बिना अनुमति वाले संस्थान से किया है D.Ed-B.Ed-M.Ed का कोर्स, मिलेगी मान्यता!

NCTE (संशोधन) विधेयक के कानून बनने से बीएड, डीएड, एमएड तथा कई अन्य पाठ्यक्रमों की पढ़ाई कर चुके उन विद्यार्थियों को राहत मिलेगी जिनके संस्थान के पाठ्यक्रमों को राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) से मान्यता प्राप्त नहीं थी.

News18Hindi
Updated: January 4, 2019, 12:24 PM IST
बिना अनुमति वाले संस्थान से किया है D.Ed-B.Ed-M.Ed का कोर्स, मिलेगी मान्यता!
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: January 4, 2019, 12:24 PM IST
लोकसभा के बाद राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद यानी NCTE (संशोधन) विधेयक को राज्यसभा में भी पास कर दिया गया. देश में शिक्षा का गुणवत्ता स्तर बढ़ाने के लिए शिक्षकों को बेहतर प्रशिक्षण दिलाने की आवश्यकता को स्वीकार करते हुए मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को कहा कि देश के 20 विश्वविद्यालयों सहित विभिन्न शिक्षण संस्थानों में बीएड सहित शिक्षण प्रशिक्षण की विभिन्न डिग्रियों को मान्यता प्रदान करने से छात्रों को लाभ मिलेगा.

ये भी पढ़ें- अब टीचर बनने के लिए B.Ed-D.EL.Ed की जगह करना होगा ये कोर्स, NCTE ने मांगे आवेदन

जावड़ेकर ने राज्यसभा में राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद यानी NCTE (संशोधन) विधेयक पर हुई चर्चा के जवाब में यह बात कही. उन्होंने कहा कि इसी मकसद से यह विधेयक लाया गया है. मंत्री के जवाब के बाद उच्च सदन ने विपक्ष द्वारा लाये गये संशोधनों को नकारते हुए इस विधेयक को ध्वनि मत से पारित कर दिया. लोकसभा इस पहले ही पारित कर चुकी है.



ये भी पढ़ें- अब B.Ed पास भी बन सकेंगे Primary Teacher, NCTE ने बदले नियम

इस विधेयक के कानून बनने से बीएड, डीएड, एमएड तथा कई अन्य पाठ्यक्रमों की पढ़ाई कर चुके उन विद्यार्थियों को राहत मिलेगी जिनके संस्थान के पाठ्यक्रमों को राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) से मान्यता प्राप्त नहीं थी. इससे पहले जावड़ेकर ने कहा कि देश भर में लगभग दस हजार बीएड डिग्रीधारकों की डिग्री अमान्य घोषित किये जाने के संकट से बचाने के लिये कानून में संशोधन का प्रस्ताव किया गया है.

ये भी पढ़ें- हिंदी मीडियम' वाले पास नहीं कर पा रहे UPSC के एग्जाम, 2018 में केवल 8 हुए सफल

जावड़ेकर ने कहा कि सरकार बीएड को पांच साल का समन्वित पाठ्यक्रम बनाने जा रही है. उन्होंने कहा कि 2020 से देश में समन्वित बीएड पाठ्यक्रम के लिए पंजीयन कराया जाएगा. इससे पहले चर्चा में भाग लेते हुए विभिन्न दलों के सदस्यों ने शिक्षा के गिरते स्तर पर चिंता जताते हुए कहा कि सरकार को निजी शिक्षण संस्थानों पर भी लगाम कसनी चाहिए.
Loading...

(एजेंसी इनपुट्स के साथ)

सरकारी नौकरियों की दूसरी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...