पंजाब सरकार ने दी PhD और PG टेक्निकल के छात्रों के लिए इंस्टिट्यूट्स खोलने की इजाजत

21 सितंबर से उच्च शिक्षण संस्थानों को खोलने की अनुमति दे दी.
21 सितंबर से उच्च शिक्षण संस्थानों को खोलने की अनुमति दे दी.

केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा कोरोना वायरस लॉकडाउन के मौजूदा चरण के लिये जारी निर्देशों का पालन करते हुए यह अनुमति दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 12:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पंजाब सरकार ने पीएचडी, टेक्निकल तथा पेशेवरों पाठ्यक्रमों में स्नातकोत्तर की पढ़ाई कर रहे छात्रों के लिये 21 सितंबर से उच्च शिक्षण संस्थानों को खोलने की अनुमति दे दी. हालांकि राज्य में स्कूल, कॉलेज और कोचिंग केन्द्र बंद रहेंगे.

शारीरिक दूरी के नियमों का पालन
केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा कोरोना वायरस लॉकडाउन के मौजूदा चरण के लिये जारी निर्देशों का पालन करते हुए यह अनुमति दी गई है. विशेष मुख्य सचिव (गृह) सतीश चंद्र द्वारा जारी विस्तृत दिशा-निर्देशों के अनुसार शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए 'ओपन एयर थियेटरों' के संचालन की अनुमति भी दी गई है.

4.0 के दिशा-निर्देशों के मुताबिक खुलेंगे स्कूल
इसके अलावा अन्य राज्यों में स्कूल, कॉलेज और कोचिंग केन्द्र खुलने की बात करें तो बहुत से राज्य स्वैच्छिक आधार पर, अनलॉक 4.0 के दिशा-निर्देशों के मुताबिक गाइडेंस के लिए स्कूल खोलने की इजाजत दे चुके हैं.



हिमाचल प्रदेश में स्कूल खोले जाने को लेकर अपडेट
हिमाचल प्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के कारण लगभग छह महीने तक बंद रहने के बाद सोमवार से कक्षा नौ से 12वीं तक के स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला किया है. स्कूल 50 प्रतिशत शिक्षक, गैर-शिक्षण कर्मचारी और कक्षा नौ से कक्षा 12वीं तक के 50 प्रतिशत छात्रों की उपस्थिति में खोले जाएंगे.

कर्नाटक में स्कूल खोले जाने को लेकर अपडेट
कर्नाटक में स्कूल और प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज 21 सितंबर से खुलेंगे लेकिन नियमित कक्षाएं नहीं होंगी. छात्र अपनी पढ़ाई से संबंधित दुविधाओं को दूर करने के लिए स्कूल आकर शिक्षकों से मिल सकेंगे.

ये भी पढ़ें-
दिल्ली HC का सरकार को निर्देश, DU प्रोफेसरों की पेंडिंग सैलरी का करे रिव्यू
ई-रिक्शा ड्राइवर का बेटा लंदन के ballet school के लिए ‘क्राउडफंड’ से जुटा रहा फीस

जम्मू और कश्मीर में स्कूल 
जम्मू और कश्मीर में स्कूल सोमवार 21 सितंबर से स्वैच्छिक आधार पर 4.0 दिशानिर्देशों के अनुसार फिर से खुलेंगे.  स्कूल कर्मचारियों और छात्रों की 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ खुलेंगे. छात्रों की उपस्थिति उनके माता-पिता से लिखित सहमति के साथ होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज