जिहादी आतंकवाद के प्रश्न को लेकर सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय ने माफी मांगी

ऑनलाइन परीक्षा में इस बारे में बहु-वैकल्पिक प्रश्न पूछा गया था.
ऑनलाइन परीक्षा में इस बारे में बहु-वैकल्पिक प्रश्न पूछा गया था.

कुलपति ने कहा, 'विवाद न बढ़े, इसलिये हमने माफीनामा जारी किया है क्योंकि हमारे प्रश्नपत्र तैयार करने के स्तर पर कुछ त्रुटियां होने की संभावना है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 4:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय (एसपीपीयू) ने बी-कॉम अंतिम वर्ष की परीक्षा में 'जिहादी आतंकवाद' के बारे में एक प्रश्न को लेकर माफीनामा जारी किया है. रक्षा बजट से संबंधित विश्वविद्यालय के एक वैकल्पिक पाठ्यक्रम की ऑनलाइन परीक्षा में इस बारे में बहु-वैकल्पिक प्रश्न पूछा गया था.

जिहादी आतंकवाद के प्रमुख कारण
सवाल में 'जिहादी आतंकवाद के प्रमुख कारणों' के बारे में पूछा गया था जिसके बहु-वैकल्पिक उत्तरों में 'वैश्वीकरण, 'हथियारों का प्रसार' और 'इस्लामी चरमपंथ के नाम पर हिंसा का इस्तेमाल' दिए गए थे.'

ये भी पढ़ें-
राजस्थान लोक सेवा आयोग भर्ती 2020: राजस्थान में योग और नेचुरोपैथी अधिकारी की वैकेंसी


IBPS SO 2021: बैंकों में निकली स्पेशलिस्ट ऑफिसर की भर्ती, जान लें लास्ट डेट

विवाद न बढ़े, इसलिये माफीनामा जारी किया है 
कुलपति डॉक्टर नितिन करमालकर ने बुधवार को कहा कि कुछ लोगों ने सवाल पर आपत्ति जताई और इस मुद्दे को सोशल मीडिया पर उठाया है. उन्होंने कहा, 'विवाद न बढ़े, इसलिये हमने माफीनामा जारी किया है क्योंकि हमारे प्रश्नपत्र तैयार करने के स्तर पर कुछ त्रुटियां होने की संभावना है.' उन्होंने कहा कि संबंधित अधिकारियों से इस संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज