Home /News /career /

नौकरी की बात: पुरानी कंपनी, बॉस और सहकर्मियों के संपर्क में रहिए, लग सकती है जॉब्स की लॉटरी

नौकरी की बात: पुरानी कंपनी, बॉस और सहकर्मियों के संपर्क में रहिए, लग सकती है जॉब्स की लॉटरी

रिमोट वर्किंग नए दौर का एक नया ट्रेंड है, इसलिए उम्मीदवार इस पर फोकस करें

रिमोट वर्किंग नए दौर का एक नया ट्रेंड है, इसलिए उम्मीदवार इस पर फोकस करें

नौकरी की बात (Noukari Ki Bat) सीरिज में आज डेसीमल टेक्नोलॉजीज (Decimal Technologies) के को-फाउंडर अरविंद नाहटा (Arvind Nahata) से जानिए, फिनटेक सेक्टर (Fintech sector) में नौकरियों के अवसर व इसकी तैयारियों के तरीके...

    नई दिल्ली. कोविड-19 (Covid-19) से देश उबरने लगा है और अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर आने लगी है. लिहाजा, कंपनियों में भर्तियां शुरू हो गई है. अपने युवा पाठकों के लिए न्यूज18 ने देश के टॉप एचआर लीडर (HR Leader) के साथ खास सीरिज “नौकरी की बात” (Noukari ki bat) शुरू की है.
    “नौकरी की बात” की इस सीरिज में डेसीमल टेक्नोलॉजीज (Decimal Technologies) के को-फाउंडर अरविंद नाहटा (Arvind Nahata) ने फिनटेक सेक्टर में नौकरियों के अवसर व इसकी तैयारियों के तरीके बताए. उन्होंने कहा कि नौकरी की प्रतिस्पर्धा में टिके रहने के लिए सभी स्तरों पर सीखना और पुरानी चीजों को छोड़ना बहुत जरूरी है. वे कहते हैं कि जो लोग आईटी सेक्टर में नहीं है, उन युवाओ को अपने पूर्व नियोक्ता यानी की अपनी पूर्व कंपनी के सम्पर्क में रहना चाहिए.
    यह भी पढ़ें :  1.3 लाख करोड़ रुपए का बैड लोन बढ़ेगा, फिर भी उछल रहे बैंकों के शेयर, जानिए वजह

    सवाल : जिन लोगों की महामारी के दौरान नौकरी गई, उन्हें क्या करना चाहिए?
    जवाब : भारत में लॉकडाउन से बेरोजगारी की दर तेजी से बढ़ते हुए चिंताजनक 28 प्रतिशत तक जा पहुंची है. अनुमान है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण करीब 13 करोड़ लोगों की नौकरियां चली गई हैं. 12.2 करोड़ लोगों में से करीब 75 प्रतिशत छोटे व्यापारी और श्रमिक है. आईटी और आईटीईएस उद्योग और कम्पनियां जो ट्रेवल, हॉस्पिटलिटी, एफएमसीजी और क्लोदिंग के क्षेत्र पर निर्भर थी, वे बहुत बुरी तरह प्रभावित हुई हैं. फार्मा, बैंकिंग और हैल्थकेयर में आईटी की मांग पिछले एक वर्ष में बनी हुई थी. जो लोग आईटी से जुड़े हुए नहीं है, उनके लिए स्थितियां आसान नहीं हैं. उन्हें अभी संघर्ष करना है और स्थितियां बेहतर होने का इंतजार करना है. आईटी से जुडे लोगो के लिए यह एक अच्छा अवसर है कि वे खुद की कुशलता बढ़ा कर किसी अन्य क्षेत्र में चले जाएं.
    यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : अगले पांच साल में इस क्षेत्र में होंगे 7.5 करोड़ जॉब्स, बस करनी होगी यह तैयारी

    arvind nahata नौकरी की बात (Noukari Ki Bat)

    डेसीमल टेक्नोलॉजीज (Decimal Technologies) के को-फाउंडर अरविंद नाहटा (Arvind Nahata)

    सवाल : महामारी के बाद से बहुत सारे कोर्स ऑनलाइन उपलब्ध है. अगर कोई इन कोर्स को करता है तो क्या उन्हें कंपनियां काम पर रखेंगी? 
    जवाब : आईटी इंडस्ट्री हमेशा नई स्किल्स की तलाश में रहती है. अभी डाटाबेस और डाटा पाइपलाइन ऑटोमेशन (डाटा साइंस या डाटा एनेलिसिस), डेवऑप्स, एआई और एमएल तथा क्लाउड और कंटेनर सम्बन्धी (कुबरनेटस) से जुडी स्किल्स सबसे ज्यादा मांग में हैं. इनके अलावा प्रोग्रामिक की सामान्य लैंग्वेज (जावा, जावास्क्रप्ट, लाइनेक्स और पाइथन) तो अपनी जगह हैं हीं. महामारी के दौरान आॅनलाइन लर्निंग का प्रचलन बहुत बढ़ा है और कोर्सेज की गुणवत्ता भी बहुत अच्छी हो गई है. इन विशेष स्किल्स में प्रेक्टिकल अनुभव अच्छा है, लेकिन कम्पनियां उन लोगों को ढूंढ रही हैं जिन्होंने थोड़ा समय लगा कर नई स्किल्स को सीखने में निवेश किया है.
    यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : दस साल में 100 करोड़ नौकरियों की स्किल बदल जाएंगी, इसलिए सीखें नई स्किल और करें रि-स्किलिंग

    सवाल : जब मार्केट धीरे-धीरे खुल रहा है तो कहां और कैसे युवाओं को नौकरी की तलाश करनी चाहिए?
    जवाब : जो लोग आईटी सेक्टर में नहीं है, उन युवाओ को अपने पूर्व नियोक्ता के सम्पर्क में रहना चाहिए. इसके साथ ही नौकरियां बताने वाली वेबसाइटों (नौकरी, मॉन्स्टर, इंडीड) को देखते रहना चाहिए. इसके साथ ही सोशल मीडिया (लिंक्डइन, फेसबुक) तथा एलुमनाई ग्रुप्स के सम्पर्क में रहना चाहिए.
    यह भी पढ़ें : नाैकरी की बात : रिक्रूटमेंट में अब ऑटोमेशन का प्रयोग इसलिए रिज्यूमे में सही स्किल सेट लिखने से ज्यादा मिलेंगे नौकरी के मौके

    सवाल : इस कठिन समय में इंटरव्यू के लिए कैसे तैयारी करनी चाहिए? 
    जवाब : नौकरी ढूंढने वाले ऐसे लोग जो सकारात्मक संवाद कर सकें और यह बता सकें कि उन्होंने कोविड के समय का उपयोग तकनीकी या जीवन से जुड़ी नई स्किल्स को सीखने में कैसे व्यतीत किया, वे नौकरी देने वाले संस्थान पर ज्यादा बेहतर प्रभाव छोड़ सकते हैं. नई भर्ती प्रक्रियाओं जैसे वीडियो इंटरव्यू अदि के बारे में अच्छी जानकारी भी उन्हें इंटरव्यू की नई प्रक्रिया को समझने में मदद करेगी.
    यह भी पढ़ें :  नौकरी की बात : सीखने, भूलने और फिर से सीखने के लिए रहें तैयार, जॉब पाने के लिए जानिए ऐसे ही जरूरी मंत्र

    सवाल : क्या कोविड-19 के बाद जॉब देने की प्रक्रिया में बदलाव हुआ है?  

    जवाब : हां, यह प्रक्रिया मानवीय स्तर पर कम और टेक्नोलाॅजी से जुडे़ प्लेटफार्म पर ज्यादा चलेगी.
    सवाल : वर्तमान परिस्थितियों में किस तरह के करियर को अपनाया जा सकता है?  
    जवाब : महामारी के दौरान और इसके बाद अब हर कहीं एक बार फिर डिजिटल होने पर फोकस दिख रहा है. जो भी इसमें शामिल है, उसे जरूर फायदा होगा. इसी तरह दूरस्थ स्थान से काम भी एक ऐसा पहलू है जो वैश्विक महामारी के बाद भी लम्बे समय तक रहेगा. इससे कई परम्परागत कॅरियर्स नौकरियों में बदल जाएंगे, क्योंकि काम करने वालों के पास एक साथ अपनी रूचि के कई क्षेत्रों में काम करने की सुविधा होगी.
    यह भी पढें : सबसे ज्यादा वाशिंग मशीन और डिशवाशर खरीदने के लिए लिया जा रहा है लोन, जानिए लोन लेने की ऐसी ही रोचक वजहें

    सवाल : आर्टिफिशियल इंटेलीजेन्स और बिग डाटा को ध्यान में रखते हुए भविष्य के लिए कौन से बदलाव देखे जा सकते हैं? 
    जवाब : एआई और बिग डाटा कोविड-19 से पहले भी कार्यस्थलों के निर्णय प्रभावित कर रहे थे. अब इसकी गति और बढ़ गई है. काम करने वालों की संख्या बढ़ाने के बजाए कम्पनियां इनकी भारी कटौती करने की तैयारी कर रही हैं. हालांकि मेरे हिसाब से यह अच्छा हो रहा है, क्योंकि अब कम्पनियों को बड़े पैमाने पर फिर से प्रशिक्षण देने होंगे और इससे नौकरियों के ज्यादा अवसर पैदा होंगे.
    यह भी पढें : पत्नी, बेटी, बहन और मां के नाम पर घर खरीदेंगे तो मिलेंगे यह तीन फायदे, जाने सबकुछ

    सवाल : फिनटेक सेक्टर के बारें में बताएं?
    जवाब : फिनटेक सेक्टर, जिसमें डेसीमल टेक्नोलॉजी काम करती है, बहुत तेजी से बढ़ रहा है और कोविड-19 ने इसकी गति और बढ़ा दी है. भारत में चूंकि वित्तीय सेवाएं ज्यादा पहुंच नहीं रखती हैं, इसलिए इस सेक्टर मे बहुत सम्भावनाएं हैं और काफी काम किया जाना है. यह सेक्टर आने वाले दशकों में कई गुना और बढ़ेगा.
    यह भी पढ़ें :  नौकरी की बात : फोन या कम्प्यूटर की बजाय नौकरी खोजने के लिए एम्प्लायर्स से ईमेल व Linkdin पर करें सीधे बात

    सवाल : आप किस प्रकार का कौशल या स्किल चाहते हैं और आप उसका मूल्यांकन कैसे करते हैं?
    जवाब : हम कई तरह के टेक्निकल और नॉन टेक्निकल स्किल्स के लोगों को काम पर लेते हैं. टेक्निकल्स स्किल्स में हम सभी प्रचलित स्किल्स (जो उपर बताई गई हैं) और क्वाटिल एश्योरेंस, प्रोग्राम मैनेजमेंट तथा सॉफ्टवेयर डवलपमेंट स्किल्स के लिए लोगों को लेते हैं. नाॅन टेक्निकल स्किल्स में हम सेल्स, प्री सेल्स, मार्केटिंग, पीपल मैनेजमेंट और एक्जीक्युशन स्किल्स के लिए लोगों को काम पर लेते हैं. यदि आप पहले से नौकरी कर रहे हैं तो कम्पनी के व्यापार के बारे में जानकारी कीजिए और यह देखिए कि आप किस तरह सहयोग कर सकते हैं. अपनी इंडस्ट्री के नए ट्रेंड के अनुसार खुद को फिर से प्रशिक्षित और अपडेट कीजिए.
    यह भी पढें : 31 मार्च तक टैक्स सेविंग के लिए यह विकल्प है सबसे सुरक्षित, मिलेगा गारंटीड रिटर्न 

    सवाल : अपनी कंपनी के हाइरिंग प्रोसेस के बारें में बताएं?
    जवाब : हमारी भर्ती प्रक्रिया में मूल्यांकन के दो तकनीकी चरण होते हैं. इनमें से एक प्रबंधकीय चरण होता है दूसरा एचआर (कल्चरल फिटमेट) चरण होता है. आवेदक हर चैनल (जाॅब पोर्टल, सोशल मीडिया, एम्पलाई रैफरल्स, पुराने कर्मचारियो के नेटवर्क, प्लेसमेंट कंसल्टेंट्स) से लिए जाते हैं. जो भी डेसीमल टेक्नोलाॅजी से जुड़ना चाहता है को इसकी वेबसाइट और लिंक्डइन कम्पनी पेज देखना चाहिए. हम हमेशा ऐसे लोग चाहते हैं जो हमारे साथ आगे बढ़ना चाहते हैं. मूल्यांकन का तरीका इंटरव्यू है और कुछ मामलों में असाइनमेंट से भी किया जाता है. इंडस्ट्री के लिए मैंने जिन टेक्निकल स्किल्स का जिक्र किया है, उनके अलावा डेसीमल टेक्नोलॉजीज में हम यह भी देखना चाहते हैं कि आप प्रोफेशनल और व्यक्तिगत स्तर पर कितना आगे जाने केे लिए तैयार हैं. हम अन्य सब बातों के साथ ही खेल की भावना और संवेदनात्मक बुद्धिमत्ता को भी महत्व देते हैं.
    यह भी पढ़ें : नौकरी की बातः मोबाइल फोन की तरह हर वक्त अपग्रेड होती है नौकरी, अप-टू-डेट रहने के लिए ये मंत्र जानना है जरूरी

    सवाल : आपकी कंपनी में और इस सेक्‍टर में विकास की क्या संभावनाएं हैं?
    जवाब : यह सेक्टर खुद ही आगे बढ़ रहा है, क्योंकि वित्तीय सेवाओं के डिजीटाइजेशन पर बहुत जोर दिया जा रहा है. हमारी कम्पनी ने ही पिछले वर्ष के मुकाबले 40 प्रतिशत की बढोतरी दर्ज की है और पिछले वर्ष हमने हमसे जुड़ने वालों की संख्या में 50 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है.

    Tags: How to be successful in your job and company, How to protect your job, Job, Job and career, Job opportunity, Job Search, Jobs in Corona era, Jobs in india, Jobs news, Naukri ki Baat

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर