Home /News /career /

केंद्रीय सुरक्षाबलों के 84 हजार पद खाली, जल्द निकलने वाली हैं बंपर वैकेंसी

केंद्रीय सुरक्षाबलों के 84 हजार पद खाली, जल्द निकलने वाली हैं बंपर वैकेंसी

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के विभिन्न विंग में करीब 84 हजार पद खाली हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के विभिन्न विंग में करीब 84 हजार पद खाली हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

लोकसभा में एक लिखित प्रश्न के जवाब में गृह मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि रिटायरमेंट, स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति और शहादत के कारण वैकेंसी लगातार बढ़ती रही है.

    केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के विभिन्न विंग में करीब 84 हजार पद खाली हैं. सरकार ने मंगलवार को लोकसभा में यह जानकारी दी. लोकसभा में एक लिखित प्रश्न के जवाब में गृह मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि रिटायरमेंट, स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति और शहादत के कारण वैकेंसी लगातार बढ़ती रही है.

    विभिन्न ग्रेडों के तहत औसतन 10 फीसदी पद हर साल खाली होते हैं और इन रिक्तियों को भरने के लिए एक सतत प्रक्रिया चलती रहती है. वर्तमान में 84,037 पद खाली हैं.

    इन खाली पदों पर बहाली के लिए सरकार जल्द ही बड़ा कदम उठाएगी. नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए आने वाले समय में यह एक बड़ा मौका होगा.

    यहां खाली हैं पद 

    बता दें कि केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के अंतर्गत केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ), सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी), भारत-तिब्बत सीमा बल (आईटीबीपी) और असम राइफल्स में ये वैकेंसी हैं.

    कहां कितने पद हैं खाली

    सीआरपीएफ- 22, 980 पद
    बीएसएफ - 21, 465 पद
    एसएसबी - 18,102 पद
    सीआईएसएफ- 10,415 पद
    आईटीबीपी - 6, 643 पद
    असम राइफल्स- 4, 432

    बता दें कि 2017 में कांस्टेबल के 57 हजार 268 और 2018 में 58, 373 पदों पर भर्ती की गई.

    ये भी पढ़ें: संस्‍कृत यूनिवर्स‍िटी में श‍िक्षक के 800 पद खाली: HRD मंत्री

    Tags: CRPF, Indian army, Job and career, Lok sabha, Modi government

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर