नौकरी की बात : अगले पांच साल में इस क्षेत्र में होंगे 7.5 करोड़ जॉब्स, बस करनी होगी यह तैयारी

डिजिटल टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में अगले 2-3 वर्षों में बड़े पैमाने पर हायरिंग होनी है.

डिजिटल टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में अगले 2-3 वर्षों में बड़े पैमाने पर हायरिंग होनी है.

नौकरी की बात सीरिज में आज स्किलसॉफ्ट इंडिया (Skillsoft India) के मैनेजिंग डायरेक्टर कमल दत्ता (Kamal Dutta) से जानिए, स्किल डेवलपमेंट के जरिए डिजिटल टेक्नोलॉजी में नौकरियों के अवसर व इसकी तैयारियों के तरीके...

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 6:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अर्थव्यवस्था की रिकवरी तेजी से हो रही है. इसी के साथ फिर से कंपनियों में भर्तियां शुरू हो गई है. यानी रोजगार के नए मौके खुलने लगे हैं. अपने युवा पाठकों के लिए न्यूज18 ने देश के टॉप एचआर लीडर (HR Leader) के साथ खास सीरिज "नौकरी की बात" (Naukari ki bat) शुरू की है. इस बार स्किलसॉफ्ट इंडिया (Skillsoft India ) के मैनेजिंग डायरेक्टर (Managing Director) कमल दत्ता (Kamal Dutta) से जानिए, स्किल डेवलपमेंट के जरिए डिजिटल टेक्नोलॉजी में नौकरियों के अवसर व इसकी तैयारियों के तरीके.

दत्ता बताते हैं कि वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की सालाना फ्यूचर ऑफ जॉब रिपोर्ट के अनुसार ऑटोमेशन, रोबोटिक्स और एआई बड़े पैमाने पर 7.5 करोड़ नौकरियों की जगह ले लेगा. डेटा एनालिस्ट, डेटा साइंटिस्ट, एआई और एमएल स्पेशलिस्ट, प्रोसेस ऑटोमेशन स्पेशलिस्ट, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन स्पेशलिस्ट, सूचना सुरक्षा विशेषज्ञ और डिजिटल टेक्नोलॉजी में यह नौकरियां मिलेंगी.
यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : दस साल में 100 करोड़ नौकरियों की स्किल बदल जाएंगी, इसलिए सीखें नई स्किल और करें रि-स्किलिंग

सवाल : जिन लोगों की महामारी के दौरान नौकरी गई, उन्हें क्या करना चाहिए?
जवाब : दुर्भाग्य से सभी वर्टिकल्स और सभी स्तरों पर कामकाजी पेशेवरों को अपनी नौकरी खोनी पड़ी है. मेरी व्यक्तिगत सलाह यह होगी कि वे घबराएं नहीं, अपनी क्षमताओं पर विश्वास करें, नेटवर्किंग के लिए समय का सदुपयोग करें, प्रोफेशनल सोशल मीडिया एंगेजमेंट्स सुधारें, इंडस्ट्री लीडर्स से मेंटरशिप हासिल करें. अपने सीवी को बेहतर बनाने के लिए अपने स्किलसेट में सुधार लाएं. अंत में, उन्हें अधीर नहीं होना चाहिए और सही अवसर की प्रतीक्षा करनी चाहिए, जो कि उन्हें निश्चित तौर पर मिलेगी.


यह भी पढ़ें : नाैकरी की बात : रिक्रूटमेंट में अब ऑटोमेशन का प्रयोग इसलिए रिज्यूमे में सही स्किल सेट लिखने से ज्यादा मिलेंगे नौकरी के मौके

सवाल : क्या उन्हें नई स्किल विकसित करने और बढ़ाने की आवश्यकता है? यदि हां, तो वे इसे कैसे कर सकते हैं?
जवाब : डिजिटल टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में अगले 2-3 वर्षों में बड़े पैमाने पर हायरिंग होनी है और हमें वहां टैलेंट की कमी दिखाई देगी. इस वजह से टैलेंट के लिए बहुत ज्यादा मांग होगी. उम्मीदवार का स्किल डेवलपमेंट पर काम करना निश्चित रूप से उनकी मदद करेगा. जब व्याख्यान पढ़ने या देखने से बौद्धिक गतिविधि के रूप में सीखने की बात आती है, तो इंटरनेट एक खजाना है. अगर सही ढंग से उपयोग किया जाए तो आपका स्मार्टफोन एन्हांसमेंट का बेहतरीन डिजिटल टूल हो सकता है. पुस्तकें, वीडियो, पॉडकास्ट, ऑनलाइन कोर्सेस के तौर पर व्यक्तियों के लिए कई संसाधन उपलब्ध हैं. इसके अलावा, मुझे लगता है कि किसी को अधिक हार्ड टेक्निकल स्किल्स जोड़ना चाहिए, लेकिन सॉफ्ट स्किल्स भी विकसित करना चाहिए जो नौकरी पाने और इसे बनाने रखने, दोनों में महत्वपूर्ण हो सकती हैं.

Kamal Dutta
स्किलसॉफ्ट इंडिया (Skillsoft India) के मैनेजिंग डायरेक्टर कमल दत्ता (Kamal Dutta)


सवाल : महामारी के बाद से बहुत सारे कोर्स ऑनलाइन उपलब्ध है. अगर कोई इन कोर्स को करता है तो क्या उन्हें कंपनियां काम पर रखेंगी?
जवाब : कंपनियां हमेशा उन व्यक्तियों की तलाश में रहते हैं, जो वर्तमान कौशल, ज्ञान और उद्योग के बारे में अपडेट हैं. मुझे लगता है कि न केवल कौशल सीखने के लिए उपलब्ध संसाधनों का उपयोग करना चाहिए, बल्कि एक गिग की तरह उनका इस्तेेमाल करने और लगातार सीखने के तरीके खोजने चाहिए अन्यथा यह सिर्फ कागजी ज्ञान बनकर रह जाता है.
यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : आवेदन करने से पहले जानें कंपनी आपको पेशेवर रूप से बढ़ने में कैसे मदद करेगी

सवाल : जब मार्केट धीरे-धीरे खुल रहा है तो कहां और कैसे युवाओं को नौकरी की तलाश करनी चाहिए?
जवाब : नौकरियां खोजने के लिए प्लेटफ़ॉर्म पहले से ही हैं. मायने यह रखता है कि नियोक्ता जो तलाश रहे हैं क्या वे उसे उनके सामने ला सकते हैं और मुझे लगता है कि संचार, कार्यकारी उपस्थिति, लेखन क्षमताओं जैसे सॉफ्ट स्किल का चयन बेहद महत्वपूर्ण है.
सवाल : क्या कोविड-19 के बाद जॉब देने की प्रक्रिया में बदलाव हुआ है?
जवाब : महामारी के दौरान नियुक्तियां डिजिटल में शिफ्ट हो गई. एचआर पेशेवर ज़ूम जैसे डिवाइस का उपयोग करके ऑनलाइन इंटरव्यू कर रहे थे और यहां तक कि पारंपरिक ऑन-बोर्डिंग प्रक्रिया को वर्चुअल बना दिया गया है. इसलिए हां, नए उम्मीदवारों का उपयोग एआई और बिग डेटा के साथ किया जाएगा ताकि चुनिंदा उम्मीदवारों की पहचान की जा सके, लेकिन मूल रूप से कोर पुराना जैसा ही रहेगा.
सवाल : इस कठिन समय में इंटरव्यू के लिए कैसे तैयारी करनी चाहिए?
जवाब : उम्मीदवार को उद्योग से जुड़ा विशिष्ट कौशल प्राप्त करने के लिए खुद की अप-स्किलिंग और री-स्किलिंग करते रहना है. इसके लिए विभिन्न डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म का इस्तेमाल करें. इनसे आप सर्टिफिकेशन भी अर्जित कर सकते हैं. साक्षात्कार की तैयारी कंपनी के लक्ष्यों पर होमवर्क करने, वेब पर उसके बारे में पढ़ने, और उसी की तैयारी करने सहित मेंटर्स या कोचेस से मदद लेने की आवश्यकता होगी.
यह भी पढ़ें :  नौकरी की बात : फोन या कम्प्यूटर की बजाय नौकरी खोजने के लिए एम्प्लायर्स से ईमेल व Linkdin पर करें सीधे बात

सवाल : वर्तमान परिस्थितियों में किस तरह के करियर को अपनाया जा सकता है?
जवाब : मौजूदा कुछ नौकरियां अगले पांच वर्षों में चलन से बाहर हो जाएंगी. टेक्नोलॉजी में सुधार के कारण कंपनियां अपने कर्मचारियों की संख्या को कम करने के लिए आगे बढ़ेंगे. वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की सालाना फ्यूचर ऑफ जॉब रिपोर्ट के अनुसार ऑटोमेशन, रोबोटिक्स और एआई बड़े पैमाने पर 7.5 करोड़ नौकरियों की जगह ले लेगा. डेटा एनालिस्ट, डेटा साइंटिस्ट, एआई और एमएल स्पेशलिस्ट, प्रोसेस ऑटोमेशन स्पेशलिस्ट, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन स्पेशलिस्ट, सूचना सुरक्षा विशेषज्ञ और डिजिटल टेक्नोलॉजी से जुड़ी नौकरियां की मांग होगी. फंक्शनल रोल्स, मार्केटिंग और सेल्स रोल्स और अन्य ऑपरेशनल रोल्स में भी मांग बनी रहेंगी.
सवाल : आर्टिफिशियल इंटेलीजेन्स और बिग डाटा को ध्यान में रखते हुए भविष्य के लिए कौन से बदलाव देखे जा सकते हैं?
जवाब : महामारी से पहले भी एआई, एमएल और डेटा एनालिटिक्स थे, लेकिन पिछले एक साल में उनको अपनाने की गति में काफी वृद्धि हुई है. बिग डेटा सब कुछ बदल देता है और हर व्यवसाय अब एक सॉफ्टवेयर बन रहा है.
यह भी पढ़ें : नौकरी की बातः मोबाइल फोन की तरह हर वक्त अपग्रेड होती है नौकरी, अप-टू-डेट रहने के लिए ये मंत्र जानना है जरूरी

सवाल : अपनी कंपनी के हाइरिंग प्रोसेस के बारें में बताएं?
जवाब : नौकरी चाहने वाले हमसे https://www.skillsoft.com/about/careers संपर्क पर कर सकते हैं.
सवाल : आपकी कंपनी में और इस सेक्‍टर में विकास की क्या संभावनाएं हैं?
जवाब : स्किलसॉफ्ट में हमारा मानना है कि हर किसी में अद्भुत होने की क्षमता है. हम सभी "मेकिंग वर्क मैटर!" पर काम कर रहे हैं. इमर्सिव लर्निंग के माध्यम से, हम आपको अजेय बनाते हैं.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज