जरूरी खबर : देशभर के स्कूलों की पढ़ाई में होगा अब ये बदलाव, 2005 के बाद पहली बार होगा ऐसा

जरूरी खबर : देशभर के स्कूलों की पढ़ाई में होगा अब ये बदलाव, 2005 के बाद पहली बार होगा ऐसा
मार्च 2021 से पाठ्यक्रम में किया जाएगा बदलाव.

स्कूल एजुकेशन (School Education) पर नेशनल करिकुलम फ्रेमवर्क (National Curriculum Framework) यानी एनसीएफ (NCF) पर अंतिम रिपोर्ट इस साल दिसंबर तक पेश कर दी जाएगी. इसके बाद जल्द से जल्द देशभर के स्कूलों की पढ़ाई में निर्धारित बदलाव कर दिए जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 25, 2020, 11:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर के स्कूलों (Schools) में आखिरकार 15 साल बाद पढ़ाई के स्ट्रक्चर में बदलाव होने जा रहा है. नेशनल काउंसिल आफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग (National Council of Educational Research and Training) यानी एनसीईआरटी (NCERT) ने इसे लेकर तैयारी कर ली है. स्कूल एजुकेशन (School Education) पर नेशनल करिकुलम फ्रेमवर्क (National Curriculum Framework) यानी एनसीएफ (NCF) पर अंतिम रिपोर्ट इस साल दिसंबर तक पेश कर दी जाएगी. इसके बाद जल्द से जल्द देशभर के स्कूलों की पढ़ाई में निर्धारित बदलाव कर दिए जाएंगे.

मार्च, 2021 से लागू हो सकता है बदलाव
दरअसल, हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, मानव संसाधन विकास मंत्रालय (Human Resource Development Ministry) यानी एचआरडी मिनिस्ट्री (HRD Ministry) ने बयान में कहा है कि स्कूल एजुकेशन (School Education) पर नेशनल करिकुलम फ्रेमवर्क (National Curriculum Framework) की शुरुआत हो चुकी है. एनसीईआरटी (NCERT) नए एनसीएफ (NCF) के अनुसार टेक्स्टबुक में बदलाव करेगी. विषय विशेषज्ञ इस बारे में अंतिम रिपोर्ट दिसंबर 2020 तक सौंप देंगे. इसे देखते हुए नया नेशनल करिकुलम फ्रेमवर्क अगले साल मार्च से लागू होने की उम्मीद की जा रही है.

एचआरडी मिनिस्ट्री ने एनसीईआरटी को दिए निर्देश
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एनसीईआरटी को निर्देश दिए हैं कि नई टेक्स्टबुक्स डिजाइन करते वक्त इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि कोर कंटेंट उनमें जरूर शामिल रहना चाहिए. इसके अलावा क्रिएटिव थिंकिंग, लाइफ स्किल्स, आर्ट जैसे अतिरिक्त क्षेत्रों को भी इसमें शामिल किया जाना चाहिए. नई किताबें नए एनसीएफ के अनुसार ही लिखी जाएंगी. एनसीईआरटी किताबों की डिजाइनिंग और लेआउट का काम भी काफी पहले ही शुरू कर देगी.



ये भी पढ़ें :-
बड़ी बात : 8 लाख से ज्यादा छात्र आज से देंगे 10वीं की परीक्षा, पेरेंट्स चिंतित
UP Board : यूपी बोर्ड 12वीं की पिछले साल की टॉपर अब क्या कर रहीं हैं, जानिए



पांचवीं बार होगा बदलाव
नेशनल करिकुलम फ्रेमवर्क अब तक चार बाद संशोधित किया जा चुका है. ये पांचवां मौका होगा जब इसमें बदलाव किया जाएगा. इससे पहले साल 1975, 1988, 2000 और 2015 में भी एनसीएफ में बदलाव किया जा चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज