Rajasthan BSTC Pre Deled Counseling 2020: राजस्थान बीएसटीसी काउंसलिंग के लिए पंजीकरण शुरू

D.El.D काउंसलिंग के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो गई है.
D.El.D काउंसलिंग के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

राजस्थान BSTC एक राज्य स्तरीय परीक्षा है जो D.El.D (सामान्य / संस्कृत) पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 27, 2020, 6:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजस्थान प्रारंभिक शिक्षा विभाग के कार्यालय समन्वयक, (शिक्षा विभागीय परीक्षा के रजिस्ट्रार बीकानेर) ने दो वर्षीय शिक्षक शिक्षा पाठ्यक्रम D.El.D में प्रवेश के लिए ऑनलाइन काउंसलिंग के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू की.

predeled.com पर देखें नोटिस
आधिकारिक वेबसाइट predeled.com पर जारी नोटिस के अनुसार, उम्मीदवार 2 नवंबर तक ऑनलाइन काउंसलिंग के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं.

2 नवंबर तक फीस जमा करें
इसके साथ ही 2 नवंबर तक ई-मित्र, डेबिट-क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग के माध्यम से 3000 रुपये का भुगतान किया जा सकता है. कॉलेज में प्रवेश के लिए ऑनलाइन सूची के अनुसार, विकल्प चुनने की अंतिम तिथि 3 नवंबर 2020 है.



काउंसलिंग शुल्क जमा करके काउंसलिंग में शामिल
प्री-डीएलएड परीक्षा अधिसूचना में कहा गया है कि सभी उम्मीदवार जो seeded हैं, वे काउंसलिंग शुल्क जमा करके काउंसलिंग में शामिल हो सकेंगे.

काउंसलिंग फीस बाद में वापस
अपने प्रवेश को सुनिश्चित करने के लिए उम्मीदवार अधिकतम कॉलेज विकल्प का चयन करते हैं. यदि कोई कॉलेज आवंटन नहीं है, तो वे स्वचालित रूप से इस प्रक्रिया से बाहर निकल जाएंगे. उनकी काउंसलिंग फीस बाद में वापस कर दी जाएगी.

तीसरे चरण में काउंसलिंग 
General / Sanskrit प्रवेश परीक्षा 2020 में, seeded उम्मीदवारों की काउंसलिंग दो चरणों में करने का प्रस्ताव है. यदि कुल सीटों में से 02 प्रतिशत से अधिक सीटें खाली हैं, तो तीसरे चरण में काउंसलिंग की जा सकती है.

ये भी पढ़ें-
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी प्रवेश परीक्षा 2020 का रिजल्ट घोषित, देखें टॉपर्स लिस्ट
कोविड-19 के कारण इस राज्य में फिर से बंद होंगे स्कूल, सरकार ने लिया फैसला

BSTC एक राज्य स्तरीय परीक्षा
राजस्थान BSTC एक राज्य स्तरीय परीक्षा है जो D.El.D (सामान्य / संस्कृत) पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है. इसमें छात्रों को उनके द्वारा भरे जाने वाले विकल्पों के आधार पर शिक्षण संस्थानों में प्रवेश मिलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज