आनंदीबेन बनीं UP की नई राज्‍यपाल, ये होंगी जिम्‍मेदारियां

राज्यपाल किसी दोषी की सजा में बदलाव या फैसले पर रोक लगा सकता है, जानें और क्‍या हैं राज्‍यपाल के पास अधिकार.

News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 12:04 PM IST
आनंदीबेन बनीं UP की नई राज्‍यपाल, ये होंगी जिम्‍मेदारियां
फाइल फोटो
News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 12:04 PM IST
गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री और मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल अब उत्तर प्रदेश की 25वीं राज्यपाल बन गई हैं. उन्हें देश के सबसे बड़े राज्य की पहली महिला राज्यपाल बनने का गौरव हासिल हुआ है. अभी कुछ देर पहले ही उन्‍होंने लखनऊ स्‍थित राजभवन पहुंची और यहां उन्‍होंने इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश जस्टिस गोविंद माथुर के समक्ष शपथ ग्रहण की. इस मौके पर  जानते हैं कि एक राज्‍यपाल के पास क्‍या- क्‍या शक्‍तियां होती हैं.

-विधानसभा में पास हुए बिल राज्यपाल की सहमति के बिना कानून नहीं बन सकते हैं.

- राज्य के महाधिवक्ता, लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष और अन्य सदस्यों को भी राज्यपाल द्वारा नियुक्त किया जाता है.

-राष्ट्रपति राज्य के हाईकोर्ट के न्यायाधीशों की नियुक्ति करते वक्त उस राज्य के राज्यपाल से सलाह लेते हैं.

- राज्यपाल राज्य के सभी विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति होते हैं.

- राज्यपाल की अनुमति के बिना धन विधेयक को विधानसभा में प्रस्तुत नहीं किया जा सकता.

- राज्यपाल के पास कई विधायी और वित्तीय शक्तियां प्राप्त हैं.
Loading...

- राज्यपाल किसी दोषी की सजा में बदलाव या फैसले पर रोक लगा सकता है. वे  अपने विवेक के आधार पर कुछ स्थितियों में बिना मंत्रियों की सलाह के काम करता है.

ये भी पढ़ें:

OMG! पबजी की लत छुड़ाने को लड़कियों ने किया ऐसा काम

क्विज कॉम्पिटिशन जीतने वाले बच्चों को ISRO देगा ये खास तोहफा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 29, 2019, 12:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...