स्कूलों पर आई बड़ी खबर, शिक्षा मंत्री निशंक ने टीचर्स से की अब ये अपील

स्कूलों पर आई बड़ी खबर, शिक्षा मंत्री निशंक ने टीचर्स से की अब ये अपील
सरकार ने हाल ही में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का ऐलान किया था.

कोरोना वायरस (Coronavirus) से उपजे हालात के चलते देशभर के स्कूल और कॉलेज (School and Colleges) करीब पांच महीनों से बंद हैं. भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 30 लाख के पार पहुंच गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2020, 2:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जानलेवा महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) का प्रकोप दुनियाभर में जारी है. भारत में अब तक इससे संक्रमित होने वाले लोगों का आंकड़ा 30 लाख के पार पहुंच चुका है. इस बीच, शिक्षा क्षेत्र की बात करें तो स्कूल और कॉलेज (School and Colleges) समेत देश के सभी शिक्षण संस्थान करीब पांच महीने से बंद पड़े हैं. यहां तक कि प्रवेश परीक्षाओं के आयोजन को लेकर भी असमंजस कायम है. सरकार ने 16 मार्च से ही स्कूल बंद कर दिए थे. इसके बाद से इन्हें अभी तक नहीं खोला गया है. हालांकि अब शिक्षा मंत्रालय (Education Ministry) ने स्कूलों को लेकर अहम कदम उठाया है.

देशभर के स्कूलों के शिक्षकों से मांगे सुझाव
दरअसल, शिक्षा मंत्री (Education Minister) रमेश पोखरियाल निशंक (Ramesh Pokhriyal Nishank) ने रविवार को बताया कि मंत्रालय ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करने के लिए स्कूल टीचर्स और प्रिंसिपल्स से सुझाव मांगे हैं. निशंक के अनुसार, हमारा मानना है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (New National Education Policy 2020) लागू करने में टीचर्स की भूमिका बेहद अहम रहेगी. यही वजह है कि हमने देशभर के सभी स्कूलों के टीचर्स और प्रिंसिपल्स से एनईपी लागू करने के सुझाव मांगे हैं.

24 से 31 तक दे सकेंगे सुझाव
इस बारे में स्कूल एजुकेशन सेक्रेटरी अनिता करवाल ने कहा, टीचर्स और प्रिंसिपल्स के सुझावों की पड़ताल एनसीईआरटी के विशेषज्ञ करेंगे. जिन टीचर्स या प्रिं​सिपल्स के सुझाव उपयोगी पाए जाएंगे, उनसे व्यक्तिगत रूप से संपर्क किया जाएगा. नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करने की दिशा में ये सुझाव 24 अगस्त से 31 अगस्त तक दिए जा सकेंगे.



ये भी पढ़ें
मनीष सिसोदिया ने की JEE,NEET कैंसिल करने की मांग, दी ये दलील
NEET एग्जाम को लेकर MCI का बयान, नहीं टाली जा सकती परीक्षा

बता दें कि पिछले महीने ही सरकार ने 34 साल पुरानी व्यवस्था को बदलते हुए नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने की घोषणा की थी. इसका उद्देश्य स्कूलों में सुधार और हायर एजुकेशन सिस्टम का स्तर और बेहतर करना है ताकि भारत को वैश्विक नॉलेज सुपरपावर बनाया जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज