नौकरी की बात : महामारी में साइकोमेट्रिक्स टेस्ट और वर्चुअल इंटरव्यू की ट्रिक से पक्की करें अपनी जॉब

डिजिटाइजेशन भविष्य है और सुविधाओं को आगे बढ़ा रहा है. इससे अनगिनत मौके मिलते हैं सो अलग.

डिजिटाइजेशन भविष्य है और सुविधाओं को आगे बढ़ा रहा है. इससे अनगिनत मौके मिलते हैं सो अलग.

नौकरी की बात (Naukari Ki Bat) सीरिज में ब्लू डार्ट (Blue Dart) के सीएचआरओ राजेंद्र घाग (Rajendra Ghag ) ने लॉजिस्टिक्स में बताए नौकरियों के अवसर

  • Share this:

नई दिल्ली. कोविड-19 (Covid-19) की दूसरी लहर मंद पड़ने के संकेत है. लेकिन कई राज्यों में अभी भी लॉकडाउन जारी है. लिहाजा, ऐसे दौर में नौकरियां कैसे पाई जाएं और छंटनी से कैसे बचा जा सकता है. इसके लिए युवा पाठकों के लिए न्यूज18 ने देश के टॉप एचआर लीडर (HR Leader) के साथ खास सीरिज "नौकरी की बात" (Naukari ki bat) शुरू की है.

"नौकरी की बात" (Naukari Ki Bat) सीरिज में इस बार ब्लू डार्ट (Blue Dart) के सीएचआरओ राजेंद्र घाग (Rajendra Ghag ) ने जॉब्स के लिए अपने मंत्र शेयर किए हैं. उन्होंने कहा कि 'डिजिटाइजेशन भविष्य है और सुविधाओं को आगे बढ़ा रहा है. इससे अनगिनत मौके मिलते हैं सो अलग. आवेदक को पहले ऑनलाइन देखा जाएगा. इसमें साइकोमेट्रिक्स के सर्वश्रेष्ठ तरीके अपनाए जाएंगे. इसके बाद एक वर्चुअल इंटरव्यू होगा.' उनके मुताबिक एक-दो प्रश्न ऐसे होंगे जिनके जरिए यह जानने की कोशिश की जाएगी कि आवेदक ने मुश्किल स्थितियों का सामना कैसे किया. इससे वे मुश्किल स्थितियों से निपटने की आवेदक की योग्यता और मानसिक स्वास्थ्य का अनुमान लगाना चाहेंगे.

नौकरी की बात : अगले पांच साल में इस क्षेत्र में होंगे 7.5 करोड़ जॉब्स, बस करनी होगी यह तैयारी


सवाल : सबसे पहले हमें बताइए कि महामारी के दौर में नौकरी गंवाने वाले लोग क्या करें?

जवाब : मैं हमेशा हर किसी को कॅरियर के मध्य में पहुंच चुके पेशेवरों को और जो अग्रणी स्थिति में हैं उन्हें भी प्रेरित करता हूं​ ​कि अपने कौशल और प्रतिभा को लगातार बेहतर करें. यह हमेशा उपयोगी होगा. महामारी के दौरान नौकरी गंवाने वालों के लिए स्किल काम आएगी. व्यक्ति के लाभ के लिए ऑनलाइन संसाधनों का उपयोग करना आवेदक की सोच के बारे में काफी कुछ कहता है. इससे पता चलता है कि आवेदक अपने कौशल को उन्नत करने के लिए सक्रिय रहता है. इससे इंटरव्यू करने वाले को लगता है कि आवेदक अपने पास उपलब्ध संसाधनों से अपना कौशल बेहतर करने के लिए दृढ़ संकल्प है. ब्लू डार्ट भावी प्रतिभाओं की प्रशंसा करता है और उन्हें प्रोत्साहित करता है साथ ही अपने कर्मचारियों को लगातार कौशल उन्नत करने के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित करता है.

यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : दस साल में 100 करोड़ नौकरियों की स्किल बदल जाएंगी, इसलिए सीखें नई स्किल और करें रि-स्किलिंग



Rajendra Ghag
ब्लू डार्ट के सीएचआरओ राजेंद्र घाग (Rajendra Ghag )


सवाल : जब मार्केट धीरे-धीरे खुल रहा है तो कहां और कैसे युवाओं को नौकरी की तलाश करनी चाहिए?

जवाब : डिजिटाइजेशन भविष्य है और सुविधाओं को आगे बढ़ा रहा है. इससे अनगिनत मौके मिलते हैं सो अलग. इसलिए, यह एक बुद्धिमान और सोचा-समझा निर्णय है. बाजार खुल रहे हैं लेकिन महामारी की दूसरी लहर के कारण हर तरह की नौकरियों का मामला थोड़ा पीछे चला गया है. हालांकि, महामारी ने अगर हमें कुछ सिखाया है, तो यह वर्चुअल वास्तविकता का महत्व है जो डिजिटाइजेशन और प्रौद्योगिकी से समर्थित है. नौकरी के लिए आवेदन करना चाहने वाले व्यक्तियों को ऑनलाइन आवेदन करना चाहिए और वहां उपलब्ध संसाधनों का उपयोग अपने फायदे के लिए करना चाहिए.

यह भी पढ़ें : नाैकरी की बात : रिक्रूटमेंट में अब ऑटोमेशन का प्रयोग इसलिए रिज्यूमे में सही स्किल सेट लिखने से ज्यादा मिलेंगे नौकरी के मौके


सवाल : क्या आपको लगता है कि कोविड-19 के बाद भर्ती प्रक्रिया में बदलाव होंगे?

जवाब : प्रक्रिया मोटे तौर पर वही रहेगी, आवेदक को पहले ऑनलाइन देखा जाएगा. इसमें साइकोमेट्रिक्स के सर्वश्रेष्ठ तरीके अपनाए जाएंगे. इसके बाद एक वर्चुअल इंटरव्यू होगा. मेरी राय में एक-दो प्रश्न ऐसे होंगे जिनके जरिए यह जानने की कोशिश की जाएगी कि आवेदक ने मुश्किल स्थितियों का सामना कैसे किया. इससे वे मुश्किल स्थितियों से निपटने की आवेदक की योग्यता और मानसिक स्वास्थ्य का अनुमान लगाना चाहेंगे. नई नौकरी के लिए आवेदन करने वालों के लिए मेरी सलाह वही होगी जो महामारी से पहले थी - स्पष्ट और आत्मविश्वास से भरे रहिए. व्यक्ति के काम में नैतिकता, दृष्टिकोण और ईमानदारी पर अब खास फोकस है और यह रेज्यूम में उल्लिखित बुनियादी विवरण के अलावा है.

यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : आवेदन करने से पहले जानें कंपनी आपको पेशेवर रूप से बढ़ने में कैसे मदद करेगी


सवाल : आज के हालात में किस तरह के नए रोज़गार के अवसर मिलेंगे और करियर का क्या रूप होगा? अगर आने वाले समय में काफी बदलाव होंगे तो?

जवाब : नौकरी के मौके दफ्तर में बाबू बनने से लेकर अफसर बनने के लिए पैदा होते रहते हैं. ई-कामर्स और ऑनलाइन खरीदारी में वृद्धि के मद्देनजर एफएमसीजी और लॉजिस्टिक्स जैसे क्षेत्र बाबुओं का काम बना रहेगा और इसलिए प्रतिभाशाली लोगों की नौकरी बची रहेगी. दूसरी ओर अफसर की नौकरी भिन्न उद्योग क्षेत्रों में मिलेगी ही. जैसा मैंने पहले कहा है, नई नौकरी के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति को सीखने और नए कौशल जोड़ने में निवेश करना चाहिए.

यह भी पढ़ें :  नौकरी की बात : फोन या कम्प्यूटर की बजाय नौकरी खोजने के लिए एम्प्लायर्स से ईमेल व Linkdin पर करें सीधे बात


सवाल : वर्तमान समय में जब आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और डाटा का महत्व बहुत बढ़ गया है तब कोविड-19 के कारण भविष्य के लिए किन बदलावों का पूर्वानुमान हैं?

जवाब : महामारी के कारण सबसे बड़ा नुकसान प्रौद्योगिकी और डिजिटाइजेशन को हुआ. ब्लूडार्ट जैसे उद्योग के अग्रणी संस्थान इन व्यवस्थाओं और प्रक्रियाओं को बेहतर करने तथा इनका लाभ उठाने की दिशा में काम करते रहे हैं ताकि मनुष्य और तकनीक के मेल का सर्वश्रेष्ठ लाभ उठाया जा सके. एआईएमएल और बिग डेटा संस्थानों को हल्के ऑपरेटर बनने में सहायता करते हैं. इससे ये कम समय में अच्छी सेवा देने का स्तर प्राप्त कर सकते हैं. मेरे लिए, यह परिवर्तन एक ऐसी जगह के बारे में बताता है जहां गुणवत्ता से समझौता किए बगैर तेज परिणाम की उम्मीद की जा सकती है. उन्नत प्रौद्योगिकी प्रणाली के उपयोग से व्यवस्था ऐसी हो जाती है कि केवल सकारात्मक परिणाम प्राप्त होते हैं. इन प्रक्रियाओं और व्यवस्थाओं को सीखने से आवेदक के कौशल बेहतर ही होंगे और इनके साथ संस्थान में उनकी मांग बहुत बढ़ जाएगी. इन व्यवस्थाओं की बुनियादी समझ की आवश्यकता हर तरह के काम में होती है क्योंकि ज्यादातर सेवा उद्योग उपभोक्ता के साथ अंतिम मील के इंटरफ़ेस से संबंधित डेटा प्राप्त करने के लिए टेक्नालॉजी का उपयोग करते हैं.

यह भी पढ़ें : Success Story : कचरा बीनने वालों के साथ काम कर हैंडबैग बनाए, आज 100 करोड़ का टर्नओवर 

सवाल : क्या आप हमारे पाठकों को बता सकते हैं कि इस क्षेत्र में नौकरी की कितनी संभावनाएं हैं और भविष्य का परिदृश्य क्या होगा?

जवाब : इस सवाल का जवाब भूमिका और जिम्मेदारियों के अनुसार भिन्न होता है. बहुत कम के लिए भी स्नातक की डिग्री आवश्यक है. खासकर अफसर जैसी कुछ नौकरियों के लिए. मैनेजर वाली भूमिकाओं के लिए, स्नातकोत्तर डिग्री हो तो उम्मीदवारों को प्रतिस्पर्धा में बढ़त मिलती है. हालांकि, प्रत्येक नौकरी की जरूरतों के अनुसार इन योग्यताओं और संबंधित कौशल के अलावा ब्लू डार्ट को गर्व है कि उसके कर्मचारी काम करने, सीखने और अनुकूल होने के लिए प्रति उत्सुक रवैया रखते हैं. ब्लू डार्ट में नौकरी चाहने वालों को चाहिए कि उनमें काम से लगाव हो, कर सकता हूं वाला रुख हो, पहली बार सही करने का उत्साह और सबसे महत्वपूर्ण बात, एक साथ, एक टीम के रूप में काम करना आता हो. लॉजिस्टिक उद्योग बहुत बड़ा है और व्यक्तियों को यह जो मौके देता है वे विविधतापूर्ण हैं. उद्योग में हर किसी के लिए जगह है; यह प्रत्येक व्यक्ति पर निर्भर है कि वह उस मौके का लाभ उठाए और उसे ले भागे.

यह भी पढ़ें :  ड्रीम कार खरीद रहे हैं तो इन पांच बातों का जरूर ध्यान रखें, कीमतों में होगा फायदा 

सवाल : अपनी कंपनी के हाइरिंग प्रोसेस के बारें में बताएं?

जवाब : हमारे व्यवस्थित कैरियर पृष्ठ पर तमाम सूचनाएं हैं जिसकी आवश्यकता संस्थान में किसी पद पर काम करने के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति की होगी. कैरियर पृष्ठ पर पूरे भारत में हमारी एचआर टीम का संपर्क विवरण है. इसमें यह जानकारी भी है कि ब्लू डार्ट क्यों एक पसंदीदा नियोक्ता है. इससे हमें ज्यादा महिलाओं को आवेदन करने के लिए प्रेरित करने में मदद मिलती है. इसका मकसद संस्थान में लैंगिग विविधता बढ़ाना भी है.

यह भी पढ़ें : FD रेट्स में इस बैंक ने किया बदलाव, आप भी ज्यादा ब्याज दर का उठा सकते हैं फायदा, जानें सबकुछ

सवाल : आपकी कंपनी में और इस सेक्‍टर में विकास की क्या संभावनाएं हैं?

जवाब : लॉजिस्टिक्स उद्योग उन लोगों को पर्याप्त मौके देता है जो इसका लाभ उठाना जानते हैं. उद्योग का महत्व तब लोगों के सामने आया जब महामारी के कारण हम जीवन रक्षक वस्तुओं और ऐसी दूसरी चीजों की समय पर डिलीवरी के मामलों से निपट रहे थे. इस चुनौतीपूर्ण समय में बहुत कम उद्योग बचे रह पाए हैं और सरकार की सहायता कर रहे हैं. लॉजिस्टिक्स उद्योग में अपार संभावनाएं हैं. ब्लू डार्ट लॉजिस्टिक्स उद्योग की इस गुणवत्ता को दर्शाता है हम भी अपने साथ काम करने वालों को पर्याप्त मौके मुहैया कराते हैं. हमारे सहकर्मी और टीम को प्रेरित किया जाता है कि वे काम की जगह पर अपना सर्वश्रेष्ठ रचनात्मक पेश करे. ब्लू डार्ट इस प्रतिभा को बहुत ही सही और वाजिब तरीके से संचालित करता है और उसे प्रतिभा के अनुसार पहचाना व पुरस्कृत किया जाता है. इस कारण से हमारे संस्थान का अच्छा खासा हिस्सा पहले दिन से हमारे साथ काम कर रहा है. इनमें हमारे प्रबंध निदेशक, बलफोर मैनुअल के साथ वरिष्ठ प्रबंधन के का सदस्य भी शामिल हैं. ये लोग कंपनी से शुरू में ही जुड़े थे और नीचे से बढ़ते हुए यहां तक पहुंचे हैं.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज