NEET, JEE 2020 आयोजित होने के विरोध में अखिलेश यादव ने लिखा ओपन लेटर, यहां पढ़ें

NEET, JEE 2020 आयोजित होने के विरोध में अखिलेश यादव ने लिखा ओपन लेटर, यहां पढ़ें
समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव ने नीट, जेईई परीक्षा होने के खिलाफ लिखा पत्र.

पत्र में कहा गया कि लोग मजबूरी में घरों से निकल रहे हैं. जो लोग घर पर रहकर बचाव करना भी चाहते हैं, सरकार परीक्षा के नाम पर उन्हें बाहर निकलने पर बाध्य कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2020, 6:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. समाजवादी पार्टी ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में भाजपा की ओर से यह तर्कहीन बात फैलायी जा रही है कि जब लोग दूसरे कामों के लिए घर से निकल रहे हैं तो परीक्षा क्यों नहीं दे सकते.

परीक्षाओं के ख़िलाफ़ खुला पत्र 
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की ओर से जारी परीक्षार्थियों और अभिभावकों के समर्थन में तथा परीक्षाओं व भाजपा के ख़िलाफ़ खुले पत्र में कहा, 'भाजपा की तरफ से ये हास्यास्पद और तर्कहीन बात फैलायी जा रही है कि जब लोग दूसरे कामों के लिए घर से निकल रहे हैं तो परीक्षा क्यों नहीं दे सकते?' खुले पत्र में एक नारा भी लिखा गया है, आइये मिलकर कहें, 'जान के बदले एग्जाम' नहीं चलेगा-नहीं चलेगा!!'
लोग मजबूरी में घर से निकल रहे हैंपत्र में कहा गया कि भाजपाई सत्ता के मद में ये भी भूल गये कि लोग मजबूरी में निकल रहे हैं. जो लोग घर पर रहकर बचाव करना भी चाहते हैं, सरकार परीक्षा के नाम पर उन्हें बाहर निकलने पर बाध्य कर रही है.पढ़ें पूरा लेटर-संक्रमण हो गया तो कीमत सरकार चुकाएगी ?अखिलेश यादव ने पत्र में कहा, 'ऐसे में अगर किसी परीक्षार्थी, उनके संग आए अभिभावक या घर लौटने के बाद उनके संपर्क में आए घर के बुजुर्गों को संक्रमण हो गया तो उसकी कीमत क्या ये सरकार चुकाएगी ?'युवाओं और अभिभावकों के ख़िलाफ़ प्रतिशोधात्मक कार्रवाई उन्होंने कहा, भाजपा ये समझ चुकी है कि बेरोज़गारी से जूझ रहा युवा तथा कोरोना, बाढ़ व अर्थव्यवस्था की बदइंतज़ामी से त्रस्त ग़रीब, निम्न व मध्य वर्ग अब कभी उसको वोट नहीं देगा, इसीलिए वो युवाओं और अभिभावकों के ख़िलाफ़ प्रतिशोधात्मक कार्रवाई कर रही है. भाजपा को सिर्फ़ वोट देनेवालों से मतलब है.ये भी पढ़ें-NEET, JEE स्थगित करने की मांग तेज, जानें इस मुद्दे के बारे में सब कुछSC/ST के उप-वर्गीकरण पर 2004 के फैसले पर पुनर्विचार करने की जरुरत: सुप्रीम कोर्टअखिलेश ने इस सिलसिले में कई ट्वीट किए. पढ़ें-






उल्लेखनीय है कि नीट और जेईई जैसी परीक्षाओं को टालने की मांग छात्रों का एक वर्ग कर रहा है, जिसका विभिन्न विपक्षी राजनीतिक दल समर्थन कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज