• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • नौकरी की बात : पसंदीदा कंपनियों में काम करने के लिए गूगल अलर्ट लगाएं, जानें जॉब्स पाने के ऐसे ही बेहतरीन तरीके

नौकरी की बात : पसंदीदा कंपनियों में काम करने के लिए गूगल अलर्ट लगाएं, जानें जॉब्स पाने के ऐसे ही बेहतरीन तरीके

वित्तीय संकट में हैं तो जो अवसर पहले मिले, उसी को स्वीकार कर लें.

वित्तीय संकट में हैं तो जो अवसर पहले मिले, उसी को स्वीकार कर लें.

नौकरी की बात (Naukari Ki Bat) सीरिज में Truecaller India की एचआर हेड हुमेरा इफ्फाथ ( Humera Iffath) बता रही हैं कोरोना काल में नौकरियों के अवसर खोजने की तरीके

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोनावायरस महामारी (Covid-19) की दूसरी लहर से देश धीरे-धीरे उबरने लगा है. हालांकि अभी भी कई राज्यों में लॉकडाउन है, फिर भी कंपनियां में नई भर्तियों के दौर शुरू हो रहे हैं. अब भर्ती के तरीके काफी बदल गए हैं. लिहाजा, न्यूज 18 ने अपने पाठकों के लिए नौकरी की बात (Naukari Ki Bat) सीरिज शुरू की है.
इस बार नौकरी की बात सीरिज में Truecaller India की एचआर हेड हुमेरा इफ्फाथ ( Humera Iffath) ने न्यूज18 के पाठकों के लिए कोरोना काल में नौकरियों के अवसर खोजने की तरीके शेयर किए हैं. उन्होंने नौकरियों के लिए जरूरी टिप्स दिए. उन्होंने कहा कि एनालिटिक्स, डिजिटल और इसी तरह के अन्य दायित्वों में अपार संभावनाएं हैं. कंपनी ऐसे एप्स व टूल्स तलाश रही हैं, जो उनके कर्मचारियों के अनुभव एवं डेटा एनालिटिक्स को आसान बना सकें. प्रस्तुत है उनसे बातचीत के प्रमुख अंश...
यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : वीडियो देखकर खाना बनाना सीख सकते हैं लेकिन स्किल में महारत हासिल करने के लिए मेंटर जरूरी


naukari ki bat
Truecaller India की एचआर हेड हुमेरा इफ्फाथ ( Humera Iffath)


  • आज के हालात में किस तरह के नए रोजगार के अवसर मिलेंगे और करियर का क्या रूप होगा? अगर आने वाले समय में काफी बदलाव होंगे तो?

    लिंक्डइन एवं वर्ल्ड इकॉनॉमिक फोरम के अनुसार, 10 उभरते हुए करियर, जो काम के भविष्य का निर्धारण करेंगे
    आर्टिफिशियल इंटैलिजेंस स्पेशलिस्ट
    रोबोटिक्स इंजीनियरिंग
    डेटा साईंटिस्ट
    फुल स्टैक इंजीनियरिंग
    साईट रिलायबिलिटी इंजीनियर
    कस्टमर सक्सेस स्पेशलिस्ट
    सेल्स डेवलपमेंट रिप्रेज़ेंटेटिव
    डेटा इंजीनियरिंग
    बिहैवियोरल हैल्थ टेक्नीशियन
    साइबरसिक्योरिटी स्पेशलिस्ट
    एनालिटिक्स

  • जिन लोगों ने महामारी के दौरान अपनी नौकरी खो दी है, उन्हें क्या करना चाहिए?

    पहले तो घबराना बंद करें. यदि आपकी नौकरी चली गई है, तो यह व्यक्तिगत आपकी बात नहीं है, यह बाजार की हालत है और कंपनियां भी, यदि सीधे बाजार पर निर्भर हैं, तो वो अपना अस्तित्व बनाए रखने के लिए संघर्ष कर रही हैं. बाजार की स्थिति देखते रहें, नौकरी के बाजार से अवगत रहें, अपने ज्यादा से ज्यादा संपर्कों/नेटवर्क से जुड़े रहें, अपने प्रोफाइल को विस्तृत रूप से प्रदर्शित करने के लिए पहुंच का विस्तार करें. इस समय का इस्तेमाल मंथन के लिए करें. यदि आपको नौकरी की तत्काल जरूरत है या आप वित्तीय संकट में हैं, तो नौकरी खोजने वाले के रूप में आप जो अवसर पहले मिले, उसी को स्वीकार कर लें. या यदि आप वित्तीय रूप से मजबूत हैं और इंतजार कर सकते हैं, तो आपको यह देखना व सोचना चाहिए कि आप आगे क्या करना चाहते हैं. नौकरी के बाजार में आई मंदी का इस्तेमाल यह जानने के लिए करें कि आप कहां काम करना चाहते हैं और किस तरह के काम की तलाश कर रहे हैं.

  • यह भी पढ़ें :  नौकरी की बात : जॉब्स तलाशने के लिए हैशटैग का इस्तेमाल करें, जानें ऐसी ही जरूरी टिप्स

  • क्या उन्हें नई स्किल विकसित करने और बढ़ाने की आवश्यकता है?

    आनन-फानन में ऐसा न करें, अपनी स्थिति/भूमिका का मूल्यांकन करें और देखें कि आप करियर के किस चरण में हैं. उसके बाद यदि आपको लगे कि रीस्किलिंग, अपस्किलिंग या न्यू स्किल की जरूरत है, तो जरूर करें, आप यह नौकरी का अवसर तलाशते हुए भी कर सकते हैं. नौकरी तलाशना बंद कर नए कौशल न सीखें. वैसे, यह इस बात पर निर्भर है कि वित्तीय रूप से आप कितने मजबूत हैं और क्या आप अवकाश लेने और फिर से काम करने के लिए तैयार हैं. अपने कौशल व अनुभव की सूची बनाकर अपनी योग्यताएं बढ़ाने, नौकरियों का विश्लेषण करने के लिए उत्तम है. उसके बाद देखें कि क्या आपमें वह आवश्यक कौशल है, क्या आपमें वह है और आपने कुछ सालों से उसका इस्तेमाल नहीं किया है या कहीं आपमें उस कौशल की कमी तो नहीं है. इस जानकारी का इस्तेमाल कर निर्णय लें कि आपको किस कला को निखारना है ताकि आप बेहतर अभ्यर्थी बनें और नौकरी का बाजार फौरन आपकी भर्ती कर ले.

  • महामारी के बाद ऑनलाइन अनेक कोर्स चल रहे हैं? क्या युवाओं को ये कोर्स करने चाहिए और क्या कंपनियां इन कोर्सों को तरजीह या वरीयता देंगी?

    हां, बहुत सारे ऑनलाईन कोर्स हैं, लेकिन प्रतिष्ठित कार्यक्रम एवं कौशल देखें, जिससे आपका वर्तमान ज्ञान बढ़े और आप मौजूदा स्तर से बेहतर बनें. आपको यह देखना बहुत जरूरी है कि नौकरी खो देने के बाद आप अपने समय का किस प्रकार इस्तेमाल कर रहे हैं.

  • जब मार्केट धीरे-धीरे खुल रहा है तो कहां और कैसे युवाओं को नौकरी की तलाश करनी चाहिए?

    आप किस उद्योग में काम कर रहे हैं और इंजीनियरिंग या नॉन-इंजीनियरिंग, किस प्रकार का दायित्व सम्हाल रहे हैं, इस आधार पर समर्पित जॉब पोर्टल हैं, जहां पर आप अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. ऐसे स्पेशल जॉब पोर्टल हैं, जो नए युग के एवं स्टार्टअप जॉब प्रोफाइल की जरूरतें पूरी करते हैं.

  • क्या आपको लगता है कि COVID-19 के बाद भर्ती प्रक्रिया में कोई बदलाव होगा?

    वर्चुअल नियुक्ति, भर्ती करने व प्रक्रिया को बढ़ाते रहने का बेहतर तरीका है. शुरूआत में इसमें दिक्कत आ सकती है, लेकिन प्रतिभाओं की भर्ती करने वाले प्रोफेशनल इस चुनौती के लिए तैयार हैं. फोन पर होने वाली प्रारंभिक स्क्रीनिंग वैसी ही रहेगी, लेकिन साक्षात्कार ऑफलाइन होने की बजाय, ऑनलाइन होने लगा है. कई कंपनियां अभ्यर्थियों को जल्द से जल्द वीडियो इंटरव्यू का विकल्प देने वाली हैं. स्थान का विवरण अब उतना महत्वपूर्ण नहीं रह गया क्योंकि ज्यादातर कंपनियां वर्क फ्रॉम होम मॉडल या हाइब्रिड मॉडल में काम कर रही हैं.

  • यह भी पढ़ें :  इनकम टैक्स अलर्ट : फटाफट कर लें यह काम, नहीं तो रूक जाएगी आपकी सैलरी

  • इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें?

    नई नौकरियों की तलाश सदैव चुनौतीपूर्ण रही है. जब अर्थव्यवस्था कमजोर होती है, तो व्यक्ति पर तनाव व घबराहट भी उतनी ही ज्यादा होती है. चलिए हम मौजूदा अर्थव्यवस्था और नौकरी बाजार की वास्तविक स्थिति से शुरुआत करते हैं. कोरोनावायरस ने वैश्विक अर्थव्यवस्था को अस्थायी रूप से प्रभावित किया है. आपको अपनी अपेक्षाओं का प्रबंधन करना होगा क्योंकि मुश्किलें ज्यादा हैं और हो सकता है कि आपको नई नौकरी जल्दी न मिले, इसलिए मानसिक रूप से पहले से तैयार रहने से आपको मदद मिलेगी. सबके बावजूद, आगे बढ़ते रहिए. अपने रेज़्यूमे को अपनी अपेक्षित नौकरियों के लिए भेजते रहिए. लिंक्ड-इन पर लोगों से जुडि़ए, जो आपको अपने करियर में मदद कर सकें और उनकी कंपनियों में प्रवेश दिला सकें. खुद का परिचय देने के लिए पुराने व मौजूदा साथियों एवं मैनेजर्स सहित लोगों के साथ नेटवर्किंग तथा उद्योग से संबंधित स्पेशल ईवेंट्स में शामिल होने से काफी सहायता मिलेगी.

  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, बिग डेटा और ऑटोमेशन जैसी तकनीकों से क्या बदलाव संभावित हैं?

    कंपनियां संकट के दौरान अपनी नई प्रस्तुतियों में डिज़ाइन थिंकिंग जैसी चीजों का इस्तेमाल कर रही हैं और इससे उन्हें काफी फायदा होगा. ग्राहक भी डिजिटल माध्यम अपना चुके हैं. कर्मचारी दूर बैठकर काम कर रहे हैं और काम करने के इस नए तरीके में वो ज्यादा चुस्ती से काम कर पा रहे हैं. कंपनियां अपने कार्य संचालन में एनालिटिक्स एवं आर्टिफिशियल इंटैलिजेंस अभियान शुरू कर चुकी हैं. इसी तरह आईटी टीमें बहुत तीव्र गति से काम कर रही हैं. लेकिन ज्यादातर कंपनियों के लिए अब तक हुए परिवर्तन भविष्य में होने वाले परिवर्तनों का केवल पहला चरण प्रदर्शित करती हैं.

  • एनालिटिक्स, डिजिटल जैसे क्षेत्रों में रोजगार की कितनी संभावनाएं हैं और भविष्य का परिदृश्य क्या होगा?

    एनालिटिक्स, डिजिटल एवं इसी तरह के अन्य दायित्वों में अपार संभावनाएं हैं. कंपनी ऐसे एप्स एवं टूल्स तलाश रही हैं, जो उनके कर्मचारियों के अनुभव एवं डेटा एनालिटिक्स को आसान बना सकें, क्योंकि यह सेक्टर बहुत तेजी से वृद्धि कर रहा है. यदि आप अपने करियर की शुरुआत कर रहे हैं, तो यह सेक्टर एक शक्तिशाली विकल्प/चयन हो सकता है, लेकिन यह व्यक्तिगत रुचि पर निर्भर है.

  • यह भी पढ़ें : पीएफ अकाउंट को आधार से लिंक कराने में हो रही है दिक्कत तो पहले करें यह काम, जानें पूरी प्रोसेस

  • हमें अपनी कंपनी की भर्ती प्रक्रिया के बारे में बताएं और नौकरी चाहने वाले आपकी कंपनी तक कैसे पहुंच सकते हैं?

    हमारी भर्ती की प्रक्रिया काफी स्पष्ट है. इसकी शुरुआत रिक्रूटर के इंटरव्यू से होती है, जिसके बाद एक असाइनमेंट होता है. फिर टीम एवं हायरिंग मैनेजर के साथ इंटरव्यू का दूसरा राउंड और अंत में एचआर के साथ एक राउंड होता है. हम विभिन्न पदों के अनुरूप ज्यादा तकनीकी कौशल - एन्ड्रॉयड, बैकएंड, फ्रंटएंड, फुल स्टैक, वेब इंजीनियर, डेटा साईंटिस्ट एवं नॉन-इंजीनियरिंग कौशल तलाश रहे हैं.
    बैकएंड: स्केला
    इन्फ्रास्ट्रक्चर: जीपीसी/कुबरनेट्स
    कोट्लिनि (एन्ड्रॉयड क्लाइंट)/स्विफ्ट (आईओएस क्लाइंट)
    व्युएज़्स/रिएक्ट (वेब फ्रंटएंड)
    एयरोस्पाइक/कैसांड्रा/स्काइलाडीबी
    स्पार्क/हडूप/हाइव
    एयरफ्लो
    बिगक्वेरी/डेटास्टूडियो
    काफ्का

  • आपकी कंपनी में और इस सेक्टर में वृद्धि की क्या संभावनाएं हैं?

    हमारी कंपनी मुख्यतः कंज्यूमर टेक्नॉलॉजी के लिए काम करती है, इसलिए इस क्षेत्र में इन तकनीकी कौशलों और अनुभव की निरंतर जरूरत है.

  • क्या आप हमारे पाठकों को उनके करियर की तैयारी के लिए और भी कुछ बताना चाहते हैं?

    नौकरी तलाशने वाले जो लोग अपने सर्कल में संबंधों का अच्छा विकास कर सकते हैं और अपने विचार साझा कर सकते हैं, वो उस समय बेहतर स्थिति में होंगे, जब कंपनियां भर्ती शुरू करेंगी. लोग जिन कंपनियों में काम करना चाहते हैं और जो इन्वेस्टर कॉल लेना चाहते हैं, उनके लिए गूगल अलर्ट स्थापित करने के बारे में सोचें. जब आपको इंटरव्यू का मौका मिले, तो आपको संबंधित नेतृत्व के सामने कंपनी के बारे में अपनी जानकारी तथा इस महामारी द्वारा कंपनी को उत्पन्न हुए खतरों के बारे में बताने में समर्थ होना चाहिए. एक पेज का दस्तावेज बनाएं, जिसमें आपका लक्षित उद्योग, कंपनियां, नौकरियों के टाईटल एवं कोई भी खास उल्लेख हो, जो आप तलाश रहे हैं. आपको हर उस पोस्टिंग के लिए आवेदन करना चाहिए, जो आपके किसी न किसी मानदंड के समान हो. लेकिन नौकरियों के अलावा आप इस बात पर भी केंद्रित हो सकते हैं कि आप किस कंपनियों के साथ काम करना चाहते हैं और उन कंपनियों में आप किससे संपर्क करें. (हो सकता है कि वर्तमान में कंपनी में कोई रिक्ति न हो, लेकिन आप भविष्य के लिए संपर्क के विकास के लिए अपने नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकते हैं) अपनी भूमिका को व्यापक दायरे में देखने और उसके निकट पद पर काम करने के लिए तैयार रहें, जिसमें आपके अनुभव व कौशल का फायदा मिले. हो सकता है कि आप मार्केटिंग के क्षेत्र में काम करना चाहते हों, लेकिन कम लोग पैसे खर्च करना चाहते हैं, इसलिए कंपनी संकट के समय कम्युनिकेशन की भूमिका में व्यक्ति को नौकरी पर रखना चाहती हो.
  • पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज