लॉ यून‍िवर्स‍िटी के छात्रों ने की फंसे मजदूरों की मदद, घर पहुंचाने को अपने खर्च पर की उड़ानों की व्‍यवस्‍था

लॉ यून‍िवर्स‍िटी के छात्रों ने की फंसे मजदूरों की मदद, घर पहुंचाने को अपने खर्च पर की उड़ानों की व्‍यवस्‍था
लॉ के छात्रों ने मजदूरों की मदद के ल‍िये उठाया बड़ा कदम.

छत्तीसगढ़ के 13 जिलों के कुल 274 फंसे श्रमिकों को गुरुवार को बेंगलुरू से उड़ानों से रवाना किया जा रहा है.

  • Share this:
बेंगलुरु: कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के कारण देशभर में अलग-अलग राज्‍यों में मजदूर फंसे हुए हैं. ऐसे में उनकी मदद करने के ल‍िये लॉ यून‍िवर्स‍िटी के छात्र आगे आए हैं और उन्‍होंने मजदूरों के ल‍िये उड़ानों की व्‍यवस्‍था की है. ये मजदूर छत्‍तीसगढ़ के रहने वाले हैं. बेंगलुरु नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी और नेशनल एकेडमी ऑफ लीगल स्टडीज एंड रिसर्च (NALSAR), हैदराबाद के छात्रों और पूर्व छात्रों ने छत्तीसगढ़ के फंसे श्रमिकों के लिए दो उड़ानों की व्यवस्था की है, जो गुरुवार और शुक्रवार को यहां रायपुर में उतरेंगे. छत्तीसगढ़ के 13 जिलों के कुल 274 फंसे श्रमिकों को गुरुवार को बेंगलुरू से उड़ानों से रवाना किया जाएगा.

कोविड-19 से प्रभाव‍ित लोगों के ल‍िये चल रहे राहत प्रयासों में योगदान देने के ल‍िये नेशनल एकेडमी ऑफ लीगल स्टडीज एंड रिसर्च (NALSAR), हैदराबाद के छात्रों ने यह कदम उठाया है. हमने NALSAR, कई सिविल सोसाइटी संगठनों और लोगों के साथ म‍िलकर पौष्टिक भोजन, पानी, स्वच्छता किट और यात्रा की व्यवस्था की है, जो अपने घर जाना चाहते हैं.

बेंगलुरु और हैदराबाद लॉ यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्रों के सहयोग से, कुल 100 और 174 मजदूर विशेष विमान से रायपुर पहुंचेंगे. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट किया क‍ि हम इस सहयोग के लिए आभारी हैं. सभी मजदूरों को उनके ज‍िलों के कोरोनटाइन सेंटर में पहुंचाया जाएगा.



इस बीच, रायपुर जिला प्रशासन उन्हें रायपुर हवाई अड्डे से उनके गृह जिलों तक पहुंचाने के ल‍िये बसों की व्यवस्था कर रहा है. रायपुर नगर निगम के आयुक्‍त सौरभ कुमार ने ह‍िन्‍दुस्‍तान टाइम्‍स को बताया क‍ि हम सीएम भूपेश बघेल के निर्देशानुसार मजदूरों के गृह जिलों में स्वास्थ्य जांच, परिवहन और संगरोध सुविधाओं की व्यवस्था कर रहे हैं.
यह भी पढ़ें: 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज