और मुंह को कपड़े (मास्क), रुमाल से ढंक कर ही परीक्षा केंद्रों में आना होगा. फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन भी करना अनिवार्य होगा.

प्रेक्टिकल परीक्षाएं छुट्टियों के दिनों में हो सकती हैं
स्वाध्यायी (प्राइवेट) परीक्षार्थियों की प्रायोगिक परीक्षाएं आवंटित परीक्षा केंद्र में ही आयोजित की जाएंगी. 9 से 16 जून के बीच में ही प्रैक्टिकल एग्जाम भी आयोजित होंगे. प्रेक्टिकल परीक्षाओं की तारीख और समय के लिए परीक्षार्थी अपने प्राचार्य, केंद्र अध्यक्ष से भी संपर्क कर सकते हैं. एमपी बोर्ड ने अपने निर्देश में कहा है कि अगर जरूरत हुई तो प्रेक्टिकल परीक्षाएं छुट्टियों के दिनों में भी आयोजित की जा सकती हैं.



मूक बधिर दिव्यांग छात्रों की परीक्षाएं एक ही पाली में
कक्षा 12वीं की परीक्षा देने वाले दृष्टिहीन, मूकबधिर, दिव्यांग (नियमित/ और स्वाध्याय) छात्रों की परीक्षाएं 9 जून से 16 जून के बीच आयोजित होगी. मूक बधिर, दृष्टिहीन, दिव्यांग (नियमित /स्वाध्यायी) छात्रों की परीक्षाएं एक ही पाली में आयोजित होंगी. दोपहर 2 से 5 के बीच इन सभी की परीक्षाएं आयोजित होंगी.

वाणिज्य संकाय को छोड़ सभी विषयों में नियमित और प्राइवेट परीक्षार्थियों के लिए पेपर 100 नंबर  का होगा
एमपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में केवल वाणिज्य संकाय (कॉमर्स स्ट्रीम) के विषयों को छोड़कर शेष विषयों में नियमित और स्वाध्याय (प्राइवेट) परीक्षार्थियों के लिए प्रश्न पत्र 100 अंकों का होगा. नियमित छात्रों को 100 अंक के प्राप्तांक का 80% अधिभार और स्वाध्यायी (प्राइवेट) छात्रों को 100 अंकों के प्राप्तांक ही अंक सूची (मार्कशीट) में प्रदर्शित किए जाएंगे.

12वीं की परीक्षा 9 जून से होगी
एमपी बोर्ड की कक्षा 12वीं की परीक्षाएं 9 जून से 16 जून तक कराएगा. ये परीक्षा दो पालियों में आयोजित की जाएगी. लॉकडाउन में दूसरे जिलों में फंसे परीक्षार्थियों को उसी जिला मुख्यालय से परीक्षा देने को लेकर एमपी बोर्ड ने छात्रों को सुविधा दी है. विस्थापित परीक्षार्थी विशेष परिस्थितियों में वर्तमान में जिस भी जिले में रह रहे हैं, उसी जिले से परीक्षा में शामिल हो सकेंगे. परीक्षार्थियों को जिला बदलने की स्थिति में नवीन चयनित जिले के जिला मुख्यालय पर परीक्षा केंद्र आवंटित किया जाएगा. जिले के भीतर ही परीक्षा केंद्र बदलने को मान्य नहीं किया जाएगा. बता दें कि कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं लॉकडाउन के चलते 30 मार्च से स्थगित थी. 12वीं की परीक्षाओं को लेकर तारीखों का ऐलान हो चुका है. वहीं दसवीं के स्थगित पेपर न लेने की घोषणा हो चुकी है.

ये भी पढ़ें- रांची यूनिवर्सिटी 80 हजार स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा के अगले सेमेस्टर में करेगी प्रमोट!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज