नौकरी की बात: वर्क फ्रॉम होम के चलते वेलनेस ऑफिसर या एम्प्लोयी एक्सपीरियंस एंड कम्युनिकेशन जैसी नई जॉब्स की डिमांड

सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, डेटा साइंस, इंफॉर्मेशन सिक्योरिटी जैसी नौकरियां हमेशा की तरह लोकप्रिय रहेंगी

सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, डेटा साइंस, इंफॉर्मेशन सिक्योरिटी जैसी नौकरियां हमेशा की तरह लोकप्रिय रहेंगी

नौकरी की बात (Noukari Ki Bat) सीरिज में पेनियरबाय (PayNearby) के चीफ पीपल ऑफिसर (Chief People Officer) गीतेश कार्णिक (Gitesh Karnik) ने बताया कि यूडेमी और कोर्सेरा जैसी साइटों पर कम वक्त में ऑनलाइन कोर्स कर बेहतर जॉब अपार्चुनिटी पा सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 1, 2021, 12:10 PM IST
  • Share this:
ननई दिल्ली. कोविड-19 (Covid-19) से देश उबरने लगा है और अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर आने लगी है. लिहाजा, कंपनियों में भर्तियां शुरू हो गई है. अपने युवा पाठकों के लिए न्यूज18 ने देश के टॉप एचआर लीडर (HR Leader) के साथ खास सीरिज "नौकरी की बात" (Noukari ki bat) शुरू की है.

"नौकरी की बात" (Noukari Ki Bat) सीरिज में आज पेनियरबाय (PayNearby) के चीफ पीपल ऑफिसर (Chief People Officer) गीतेश कार्णिक (Gitesh Karnik) ने फिनटेक सेक्टर (Fintech sector) में नौकरियों के अवसर व इसकी तैयारियों के बताए. गीतेश कार्णिक ने एचआर में मास्टर्स किया है और ह्यूमन रिसोर्स (Human Resource) के क्षेत्र में 2 दशकों से अधिक का अनुभव है. गितेश ने एनबीएफसी / फिनटेक / रिटेल / सॉफ्टवेयर / आईटीईएस / बीपीओ / रियल एस्टेट जैसे उद्योगों में काम किया है.

यह भी पढें :  नौकरी की बात: पुरानी कंपनी, बॉस और सहकर्मियों के संपर्क में रहिए, लग सकती है जॉब्स की लॉटरी 

सवाल : जिन लोगों की महामारी के दौरान नौकरी गई, उन्हें क्या करना चाहिए?
जवाब : उन्हें नई स्किल सीखने और अपने डोमेन स्किल्स को अपग्रेड करने में ध्यान देना चाहिए. उन्हें इस समय को आत्मनिरीक्षण करने के लिए भी लेना चाहिए कि वे क्या बेहतर कर सकते हैं और वे खुद को कैसे तैयार करते हैं ताकि अगली बार ऐसा होने पर उन्हें नौकरी न गवानी पड़े. यह भी सुनिश्चित करें कि वे केवल उन कोर्सेस पर संसाधनों को खर्च करें, जिनका जॉब मार्केट में पर्याप्त वेटेज है और जो केवल सर्टिफिकेट कोर्स नहीं हैं, जो जॉब मार्केट में गिने नहीं जाते. इस समय का उपयोग कुछ शौक को आगे बढ़ाने के लिए करें और फिटनेस पर ध्यान दें और प्रियजनों के साथ भी समय बिताएं. सेल्फ-हेल्प बुक्स पढ़ें जो आपको खुशमिजाज़ रहने में मदद करती हैं. रुचि के विषयों पर वेबिनार में शामिल हों और अपने साथियों से सीखें.

यह भी पढ़ें :  1.3 लाख करोड़ रुपए का बैड लोन बढ़ेगा, फिर भी उछल रहे बैंकों के शेयर, जानिए वजह





सवाल : नई स्किल कैसे विकसित कर सकते हैं?

जवाब : नई स्किल विकसित करना और सीखना अनिवार्य है. लेकिन सीखा जा रहा नया कौशल उनकी नौकरी के मूल के साथ मिलता जुलता होना चाहिए. जैसे अकाउंटेंट को अकाउंटेंसी के क्षेत्र में नए कौशल सीखने चाहिए क्यूंकि मार्केटिंग या सेल्स सीखने से यह उनके करियर को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से काम नहीं करेगा. इसलिए, उन स्किल्स को खोजें जो आपकी वर्तमान नौकरी में सहायता करें. डोमेन स्किल्स को अपग्रेड करने और नए अधिग्रहण करने के विभिन्न तरीके हैं. कई प्रमुख मैनेजमेंट स्कूल हैं जो कोर्सेस प्रदान करते हैं और जिनके सर्टिफ़िकेट जॉब मार्किट में वजन रखते हैं, लेकिन वे महंगे हैं और कुछ लंबी अवधि के हैं. यूडेमी और कोर्सेरा जैसी साइटों कम समय के कई ऑनलाइन सर्टिफ़िकेशन उपलब्ध करवाती हैं और अच्छे मैनेजमेंट स्कूल से कम अवधि के पाठ्यक्रम होते हैं.

यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : अगले पांच साल में इस क्षेत्र में होंगे 7.5 करोड़ जॉब्स, बस करनी होगी यह तैयारी

सवाल : महामारी के बाद से बहुत सारे कोर्स ऑनलाइन उपलब्ध है. अगर कोई इन कोर्स को करता है तो क्या उन्हें कंपनियां काम पर रखेंगी? 

जवाब : किसी भी प्रकार के कोर्सेस लाभदायक होते हैं अगर सीखने वाला उसका लाभ उठा सके. युवाओं को उन कोर्सेस का चयन करना चाहिए जो मान्य हों और कोर्स के अंत में सर्टिफ़िकेट या डिग्री प्रदान करते हैं. इसके अलावा, लोग ऑनलाइन पाठ्यक्रमों में दाखिला लेते हैं, लेकिन आधे में ही छोड़ देते हैं, जिससे उन्हें बचना चाहिए, उन्हें पाठ्यक्रम पूरा करना चाहिए और पूरा होने का प्रमाण पत्र प्राप्त करना चाहिए. उन कोर्सेज को चुनें जिनमें टेस्ट हो और क्लीयर होने पर ही टेस्ट सर्टिफिकेशन मिले.

गितेश कार्णिक
पेनियरबाय (PayNearby) के चीफ पीपल ऑफिसर (Chief People Officer) गीतेश कार्णिक (Gitesh Karnik)


सवाल : जब मार्केट धीरे-धीरे खुल रहा है तो कहां और कैसे युवाओं को नौकरी की तलाश करनी चाहिए?

जवाब : नौकरी ढूंढ़ते समय, युवाओं को सभी रास्ते तलाशने चाहिए और उन्हें मेल और SMS पर नौकरी अलर्ट के लिए साइन अप करना चाहिए, ताकि वे किसी नौकरी का मौका न गवाएं. व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करना चाहिए एयर लोगों से नेटवर्क करना चाहिए क्योंकि कई प्रोफेशनल ग्रुप वहां जॉब्स पोस्ट करते हैं. प्रसिद्ध और विश्वसनीय नौकरी साइटों पर साइन अप करें. पूर्व सहयोगियों के साथ संपर्क में रहे और देखें कि क्या आपके पिछले ऑर्गनाइज़ेशन में कोई वैकेंसी है. कुछ कंपनियां वॉक-इन इंटरव्यू के लिए अखबार में क्लासीफाइड का उपयोग करती हैं और युवाओं को वहां भी देखते रहना चाहिए. सोशल मीडिया से लेकर नेटवर्किंग साइट्स से लेकर जॉब साइट्स से व्हाट्सएप ग्रुप से लेकर पेपर विज्ञापन से लेकर पूर्व सहकर्मियों से संपर्क रखने तक हर संभव एवेन्यू की तलाश की जानी चाहिए. उन्हें रिक्रूटमेंट कंसल्टेंट्स के संपर्क में भी रहना चाहिए जो उन्हें नौकरी खोजने में मदद कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : दस साल में 100 करोड़ नौकरियों की स्किल बदल जाएंगी, इसलिए सीखें नई स्किल और करें रि-स्किलिंग

सवाल : क्या कोविड-19 के बाद जॉब देने की प्रक्रिया में बदलाव हुआ है?  

जवाब : बदलाव से ज्यादा रिक्रूटमेंट के नए तरीके को अपनाने से वृद्धि होगी जिससे रिक्रूटमेंट की समयसीमा में कटौती होगी. पहले आमने-सामने इंटरव्यू बहुत जरूरी थे पर उनमें काफी समय लगता था. लेकिन वीडियो इंटरव्यू अब सुविधाजनक और आसान तरीका बन गए हैं. कुछ हायरिंग सॉफ़्टवेयर आपको हायरिंग में AI की मदद लेते हैं जो केवल प्रासंगिक कैंडिडेट्स को चुनता है जिससे हायरिंग TAT कम हो जाता है. ये अब आम बात होते जा रही है . ये टूल्स हमेशा से थे, लेकिन पारंपरिक तरीकों को तोड़ना मुश्किल है, रूढ़िवादिता जारी थी लेकिन कोविड के साथ यह स्पष्ट हो गया है कि ये टूल्स अत्यंत उपयोगी हैं और इनका लाभ उठाया जाना चाहिए. इसके अलावा, इन टूल्स के निर्माता किफ़ायती विकल्प ला रहे हैं जिनकी मदद से तेजी से कार्यान्वयन और एडॉप्शन किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें : नाैकरी की बात : रिक्रूटमेंट में अब ऑटोमेशन का प्रयोग इसलिए रिज्यूमे में सही स्किल सेट लिखने से ज्यादा मिलेंगे नौकरी के मौके

सवाल : इस कठिन समय में इंटरव्यू के लिए कैसे तैयारी करनी चाहिए? 

जवाब : नौकरी ढूंढ़ने वालों को अपने डोमेन एक्सपेर्टीज पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए, यदि कोई HR है और रिक्रूटमेंट देख रहा है, तो उसे न केवल यह पता होना चाहिए कि रिक्रूटमेंट कैसे करें, बल्कि कहां से करें, प्रति हायरिंग लागत कैसे मापें और कम करें और हायरिंग TAT को काम कैसे करें. इसलिए, डोमेन को अच्छी तरह से समझने की आवश्यकता है. इसी तरह, ब्रांड मार्केटिंग में, ब्रांड क्या है, ब्रांड पोजिशनिंग क्या है, ब्रांड प्रजेंस क्या है इत्यादि का पता होना चाहिए. इसलिए, डोमेन की गहरी जानकारी होना महत्वपूर्ण है . अगला यह है कि जिस कंपनी के लिए आप आवेदन कर रहे हैं, उस पर डोमेन विशेषज्ञता कैसे लागू की जाए. इसलिए, नौकरी ढूंढ़ने वालों को कंपनी के बारे में थोड़ा रिसर्च करना चाहिए, लिंक्डइन और कंपनी की वेबसाइट पर जाना चाहिए कि कंपनी क्या करती है, बेतरतीब ढंग से जांच करनी चाहिए कि कौन लोग वहां काम करते हैं, वे किस तरह के लोगों को हायर करते हैं, किस कंपनी से वे लोगों को नौकरी देते हैं इत्यादि. कैंडिडेट्स को भी चाहिए वीडियोकॉल के बारे में जानें, कैसे कपड़े पहने जाएं, बैकग्राउंड क्या होना चाहिए, बैकग्राउंड नॉइज़ आदि नहीं होना चाहिए. यदि कोई इंटरव्यू में कोडिंग करने के लिए कहता है तो उसे कहां क्लिक करना चाहिए, यह पता होना चाहिए. इसलिए ज़ूम, गूगल मीट, वेबेक्स, एमएस टीम्स, अडोबी ब्लूजींस जैसे लोकप्रिय वीडियो कॉलिंग एप्लिकेशन से परिचित हों.

यह भी पढ़ें :  नौकरी की बात : सीखने, भूलने और फिर से सीखने के लिए रहें तैयार, जॉब पाने के लिए जानिए ऐसे ही जरूरी मंत्र



सवाल : वर्तमान परिस्थिति में किस तरह के नए रोज़गार के अवसर मिलेंगे और करियर का क्या रूप होगा? 

जवाब : मेरे विचार में सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, डेटा साइंस, इंफॉर्मेशन सिक्योरिटी जैसी नौकरियां हमेशा की तरह लोकप्रिय रहेंगी और शायद इनका महत्व और बढ़ेगा. कुछ नई नौकरियों के अवसर आ सकते हैं जैसे वेलनेस ऑफिसर या एम्प्लोयी एक्सपीरियंस एंड कम्युनिकेशन अफसर क्यूंकि अधिक से अधिक लोग वर्क फ्रॉम होम या वर्क फ्रॉम एनीवेयर कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें :  नौकरी की बात : फोन या कम्प्यूटर की बजाय नौकरी खोजने के लिए एम्प्लायर्स से ईमेल व Linkdin पर करें सीधे बात

सवाल : आर्टिफिशियल इंटेलीजेन्स और बिग डाटा को ध्यान में रखते हुए भविष्य के लिए कौन से बदलाव देखे जा सकते हैं? 

जवाब : डेटा हमेशा निर्णय लेने के लिए महत्वपूर्ण रहा है लेकिन चुनौती है इस डेटा के माध्यम को सही तरीके से उपयोग कर के निर्णय लेना. AI, बिग डेटा और मशीन लर्निंग के साथ प्रासंगिक डेटा बिंदुओं की तलाश करना और तुरंत कार्य करना बहुत आसान हो गया है. कस्टमर एक्सपीरियंस और एम्प्लोयी एक्सपीरियंस में बड़े बदलाव देखे जाएंगे. हम इन गतिविधियों को समझ कर उनके अनुसार तैनाती कर सकते हैं जो ग्राहकों और कर्मचारियों की अधिकतम संतुष्टि का ध्यान रखेंगे. लैग इंडिकेटर से हम एक लीड इंडिकेटर की ओर अग्रसर हैं जो हमारी दुनिया बेहतर बनाना सुनिश्चित करता है.

यह भी पढें : Investment Strategy : नए साल की शुरुआत में निवेश का यह तरीका अपनाएंगे तो होंगे मालामाल, जानें सबकुछ

सवाल : फिनटेक सेक्टर के बारें में बताएं?

जवाब : इस स्पेस में अधिकांश यूनिकॉर्न देखे जाते हैं क्योंकि इसमें अन्वेषण के बहुत ही अच्छे अवसर हैं. फिनटेक प्रौद्योगिकी इनोवेशन और बेसिक संचालन को साथ लाता है. फिनटेक इंडस्ट्री को उत्पादों को विकसित करने के लिए सिर्फ टेक्नोक्रेट्स की जरूरत नहीं है, बल्कि उत्पाद को बेचने के लिए फ्रंट लाइन सेल्स वालों की भी जरूरत है, इसलिए यहां हर स्किल के लिए नौकरी के अवसर मिलते हैं . सॉफ्टवेयर डेवलपर्स और डेटा साइंस विशेषज्ञ की तरह मार्केटिंग और ब्रांडिंग, प्रोडक्ट, ग्राहक अनुभव जैसी भूमिकाएं काफी चलन में आएंगी .

यह भी पढ़ें : नौकरी की बातः मोबाइल फोन की तरह हर वक्त अपग्रेड होती है नौकरी, अप-टू-डेट रहने के लिए ये मंत्र जानना है जरूरी

सवाल : अपनी कंपनी के हाइरिंग प्रोसेस के बारें में बताएं?

जवाब : हायरिंग मैनेजर्स जॉब डिस्क्रिप्शन के साथ वेकेंसी निकलते हैं, जो HR के पास जाता है. HR विभिन्न स्रोतों से प्रोफाइल जैसे कि जॉब पोर्टल, रिक्रूटमेंट कंसल्टेंट्स, एम्प्लोयी रेफरल, सोशल मीडिया और नेटवर्किंग साइट से प्रोफाइल सेलेक्ट करते हैं. एक बार CV मिल जाए तो HR उसे शॉर्टलिस्ट करता है और फिर हायरिंग मैनेजर के साथ साझा करता है. हायरिंग मैनेजर एक इंटरव्यू करते हैं और कुछ मामलों में उनका मूल्यांकन करने के लिए प्रोजेक्ट देते हैं, और यदि शॉर्टलिस्ट किया जाता है, तो हायरिंग मैनेजर के सुपरवाइज़र के साथ HR राउंड के साथ इंटरव्यू के दूसरे राउंड की व्यवस्था की जाती है और अंतिम चयन किया जाता है और फिर ऑफर को रोल आउट किया जाता है. हम जॉब साइट्स जैसे naukri.com, नेटवर्किंग साइट्स जैसे LinkedIn पर भी मौजूद हैं और हमारी खुद की कंपनी का वेबसाइट करियर पेज भी है, जहाँ कोई भी जा सकता है और हमारे बारे में पढ़ सकता है.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज