होम /न्यूज /करियर /Republic Day Motivation : गणतंत्र दिवस के मौके पर पढ़ें सरदार पटेल के 10 प्रेरक विचार, सीख जाएंगे बड़ी बातें

Republic Day Motivation : गणतंत्र दिवस के मौके पर पढ़ें सरदार पटेल के 10 प्रेरक विचार, सीख जाएंगे बड़ी बातें

Motivation : आपको अपना अपमान सहने की कला आनी चाहिए.-सरदार पटेल

Motivation : आपको अपना अपमान सहने की कला आनी चाहिए.-सरदार पटेल

Republic Day Motivation : सादगी भरा जीवन और मजबूत इरादों वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल के उद्धरण किसी को भी प्रेरित कर सकते ...अधिक पढ़ें

Republic Day Motivation : आज भारत 74वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. अंग्रेजी उपनिवेशवाद से आजादी और उसके बाद भारत को एकजुट करने में कई क्रांतिकारियों और महान नेताओं का योगदान रहा है. भारत के एकीकरण और इसके गणतंत्र बनने में सरदार वल्लभ भाई पटेल का अतुलनीय योगदान रहा है. आज गणतंत्र दिवस के अवसर पर सरदार पटेल के प्रेरक वचन आपको भी प्रेरित कर सकते हैं. तो आइए पढ़ते हैं सरदार पटेल के 10 अनमोल वचन.

अन्याय का डट कर करें मुकाबला

आपकी अच्छाई आपके मार्ग में बाधक है, इसलिए अपनी आंखों को क्रोध से लाल होने दीजिये, और अन्याय का सामना मजबूत हाथों से कीजिये.

अपमान सहना एक कला

आपको अपना अपमान सहने की कला आनी चाहिए.

अहिंसा का स्तर सफलता का मापक

अहिंसा को विचार, शब्द और कर्म में देखा जाना चाहिए. हमारी अहिंसा का स्तर हमारी सफलता का मापक होगा.

बहादुर नहीं बनाते बहाने

कठिन समय में कायर बहाना ढूंढते हैं तो वहीं, बहादुर व्यक्ति रास्ता खोजते है.

क्रोध से अपना ही नुकसान

मनुष्य को ठंडा रहना चाहिए, क्रोध नहीं करना चाहिए. लोहा भले ही गर्म हो जाए, हथौड़े को तो ठंडा ही रहना चाहिए अन्यथा वह स्वयं अपना हत्था जला डालेगा. कोई भी राज्य प्रजा पर कितना ही गर्म क्यों न हो जाये, अंत में तो उसे ठंडा होना ही पड़ेगा.

मुसीबत में काम बहादुर करते हैं

काम करने में तो मजा ही तब आता है, जब उसमे मुसीबत होती है मुसीबत में काम करना बहादुरों का काम है मर्दों का काम है कायर तो मुसीबतों से डरते हैं लेकिन हम कायर नहीं हैं, हमें मुसीबतों से डरना नहीं चाहिये.

प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी

यह हर एक नागरिक की जिम्मेदारी है कि वह यह अनुभव करे की उसका देश स्वतंत्र है और उसकी स्वतंत्रता की रक्षा करना उसका कर्तव्य है. हर एक भारतीय को अब यह भूल जाना चाहिए कि वह एक राजपूत है, एक सिख या जाट है. उसे यह याद होना चाहिए कि वह एक भारतीय है और उसे इस देश में हर अधिकार है पर कुछ जिम्मेदारियां भी हैं.”

बिना जनशक्ति के शक्ति नहीं

एकता के बिना जनशक्ति शक्ति नहीं है जबतक उसे ठीक तरह से सामंजस्य में ना लाया जाए और एकजुट ना किया जाए, और तब यह आध्यात्मिक शक्ति बन जाती है.

महान काम के लिए जरूरी है विश्वास और शक्ति

शक्ति के अभाव में विश्वास व्यर्थ है. विश्वास और शक्ति, दोनों किसी महान काम को करने के लिए आवश्यक हैं.

हर हाल में मुस्कराते रहें

यहां तक कि यदि हम हज़ारों की दौलत गवां दें, और हमारा जीवन बलिदान हो जाए, हमें मुस्कुराते रहना चाहिए और ईश्वर एवं सत्य में विश्वास रखकर प्रसन्न रहना चाहिए.

ये भी पढ़ें 
Pariksha Pe Charcha: पीएम मोदी 38 लाख छात्रों को देंगे अपना ‘मंत्र’, एग्जाम से पहले दूर होगा स्ट्रेस
IAS Tina Dabi Marksheet: वायरल हुई IAS टीना डाबी की मार्कशीट, आप भी देखिए टॉपर के मार्क्स

Tags: Education, Republic day, Sardar Vallabhbhai Patel, Success tips and tricks

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें