4000 से ज्यादा हेल्थ स्टाफ की भर्ती, पंजाब मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट लेगा एग्जाम

4000 से ज्यादा हेल्थ स्टाफ की भर्ती, पंजाब मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट लेगा एग्जाम
पंजाब सरकार ने डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के 4,000 से अधिक पदों को मंजूरी दी है.

प्रवक्ता ने कहा, "बाबा फरीद यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज के कुलपति को इन परीक्षाओं को जल्द से जल्द आयोजित करने के लिए कहा गया है."

  • Share this:
पंजाब के चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान विभाग (Department of Medical Education and Research) ने रविवार को कहा कि डॉक्टरों और नर्सों सहित 4,000 से अधिक स्वास्थ्य कर्मचारियों की भर्ती के लिए परीक्षा आयोजित की जाएगी. आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा, मौजूदा सत्र के लिए इसके विभिन्न पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी.

पंजाब सरकार ने डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के 4,000 से अधिक पदों को मंजूरी दी है. ये 4000 पोस्ट तकनीशियन, स्टाफ नर्स, फार्मासिस्ट, ophthalmic officers, चिकित्सा / मानसिक सामाजिक कार्यकर्ता (medical/psychiatric social workers), ऑपरेशन थियेटर सहायक इत्यादि के लिए है.

COVID-19 महामारी के कारण, मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ की भर्ती की जिम्मेदारी बाबा फरीद यूनिवर्सिटी ऑफ़ हेल्थ साइंसेज, फरीदकोट को दी गई है. अधिकारी ने कहा, विश्वविद्यालय इन पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा आयोजित करेगा. उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय ने स्वास्थ्य विज्ञान (health sciences) से संबंधित विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए परीक्षाओं का शेड्यूल पहले ही जारी कर दिया है.



प्रवक्ता ने कहा, "बाबा फरीद यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज के कुलपति को इन परीक्षाओं को जल्द से जल्द आयोजित करने के लिए कहा गया है."
राज्य के उच्च शिक्षा विभाग (state’s higher education department) ने अपने पत्र में पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि COVID के कारण परीक्षा आयोजित न करने का निर्देश चिकित्सा शिक्षा विभाग (medical education department) पर लागू नहीं है.

ये भी पढ़े
बड़ी खबर : यूपी में आज से खुले स्कूल, इसलिए लिया गया फैसला, जानिए पूरी डिटेल
Air India Recruitment 2020: 1.5 लाख तक सैलरी, 22 जुलाई से पहले करें अप्लाई

मेडिकल स्टाफ भर्ती के अलावा, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शनिवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर राज्य में विश्वविद्यालय और कॉलेज की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं. सिंह ने अपनी साप्ताहिक 'आस्क कैप्टन' फेसबुक लाइव में ऐलान किया कि विद्यार्थियों को पिछले साल के परीक्षा परिणाम के आधार पर प्रमोट किया जाएगा और उनके पास विकल्प होगा कि वे बाद में इम्तिहान दे लें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading