Rajasthan Board 12th Results 2020: मजदूर के बेटे को मिले 99.2 फीसदी अंक, बनना चाहते हैं आईएएस

Rajasthan Board 12th Results 2020: मजदूर के बेटे को मिले 99.2 फीसदी अंक, बनना चाहते हैं आईएएस
राजस्थान बोर्ड की 12वीं आर्ट्स की परीक्षा में प्रकाश ने रैंक हासिल की है.

Rajasthan Board Results 2020: प्रकाश बाड़मेर जिले के लोहरवा गांव के रहने वाले हैं. वे आईएएस बनना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि 'मैं ये अपने लिए नहीं करना चाह रहा हूं बल्कि मेरे जैसे अन्य लोगों के लिए बनना चाहता हूं. प्रकाश के पिता चन्ना राम एक कॉन्सट्रक्शन वर्कर यानी मजदूर हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. जहां हर कोई प्रकाश फुलवरिया (Prakash Fulwariya) को राजस्थान बोर्ड की 12वीं आर्ट्स (Rajasthan Board Arts Results 2020) की परीक्षा में रैंक हासिल करने के लिए बधाई दे रहा था वहीं प्रकाश बिल्कुल खुश नहीं थे. वे थोड़ा असंतुष्ट थे क्योंकि उन्हें सभी विषयों में 100 में से 100 अंक नहीं मिले थे. मंगलवार को जारी किए गए रिजल्ट में प्रकाश ने रैंक हासिल की है. इस परीक्षा में प्रकाश को 99.2 फीसदी अंक मिले हैं. प्रकाश को कुल 496 अंक मिले हैं. उन्होंने कहा कि मैंने काफी मेहनत किया था लेकिन उम्मीद के मुताबिक रिजल्ट नहीं मिला क्योंकि मैंने सोचा था कि हर विषय में 100 में से 100 अंक मिलेंगे.

राजस्थान बोर्ड रिजल्ट से जुड़ी जानकारी सबसे पहले पाने के लिए यहां रजिस्टर करें-





आईएएस बनना चाहते हैं प्रकाश
प्रकाश बाड़मेर जिले के लोहरवा गांव के रहने वाले हैं. वे आईएएस बनना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि 'मैं ये अपने लिए नहीं करना चाह रहा हूं बल्कि मेरे जैसे अन्य लोगों के लिए बनना चाहता हूं. प्रकाश के पिता चन्ना राम एक कॉन्सट्रक्शन वर्कर यानी मजदूर हैं. पैरालिसिस के अटैक के बाद वे बिस्तर पर पड़े रहे. हमारे गांव में बिजली नहीं है और पावर कट एक बड़ी समस्या है. आमतौर पर मुझे और मेरी बहन को टार्च की रोशनी में पढ़ाई करनी पड़ती थी. ज्यादातर दिनों में रात को बिजली नहीं होती थी. प्रकाश के चार भाई बहन हैं.'

ये भी पढ़ेंः
RBSE 12th Arts Result: राजस्थान बोर्ड 12वीं आर्ट का रिजल्ट जारी, 90.70% पास

RBSE 12वीं में लड़कों पर 5 प्रतिशत की बढ़त के साथ बेटियों ने मारी बाजी 

प्रकाश ने कहा कि 'चूंकि मेरे पास संसाधनों की कमी है इसलिए मैं हायर एजुकेशन के लिए नजदीकी कॉलेज में जाऊंगा. बाद में मैं ग्रेजुएशन के बाद आईएएस की तैयारी करके सिविल सर्विस की तैयारी करूंगा. आईएएस की तैयारी करके में गरीब बच्चों की मदद करना चाहता हूं. प्रकाश ने कहा कि मैं नहीं जानता कि मैं तैयारी करने के लिए जयपुर या दिल्ली जा पाऊंगा या नहीं क्योंकि मेरे पिता परिवार में अकेल पैसे कमाने वाले हैं. प्रकाश के दसवीं में भी 97 फीसदी अंक आए थे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading