NEET 2020: एनटीए ने जारी किया प्रोटोकॉल, टचलेस तरीके से होगी परीक्षा, रखना होगा इन बातों का ध्यान

NEET 2020: एनटीए ने जारी किया प्रोटोकॉल, टचलेस तरीके से होगी परीक्षा, रखना होगा इन बातों का ध्यान
NTA ने परीक्षा के लिए गाइडलाइन्स जारी कर दी हैं.

NEET 2020: परीक्षा केंद्र में अंदर जाने के पहले हर कैंडीडेट की थर्मल स्कैनिंग की जाएगी और जिस भी कैंडीडेट का तापमान औसत से ज्यादा मिलेगा उसे अलग आइसोलेशन रूम में रखा जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2020, 11:25 AM IST
  • Share this:
NEET 2020: जैसे जैसे नीट परीक्षा का समय पास आ रहा है एनटीए एक एक करके सारी तैयारियां शुरू कर दी हैं. छात्रों की सुरक्षा के लिए एनटीए ने प्रोटोकॉल जारी किया है ताकि 15 लाख छात्रों के स्वास्थ्या को किसी तरह का नुकसान न हो. सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने के लिए कैंडीडेटस् को अलग अलग रिपोर्टिंग टाइम दिया गया है. साथ ही अंदर जाने के पहले हर कैंडीडेट की थर्मल स्कैनिंग की जाएगी और जिस भी कैंडीडेट का तापमान औसत से ज्यादा मिलेगा उसे अलग आइसोलेशन रूम में रखा जाएगा.

कैंडीडेट्स अपने साथ ला सकेंगे ये सामान
- चेहरे पर मास्क
-छोटा सैनिटाइज़र
- हाथों में ग्लब्स
- एडमिट कार्ड व आईडी जैसे परीक्षा संबंधी डॉक्युमेंट्स



कैंडीडेट्स फ्रिस्किंग
- बॉडी पैट फ्रिस्किंग की अनुमति नहीं होगी.
- बॉडी मेटल डिटेक्टर से सभी कैंडीडेट्स की फ्रिस्किंग जरूरी होगी.
- फ्रिस्किंग करने वाला स्टाफ इस बात का ध्यान रखेगा कि मेटल डिटेक्टर किसी कैंडीडेट के संपर्क में न आए.
- परीक्षा कक्षा और परीक्षा केंद्र पर ब्लूटूथ और वाईफाई सिग्नल की उपस्थिति की भी जांच की जाएगी.

ये भी पढ़ेंः


ऐसे होगा डॉक्युमेंट वेरिफिकेशन
परीक्षा कक्ष में करीब 3 फुट चौड़ी मेज उपलब्ध कराई जाएगी. परीक्षक बिना टच किए कैंडीडेट का डॉक्युमेंट चेक करेगा. सिग्नेचर के साथ मैनुअल अटेंडेंस (ग्लब्स पहने हुए) ली जाएगी. अंगूठे का निशान नहीं लिया जाएगा. परीक्षकों की कक्ष में घूमने की प्रक्रिया को कम से कम रखा जाएगा. परीक्षा कक्ष में सेंटर की तरफ से पानी उपलब्ध नहीं कराया जाएगा. कैंडीडेट्स को पर्सनल वॉटर बॉटल लाना होगा. एनटीए की गाइडलाइन्स के मुताबिक मास्क और ग्लब्स को डस्टबिन में ही डालना होगा. इसके लिए एनटीए ने कई टॉप मेडिकल प्रोफेशनल्स से राय ली है ताकि एक बेहतरीन गाइडलाइन तैयार की जा सके. एनटीए की कोशिश है कि पूरी परीक्षा को टचलेस मैनर में कराया जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज