NEET, JEE स्थगित करने की मांग तेज, जानें इस मुद्दे के बारे में सब कुछ

NEET, JEE स्थगित करने की मांग तेज, जानें इस मुद्दे के बारे में सब कुछ
नीट और जेईई मेन की परीक्षाएं इस साल दो बार स्थगित की जा चुकी हैं.

ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम यानी जेईई की परीक्षा 1 से 6 सितंबर तक आयोजित की जानी है, JEE (Advanced) 27 सितंबर को होना है. जबकि नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट यानी नीट का एग्जाम 13 सितंबर को होना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2020, 5:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. संयुक्त प्रवेश परीक्षा (Joint Entrance Examination, Main) और राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (National Eligibility cum Entrance Test, NEET UG) को स्थगित करने की मांग तेज हो गई है. परीक्षार्थियों का कहना है महामारी के कारण किसी भी गड़बड़ी से बचने के लिए परीक्षा स्थगित की जाए. एग्जाम्स तय समय पर आयोजित करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया. फैसले में पीठ ने कहा, "नीट यूजी 2020 के साथ-साथ जेईई (मुख्य) परीक्षा को स्थगित करने के लिए की गई प्रार्थना का कोई औचित्य नहीं मिला.

परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग
गैर-भाजपा शासित राज्यों के सात मुख्यमंत्रियों ने परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग का समर्थन किया. इस मुद्दे पर संयुक्त रूप से उच्चतम न्यायालय का रुख करने का फैसला किया. परीक्षाओं के स्थगित होने का सिलसिला बढ़ता ही जारा है, जानिए इस मुद्दे के बारे में सब कुछ.

सोशल मीडिया पर विरोध प्रदर्शन 
शिक्षा मंत्रालय की ओर से एनटीए ने जब कहा कि जेईई (मुख्य) और एनईईटी (यूजी) सितंबर में आयोजित किए जाएंगे, तब से ही सोशल मीडिया पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है. विरोध में उम्मीदवार COVID-19 महामारी में सुधार होने तक परीक्षा स्थगित करने की मांग कर रहे हैं. साथ ही देश भर के कई राज्यों में बाढ़ से संबंधित स्थिति में भी सुधार होने तक, एग्जाम रोकने की मांग है. परीक्षा स्थगित न होने पर आवेदकों ने परिवहन की कमी और भीड़ जैसे मुद्दों पर भी चिंता व्यक्त की है.



वायरस से कॉन्टेक्ट में आने का डर
उम्मीदवारों ने गुरुवार सुबह 8 बजे से विरोध करने के लिए "घरों से काले झंडे उठाने, बांह या माथे पर काले बैंड बाँधने, काले मुखौटे पहनने, अपनी प्रोफ़ाइल तस्वीरों को काले रंग में बदलने की तैयारी की. 3.23 मिलियन मामलों और 59,449 मौतों के साथ, वायरस से कॉन्टेक्ट में आने का डर छात्रों में काफी है.

एग्जाम्स शेड्यूल
ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम यानी जेईई की परीक्षा 1 से 6 सितंबर तक आयोजित की जानी है, JEE (Advanced) 27  सितंबर को होना है. जबकि नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट यानी नीट का एग्जाम 13 सितंबर को होना है. इन दोनों परीक्षाओं में कुल 25 लाख कैंडीडेट्स के हिस्सा लेने की उम्मीद है.

14 लाख से ज्यादा कैंडीडेट्स ने एडमिट कार्ड डाउनलोड किए
जेईई मेन (JEE Main) के बाद अब नीट परीक्षा (NEET Exam) के लिए भी एडमिट कार्ड जारी कर दिए गए हैं. अब तक दोनों परीक्षाओं के कुल 14 लाख से ज्यादा कैंडीडेट्स ने एडमिट कार्ड डाउनलोड कर लिए हैं.

-जेईई मेन के लिए रजिस्ट्रेशन कराने वाले 8.58 लाख उम्मीदवारों में से 7.41 लाख कैंडीडेट्स ने एडमिट कार्ड डाउनलोड किए.

-नीट में हिस्सा लेने वाले 15.97 लाख उम्मीदवारों में से 6.84 लाख कैंडीडेट्स ने जारी होने के पांच घंटे के भीतर ही एडमिट कार्ड डाउनलोड कर लिए.



ये भी पढ़ें-
NEET JEE Exam 2020: 25 लाख कैंडीडेट्स पर लागू होगा ऑड ईवन फॉर्मूला, जानिए कैसे
SC/ST के उप-वर्गीकरण पर 2004 के फैसले पर पुनर्विचार करने की जरुरत: सुप्रीम कोर्ट

सुरक्षा के लिए एन टी ए की तैयारियां
-राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए)  नीट और जेईई के लिए परीक्षा केंद्रों पर प्रत्येक कमरे में कम उम्मीदवारों को बैठाने और प्रवेश-निकास की अलग व्यवस्था जैसे कदम उठाएगी.
-केंद्रों पर सामाजिक दूरी के नियम का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए करेगी.
-जेईई के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या 570 से बढ़ाकर 660 की गई है.
-जबकि नीट परीक्षा अब 2,546 केंद्रों के बजाय 3,843 केंद्रों पर होगी.
-जेईई-मुख्य परीक्षा के लिए पालियों की संख्या आठ से बढ़ाकर 12 कर दी गई है और प्रत्येक पाली में विद्यार्थियों की संख्या अब 1.32 लाख से घटकर 85,000 हो गई है.
-जेईई-मुख्य परीक्षा में छात्रों को परीक्षा कक्ष में एक सीट छोड़कर बैठाया जाएगा. नीट परीक्षा में एक कमरे में विद्यार्थियों की संख्या 24 से घटाकर 12 कर दी गई है.
-परीक्षा कक्षा के बाहर सामाजिक दूरी का अनुपालन सुनश्चित करने के लिए उम्मीदवारों का विशेष प्रवेश एवं निकास होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज