Rajasthan Board: 18 जून को होंगे एग्जाम, इस तारीख तक आ सकता है रिजल्ट

अगले महीने तक रिजल्ट जारी किया जा सकता है.

अगले महीने तक रिजल्ट जारी किया जा सकता है.

करीब 3 महीने के लंबे इंतजार के बाद राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12वीं और 10वीं की लंबित विषयों की परीक्षाएं 18 जून से शुरू हो रही हैं.

  • Share this:
अजमेर. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Rajasthan Board of Secondary Education) की 18 जून से शुरू हो रही 12वीं और 10वीं के लंबित विषयों की परीक्षा (Board Exam) की सभी तैयारियां पूरी हो गई हैं. कोरोना को देखते हुए प्रदेश में 521 नए परीक्षा उपकेंद्र बनाए गए हैं. स्कूल की और से विद्यर्थियों को एडमिट कार्ड (Admit Card) देकर कई तरह की हिदायतें दी जा रही हैं. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 18 जून से शुरू होने जा रही लंबित विषयों की बोर्ड परीक्षाओं को लेकर तैयारियां तेज हो गई हैं. बोर्ड की और से प्रवेश पत्र जारी होने के बाद स्कूल उन्हें बच्चों में बांट रहे हैं, तो वहीं परीक्षा केन्द्रों को सैनेटाइज करने के साथ ही नए छपवाए गए प्रश्नपत्र भी पुलिस सुरक्षा में पहुंच गए हैं.



कोरोना काल के बीच बोर्ड ने केन्द्रों के लिए कई नई गाइडलाइन्स तय की हैं. करीब 3 महीने के लंबे इंतजार के बाद राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12वीं और 10वीं की लंबित विषयों की परीक्षाएं 18 जून से शुरू हो रही हैं. बोर्ड ने परीक्षा का टाइमटेबल जारी कर दिया है जिसके तहत 18 जून से 12वीं की परीक्षाएं शुरू होंगी. बोर्ड ने कोरोना संकट और सोशल डिस्टेन्सिंग के पालना को देखते हुए 521 नए उप परीक्षा केन्द्र प्रदेश में बनाए हैं. इनमें से 35 परीक्षा उपकेंद्र केवल 12वीं के लिए हैं जबकि बाकी 10वीं के विद्यर्थियों के लिए इन नए उप परीक्षा केन्द्रों के लिए अलग से प्रवेश पत्र जारी किए गए है जिन्हें आज से स्कूल प्रशासन ने विद्दार्थियों को वितरित करना शुरू किया है.



बच्चों के दिए जा रहे जरूरी टिप्स





साथ ही बोर्ड बच्चों को हिदायत दे रहा है कि परीक्षा शुरू होने से एक घंटे पहले केन्द्र पर पहुंचे और मास्क लगाने के साथ ही सोशल डिस्टेन्सिंग अपनाते हुए भीड ना करें. साथ ही बोर्ड ने तमाम परीक्षा केन्द्रों को भी हिदायत दी है कि वे अपने परीक्षा कक्षों को पहले अच्छी तरह से सैनेटाइज करें और केन्द्र पर हैंडवॉश की सुविधा रखें. इसके लिए बोर्ड की और से हर परीक्षा केन्द्र को 300 रुपये का अलग से बजट भी स्वीकृत किया गया है. बोर्ड के निर्देशों के अमल के बाद परीक्षा केन्द्रों पर नई व्यवस्था देखने को मिल रही है. जहां पहले एक परीक्षा कक्ष में 25 से 30 परीक्षार्थी बैठा करते थे वहां अब महज 12 से 15 को ही बैठने की अनुमति दी गई है.
इसके अलावा परीक्षार्थियों के केन्द्र में दाखिले के समय थर्मल टेम्परेचर जांच की सुविधा भी रखी गई है. कोरोना संकट के बीच दोबारा शुरू हो रही बोर्ड की परीक्षाओं में बच्चों के साथ बोर्ड की भी परीक्षा होगी. क्योंकि 12वीं के लंबित विषयों में छात्र संख्या काफी कम है जबकि 10वीं के लंबित दोनों विषयों में छात्र काफी ज्यादा हैं. ऐसे में बोर्ड अपनी गाइडलाइन्स की पालना के लिए जिला शिक्षा अधिकारियों के संपर्क में है और 15 जुलाई से पहले बोर्ड अपना पहला परीक्षा परिणाम जारी करने की तैयारी में जुट गया है.



 



ये भी पढ़ें: 



दिल्ली: स्कूटी में घूमते थे आंध्र प्रदेश के पति-पत्नी, लॉकडाउन में होशियारी से करते थे ऐसी बड़ी वारदात  



कोरबा: शादी करने गए थे महाराष्ट्र, रिटर्न गिफ्ट में मिला कोरोना, जानें पूरा मामला  



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज