NEET 2020: कोविड-19 के कड़े ऐहतियात के बीच आज 15 लाख स्टूडेंट्स देंगे परीक्षा

NEET 2020: कोविड-19 के कड़े ऐहतियात के बीच आज 15 लाख स्टूडेंट्स देंगे परीक्षा
देश भर में NEET परीक्षा के लिये 15.97 लाख छात्रों ने पंजीकरण कराया है.

कोरोना वायरस (Corona Virus) के प्रसार के कारण नीट (NEET) को दो बार पहले टाला जा चुका है. मूल रूप से यह परीक्षा 3 मई को होनी थी. इसमें 15 लाख से अधिक छात्रों के शामिल होने की उम्मीद है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 13, 2020, 5:45 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोविड-19 महामारी (Covid-19 pandemic) के मद्देनजर कड़े ऐहतियात के बीच  आज यानि रविवार मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट (NEET 2020) का आयोजन होगा, जिसमें 15 लाख से अधिक छात्रों के शामिल होने की उम्मीद है. राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) के अधिकारियों ने यह जानकारी दी है. एनटीए ने सामाजिक दूरी बनाये रखने के लिये परीक्षा केंद्रों की संख्या को मूल योजना के तहत 2546 केंद्रों से बढ़ाकर 3843 केंद्र कर दिया है, वहीं प्रत्येक कमरे में उम्मीदवारों की संख्या को पूर्व निर्धारित संख्या 24 से घटाकर 12 कर दिया गया है.

राष्ट्रीय प्रवेश सह पात्रता परीक्षा (NEET) कलम एवं पेपर पर आधारित परीक्षा है, जबकि इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेंस ऐसी नहीं थी . कोरोना वायरस के प्रसार के कारण नीट को दो बार पहले टाला जा चुका है. मूल रूप से यह परीक्षा 3 मई को होनी थी और फिर बाद में इसे 26 जुलाई के लिये आगे बढ़ा दिया गया था . अब यह परीक्षा 13 सितंबर को निर्धारित है. नीट परीक्षा के लिये 15.97 लाख छात्रों ने पंजीकरण कराया है.

एनटीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘ परीक्षा हाल के बाद सामाजिक दूरी बनाये रखना सुनिश्चित करने के लिये प्रवेश और निकास की अलग व्यवस्था की योजना बनाई गई है . परीक्षा केंद्रों के बाहर इंतजार करने वाले छात्रों के लिये सामाजिक दूरी बनाये रखते हुए कतार में खड़ा रहने के लिये पर्याप्त व्यवस्था की गई है. ’’ अधिकारी ने बताया कि उम्मीदावारों के मागदर्शन के लिये परामर्श जारी किये गए हैं जिसमें उपयुक्त सामाजिक दूरी बनाये रखने के लिये ‘क्या करें’ और ‘क्या नहीं करें’ के बारे में जानकारी दी गई है. उन्होंने कहा, ‘‘ हमने स्थानीय स्तर पर छात्रों के आने-जाने में मदद के संदर्भ में राज्य सरकारों को को भी लिखा है ताकि छात्र समय पर परीक्षा केंद्र पर पहुंच सकें . ’’



परीक्षा कक्ष के भीतर हर समय सैनिटाइजर उपलब्ध रहेगा
कोविड-19 प्रतिबंधों एवं सामाजिक दूरी के अनुपालन के अनुरूप परीक्षा एजेंसी ने इस सप्ताह कुछ छात्रों के केंद्रों में बदलाव भी किया है हालांकि किसी उम्मीदवार के परीक्षा शहर को नहीं बदला गया है. परीक्षा केंद्र के प्रवेश द्वार और परीक्षा कक्ष के भीतर हर समय सैनिटाइजर उपलब्ध रहेगा और परीक्षा प्रवेश पत्र को हाथ से जांच करने की बजाए इसे बार कोड युक्त बनाया गया . इसके साथ ही कक्षा में कम संख्या में उम्मीदवार और प्रवेश एवं निकास की अलग व्यवस्था की गई है.

 उम्मीदवारों को मास्क और सैनिटाइजर के साथ आने को कहा गया
अधिकारी ने बताया, ‘‘ उम्मीदवारों को मास्क और सैनिटाइजर के साथ केंद्र पर आने को कहा गया . एक बार केंद्र में प्रवेश करने के बाद उन्हें परीक्षा प्राधिकार द्वारा उपलब्ध कराया गया मास्क उपयोग करना होगा . ’’ उन्होंने बताया कि प्रत्येक उम्मीदवार को प्रवेश करते समय तीन स्तर वाला मास्क उपलब्ध कराया जायेगा और उनसे परीक्षा देते समय इसे पहनने की उम्मीद की जाती है. ’’ गौरतलब है कि ओडिशा, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ ने छात्रों के आने जाने की व्यवस्था करने का छात्रों को आश्वासन दिया है और आईआईटी एल्युमनी एवं छात्रों के समूह ने परीक्षा केंद्र के लिये परिवहन सुविधा प्रदान करने के लिये एक पोर्टल पेश किया है.

कोलकाता मेट्रो रेलवे ने नीट देने वाले छात्रों के लिये 13 सितंबर को विशेष सेवा प्रदान करने की योजना बनायी है. कोविड-19 के मामले बढ़ने के मद्देनजर एक वर्ग नीट स्थगित करने की मांग करता रहा है. इससे पहले उच्चतम न्यायालय ने परीक्षा स्थगित करने की याचिका खारिज करते हुए कहा था कि छात्रों का एक बहुमूल्य वर्ष बर्बाद नहीं किया जा सकता है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, द्रमुक नेता एम के स्टाालिन, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीषा सिसोदिया नीट एवं जेईई परीक्षा स्थगित करने की मांग करते रहे हैं .
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज