पंजाब में 9वीं से 12वीं के छात्रों को पेरेंट्स की लिखित सहमति से स्कूल आने की इजाजत

कक्षा में बच्चे, परिजन और शिक्षक साथ-साथ (सांकेतिक तस्वीर)
कक्षा में बच्चे, परिजन और शिक्षक साथ-साथ (सांकेतिक तस्वीर)

छात्रों को शिक्षकों का मार्गदर्शन लेने के वास्ते स्कूल जाने के लिए माता-पिता या अभिभावक से लिखित सहमति की जरूरत होगी. यह व्यवस्था 21 सितंबर से लागू होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 5:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पंजाब सरकार ने रविवार को निषिद्ध क्षेत्रों के बाहर रहने वाले कक्षा नौवीं से 12वीं तक के छात्रों को स्वेच्छा से स्कूल जाकर शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने की इजाजत दे दी. एक सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा अनलॉक चार के लिए जारी दिशा-निर्देशों के तहत यह फैसला लिया लिया गया है.

व्यवस्था 21 सितंबर से लागू 
विज्ञप्ति में बताया गया है कि केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा आठ सितंबर को जारी मानक संचालन प्रक्रिया के तहत छात्रों को शिक्षकों का मार्गदर्शन लेने के वास्ते स्कूल जाने के लिए माता-पिता या अभिभावक से लिखित सहमति की जरूरत होगी. यह व्यवस्था 21 सितंबर से लागू है.

राज्य के गृह विभाग ने विस्तृत निर्देश जारी किए
विज्ञप्ति में बताया गया है कि राज्य के गृह विभाग ने राष्ट्रीय कौशल प्रशिक्षण संस्थानों, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई), राष्ट्रीय कौशल विकास निगम या राज्य कौशल विकास मिशनों या केंद्र या राज्य सरकारों के अन्य मंत्रालयों में पंजीकृत लघु प्रशिक्षण केंद्रों में कौशल या उद्यमिता प्रशिक्षण की अनुमति देने के लिए विस्तृत निर्देश जारी किए हैं.



जम्मू कश्मीर के जम्मू क्षेत्र में सभी सरकारी एवं निजी स्कूल खुले
इसके अलावा केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर के जम्मू क्षेत्र में सभी सरकारी एवं निजी स्कूल छह महीने बाद सोमवार को आंशिक रूप से खुले. कोरोना वायरस महामारी के कारण स्कूल लंबे समय से बंद थे. सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी . जम्मू संभाग की स्कूल शिक्षा निदेशक अनुराधा गुप्ता ने पीटीआई-भाषा को बताया कि छात्रों की सुरक्षा के लिये सभी आवश्यक इंतजाम किये गये हैं .

ये भी पढ़ें-
NEP लागू कर के जम्मू-कश्मीर को नॉलेज-हब बनाएं: राष्ट्रपती कोविंद
Kanpur University Result 2020: CSJMU एंट्रेंस एग्जाम रिजल्ट kanpuruniversity.org पर जाारी

छात्रों की उपस्थिति स्वैच्छिक होगी
उन्होंने हालांकि, यह भी कहा कि छात्रों की उपस्थिति स्वैच्छिक होगी और वह अपने माता-पिता की सहमति से स्कूल आयेंगे . अनुराधा ने बताया, 'हमलोग आंशिक रूप से स्कूलों को खोल रहे हैं . निषिद्ध क्षेत्र के बाहर के स्कूल खोले जायेंगे . ये स्कूल नौवीं कक्षा से 12 कक्षा के छात्रों के लिये सरकार के दिशा निर्देशों के साथ सोमवार से खुलेंगे .'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज