नई शिक्षा नीति भारत के गौरव को फिर से हासिल करने में मदद करेगी: निशंक

नई शिक्षा नीति भारत के गौरव को फिर से हासिल करने में मदद करेगी: निशंक
केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने नई शिक्षा नीति को लेकर बयान दिया.

New Education Policy: निशंक ओडिशा केन्द्रीय विश्वविद्यालय के 12वें स्थापना दिवस के अवसर पर बोल रहे थे. यह कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया गया था और इसे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, ओडिशा के राज्यपाल गणेशी लाल तथा अन्य कई जाने माने लोगों ने संबोधित किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 30, 2020, 11:49 AM IST
  • Share this:
भुवनेश्वर: केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने उम्मीद जताई है कि नई शिक्षा नीति शिक्षा का केन्द्र होने के भारत के गौरव को दोबारा हासिल करने में मदद करेगी. निशंक ओडिशा केन्द्रीय विश्वविद्यालय के 12वें स्थापना दिवस के अवसर पर बोल रहे थे. यह कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया गया था और इसे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, ओडिशा के राज्यपाल गणेशी लाल तथा अन्य कई जाने माने लोगों ने संबोधित किया.

रिसर्च एंड डेवलेपमेंट पर ध्यान देने को कहा
कोविंद ने छात्रों और युवाओं के विकास और वृद्धि के लिए मूल्य आधारित शिक्षा की जरूरत पर जोर दिया. निशंक ने अपने संबोधन में कहा कि एक युग था जब विदेशी नागरिक भारत के शिक्षण कौशल के प्रति 'आकर्षित' होते थे. उन्होंने विश्वविद्यालयों से रिसर्च एंड डेवलेपमेंट पर अधिक ध्यान केन्द्रित करने का अनुरोध करते हुए कहा, 'अब वक्त है कि नयी शिक्षा नीति से उस प्रकार की शिक्षा हासिल की जाए.'

ये भी पढ़ें-
UPSC NDA 2020 एग्जाम 6 सितंबर को, भर्ती से लेकर निगेटिव मार्किंग तक, जानें डिटेल


टोक्यो के प्रोफेसर ने गांव में जापानी सीख रहे बच्चों के लिए भेजी किताबें


शिक्षा मंत्री ने कहा, 'यह नीति क्षेत्र आधारित उद्योग-अकादमी-सरकारी साझेदारी को संपूर्ण क्षेत्र के विकास में मदद करेगी.' ऐसी उम्मीद की जाती है कि नई शिक्षा नीति के तहत पुराने ज्ञान का उपयोग कर सकती है. केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इस मौके पर कहा कि ऊंचाई पर पहुंचने के लिए ज्यादा मिलकर प्रयास करने होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज