Home /News /career /

हमेशा अपनी फीस को लेकर चर्चा में रहने वाले जेठमलानी ने मुश्किल से शुरू किया था करियर

हमेशा अपनी फीस को लेकर चर्चा में रहने वाले जेठमलानी ने मुश्किल से शुरू किया था करियर

हमेशा अपनी फीस को लेकर चर्चा में रहने वाले जेठमलानी ने मुश्किल से शुरू किया था करियर

हमेशा अपनी फीस को लेकर चर्चा में रहने वाले जेठमलानी ने मुश्किल से शुरू किया था करियर

75 साल से ज्‍यादा तक वकालत की दुनिया में राज करने वाले जेठमलानी ने साल 2017 में कानून की दुनिया से सन्‍यास ले लिया था. आइए जानते हैं जेठमलानी कैसे बनें वकालत की दुनिया के सरताज.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    देश के दिग्‍गज वकीलों में शुमार और पूर्व केंद्रीय कानून मंत्री रह चुके राम जेठमलानी का आज यानी कि रविवार की सुबह निधन हो गया है. वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे. 75 साल से ज्‍यादा तक वकालत की दुनिया में राज करने वाले जेठमलानी ने साल 2017 में कानून की दुनिया से सन्‍यास ले लिया था.

    इस मौके पर उन्‍होंने कहा था, 'मैंने वकालत पेशे में अपने जीवन के 76 साल और अध्यापन के क्षेत्र में 77 साल बिताए हैं और अब वक्त आ गया है कि मैं सक्रिय वकालत से संन्यास ले लूं. अब आप मुझे अदालतों में किसी मामले की पैरवी करते नहीं पाएंगे. कुछ और अच्छे काम अधूरे हैं, जिनकी ओर अब मैं अपना ध्यान लगाऊंगा. 75 साल से ज्‍यादा लंबे करियर में जेठमलानी ने कई हाईप्रोफाइल केस लड़े थे.

    ramjethmalani

    इंदिरा गांधी का लड़ा था केस 

    जेठमलानी के चर्चित केसों में  पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के हत्यारों से लेकर डॉन हाजी मस्तान तक के केस शामिल हैं. ऐसे चर्चित केस लड़कर वकालत की दुनिया में राज करने वाले जेठमलानी का ये करियर शुरू करना इतना आसान नहीं था. आइए जानते हैं कि कैसे बनें वे वकालत की दुनिया के सरताज.

    jethmalani

    पाकिस्तान के सिन्ध प्रांत में 14 सितंबर 1923 को जन्मे राम जेठमलानी आजादी के बाद भारत आ गए थे. सिन्धी परंपरा के अनुसार पुत्र के साथ पिता का नाम भी आता है. लिहाजा उनका पूरा नाम रामभूलचन्द जेठमलानी था, लेकिन उनके बचपन का नाम राम था, इसलिए आगे चलकर वह राम जेठमलानी के नाम से जाने जाने लगे. जेठमलानी बचपन से ही मेधावी थे. इसलिए स्कूली शिक्षा के दौरान दो-दो क्लास एक साल में पास करने के कारण उन्होंने 13 साल की उम्र में मैट्रिक का परीक्षा पास कर ली.

    17 साल की उम्र में LLB

    जेठमालनी ने 17 साल की उम्र में ही एलएलबी की डिग्री हासिल कर ली थी. उस समय वकालत की प्रैक्टिस करने के लिए 21 साल की उम्र जरूरी थी. मगर जेठमलानी के लिए एक विशेष प्रस्ताव पास करके 18 साल की उम्र में प्रैक्टिस करने की इजाजत दी गई. बाद में उन्होंने एससी साहनी लॉ कॉलेज कराची से एलएलएम की डिग्री हासिल की.

    ये भी पढ़ें: 

    Tags: Job and career, Ram jethmalani

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर