Home /News /career /

मैथ में 33 प्रतिशत से कम अंक लाने वाले छात्रों के लिए स्टडी कैंप लगाएगा एजुकेशन बोर्ड

मैथ में 33 प्रतिशत से कम अंक लाने वाले छात्रों के लिए स्टडी कैंप लगाएगा एजुकेशन बोर्ड

स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) ने इस बारे में सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं. आदेश में कहा गया है कि तीस फीसदी से कम रिजल्ट (Result) वाले स्कूलों (School) के शिक्षकों पर कार्रवाई हो सकती है.

स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) ने इस बारे में सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं. आदेश में कहा गया है कि तीस फीसदी से कम रिजल्ट (Result) वाले स्कूलों (School) के शिक्षकों पर कार्रवाई हो सकती है.

स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) ने इस बारे में सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं. आदेश में कहा गया है कि तीस फीसदी से कम रिजल्ट (Result) वाले स्कूलों (School) के शिक्षकों पर कार्रवाई हो सकती है.

    भोपाल. मध्यप्रदेश शिक्षा मंडल भोपाल ने दसवीं में मैथ में कमजोर स्टूडेंट्स के लिए नई पहल की है. बोर्ड ने इस बार तय किया है कि जिन दसवीं के जिन स्टूडेंट्स के मैथ में सौ में 33 से कम नंबर आएंगे उनके लिए शिक्षा मंडल स्टडी कैंप लगाएगा.

    स्कूल शिक्षा विभाग ने सोमवार को इस बारे में सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं. संचालक लोक शिक्षण केके द्विवेदी द्वारा जारी निर्देश में कहा गया है कि मिशन 1000 के तहत परीक्षा परिणामों में सुधार के लिए बुधवार शाम 4:30 बजे एडीपीसी एवं मिशन के तहत चुने गए नोडल प्रिंसिपलों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की जाएगी. जिन स्कूलों में छमाही परीक्षा के नतीजे 33 फीसदी से कम आए हैं, उन 45 जिलों के 250 प्राचार्यों से भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान अधिकारी बातचीत करेंगे.

    30% से कम रिजल्ट वाले स्कूलों की होगी समीक्षा
    इधर, तीस फीसदी से कम रिजल्ट वाले स्कूलों के शिक्षकों पर स्कूल शिक्षा विभाग फिर कार्रवाई कर सकता है. वजह यह है कि एक फरवरी को जिला शिक्षा अधिकारी बैठक ले रहे हैं. बैठक के लिए बनाए गए एजेंडा में इसे शामिल किया गया है.

    MP, MP Education board, study camp, students, percent marks, Math, मैथ, 33 प्रतिशत से अंक, छात्र, स्टडी कैंप, एजुकेशन बोर्ड, मध्य प्रदेश शिक्षा निदेशालय भोपाल, मध्य प्रदेश, कमलनाथ सरकार, Kamal Nath government
    तीस फीसदी से कम रिजल्ट वाले स्कूलों के शिक्षकों पर स्कूल शिक्षा विभाग फिर कार्रवाई कर सकता है.


    कैंप में मैथ कौन पढ़ाएगा
    इसके लिए शिक्षा निदेशालय सभी जिलों के उत्कृष्ट स्कूलों और मैथ के बेहतर टीचरों की जिला स्तर पर लिस्ट बनाएगा, जिनको कैंप में बच्चों को मैथ पढ़ाने के लिए भेजा जाएगा.

    आदेश का बच्चों पर पड़ सकता है प्रतिकूल प्रभाव
    स्कूली शिक्षा के कई जानकार यह भी कहते हैं कि सरकार का यह आदेश यहां तक तो सही है कि स्कूलों में कैंप लगाकर बच्चों को जागरूक किया जाएगा. लेकिन जिन स्कूलों के बच्चों के छमाही की परीक्षा में 33 नंबर से कम अंक आएंगे उन स्कूलों पर कार्रवाई वाली बात से स्कूल के प्रिंसिपल और टीचरों में डर बैठ सकता है. इसका असर यह पड़ेगा कि टीचर बच्चों को 33 अंक से कम नंबर देंगे ही नहीं. ऐसे में बच्चों के भविष्य साथ खिलवाड़ होगा.

    ये भी पढ़ें- 
    Government job 2020: यहां निकली 9635 पदों पर टीचरों की वेकैंसी, 11 फरवरी के पहले करें आवेदनundefined

    Tags: Kamalnath, MP education department, Private School, Teacher, Uber-commissioned study

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर