• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • NTA ने JEE और NEET में आब्जेक्शन फीस के नाम पर कमाए 1.38 करोड़ रुपये

NTA ने JEE और NEET में आब्जेक्शन फीस के नाम पर कमाए 1.38 करोड़ रुपये

जानकारी: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने साल 2019 में आयोजित दो परीक्षाओं जेईई और नीट परीक्षा में आपत्ति दर्द कराने की फीस के नाम पर 138 करोड़ रुपये की कमाई की.

जानकारी: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने साल 2019 में आयोजित दो परीक्षाओं जेईई और नीट परीक्षा में आपत्ति दर्द कराने की फीस के नाम पर 138 करोड़ रुपये की कमाई की.

जानकारी: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने साल 2019 में आयोजित दो परीक्षाओं जेईई और नीट परीक्षा में आपत्ति दर्द कराने की फीस के नाम पर 138 करोड़ रुपये की कमाई की.

  • Share this:
    नई दिल्ली. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने साल 2019 में नीट और जेईई एग्जाम की आंसर की आब्जेक्शन फीस के नाम पर 1.38 करोड़ रुपये की कमाई की है. यह राशि जेईई मेंस और नीट परीक्षा से एकत्र की गई है. बात दें कि इस साल एनटीए डीयू और जेएनयू के एग्जाम भी आयोजित करेगा. इसके साथ ही एनटीए यूजीसी नेट की परीक्षा आयोजित करता है. कुल शुल्क में से, 77,55,000 रुपये जेईई मेन से और 61,22,000 रुपये एनईईटी से एकत्र किए गए हैं.

    इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के मुताबिक एनटीए आपत्ति जताने पर प्रत्येक आपत्ति पर फीस के रूप में 1000 रुपये लेता है. इंडियन एक्सप्रेस को आरटीआई के जवाब में यह जानकारी मिली है. जानकारी के अनुसार साल 2019 में जेईई मेंस में 7755 लोगों ने आपत्ति दईज कराई थी. यह आंकड़े जनवरी और अप्रैल सत्र के हैं. वहीं नीट यूजी 2019 में 6122 आपत्तियां प्राप्त हुई थीं.

    एक हजार रुपये प्रति सवाल के हिसाब से जेईई मेन्स से 77.55 लाख रुपये आपत्ति फीस मिली. वहीं नीट 2019 में 61.22 लाख रुपये आपत्ति फीस मिली थी. कुल मिलाकर 1,38,77,000 रुपये फीस वसूली गई थी. साल 2019 में नीट में कुल 15,19375 उम्मीदवारों ने नामंकन किया था. इसमें सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों की 1400 रुपये फीस थी. वहीं आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 750 रुपये फीस रखी गई थी. साल 2019 में जेईई मेंन्स में 18,65,063 उम्मीदवारों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया था. यह आकंड़े जनवरी और अप्रैल दोनों सत्र के हैं. एनटीए ने यह जानकारी आरटीआई के जवाब में दी.

    महिलाओं और आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों से एकत्र शुल्क 250 रुपये और अनारक्षित श्रेणी के पुरुषों (ओबीसी-क्रीमी लेयर सहित) के लिए शुल्क 500 रुपये है. विदेशी उम्मीदवारों के लिए पुरुषों के लिए शुल्क 2000 रुपये और महिलाओं के लिए 1000 रुपये है. अभ्यर्थी दो परीक्षाओं के लिए भी आवेदन करते हैं और ऐसा करने पर आरक्षित वर्ग और महिलाओं के लिए शुल्क 450 रुपये हो जाता है और समान अनारक्षित श्रेणी के पुरुषों की संख्या 900 रुपये है. विदेशी उम्मीदवारों के लिए, शुल्क महिलाओं और आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 1500 रुपये और 300 रुपये के लिए है.

    ये भी पढ़ें- यूपी बोर्ड के पाठ्यक्रम में हुए बदलाव, मार्कोपोलो की जगह पढ़ाई जाएगी रविंद्रनाथ टैगोर की ये कहानी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज