NIOS ने पकड़े कई शिक्षकों के फर्जी D.El.Ed सर्टिफिकेट, अब जाएगी नौकरी

नेशनल इंस्‍ट्टीयूट ऑफ ओपन स्‍कूलिंग (NIOS) ने कई शिक्षकों के D.El.Ed सर्टिफिकेट फर्जी पाए हैं. अब इन शिक्षकों के खिलाफ उठाया जाएगा ये कदम.

News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 11:05 AM IST
NIOS ने पकड़े कई शिक्षकों के फर्जी D.El.Ed सर्टिफिकेट, अब जाएगी नौकरी
NIOS ने पकड़े शिक्षकों के फर्जी D.El.Ed सर्टिफिकेट
News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 11:05 AM IST
नेशनल इंस्‍ट्टीयूट ऑफ ओपन स्‍कूलिंग (NIOS) ने कई शिक्षकों के D.El.Ed  फर्जी पाए हैं. इन उम्‍मीदवारों ने प्रमाणपत्रों में 12वीं के अंकों के साथ छेड़छाड़ करके इन्‍हें फर्जी बनवाया है. NIOS ने ऐसे प्रमाणपत्रों को संज्ञान में ले लिया है अब इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.  NIOS इनके खिलाफ सख्‍त कदम उठाते हुए इनकी नौकरी भी छीन सकता है.

NIOS अधिकारियों के अनुसार लगभग दो सौ ऐसे शिक्षक पाए गए हैं, जिन्होंने गलत प्रमाणपत्रों का इस्तेमाल किया है. NIOS ने D.ElD सर्टिफिकेट को रद्द करने का फैसला लिया है. इन शिक्षकों के एक ही बोर्ड यानी बोर्ड ऑफ हायर सेकेंडरी एजुकेशन नई दिल्ली से कक्षा 12वीं के फर्जी प्रमाण पत्र मिले हैं. फर्जी प्रमाण पत्र प्राप्त करने के अलावा इन शिक्षकों ने इस फर्जी बोर्ड का हलफनामा यानी कि एफीडेवट भी भी बनवाया है और इसे एनआईओएस को सौंप दिया है. अब इन शिक्षकों की जानकारी क्षेत्रीय कार्यालय पटना से NIOS दिल्ली को भेजी जाएगी.  इन शिक्षकों ने डी.एल.एड. 2017-19 में  ये शिक्षक कुछ वर्षों से निजी स्कूलों में काम कर रहे हैं.



ये हैं नियम 

NIOS ऐसे उम्‍मीदवारों को D.El.Ed सर्टिफिकेट प्रदान करता है, जिनके 12वीं की परीक्षा में न्‍यूनतम 50 अंक पाए हों इससे कम अंक पाने वाले इस प्रमाणपत्र के काबिल नहीं लेकिन इन शिक्षकों ने 40 फीसदी अंकों के साथ इस प्रमाणपत्र के लिए अप्‍लाई किया है.

ये भी पढ़ें: 

-Good News: अब आंगनवाड़ी का मेकओवर करेगी केजरीवाल सरकार
Loading...

-LIC हाउसिंग फाइनेस मेंसिस्टेंट, एसोसिएट मैनेजर की वैकेंसी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टीचिंग से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 8, 2019, 11:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...