ऋषि कपूर ने शिक्षा और नौकरी पर पीएम मोदी को कर दिया था ट्वीट, लिखी थी ये बड़ी बात

ऋषि कपूर ने शिक्षा और नौकरी पर पीएम मोदी को कर दिया था ट्वीट, लिखी थी ये बड़ी बात
ऋषि कपूर ने कैंसर के इलाज के दौरान पीएम मोदी से भारत में शिक्षा मुफ्त करने की मांग की थी.

Rishi Kapoor Death : ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) आठवीं फेल थे और ज्यादा पढ़ नहीं सके. इसकी वजह थी महज 18 साल की उम्र में फिल्मों में आ जाना.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 11:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. फिल्मी दुनिया के सहज अभिनेता इरफान खान (Irrfan Khan) के निधन के एक दिन बाद बॉलीवुड के चिंटूजी ने भी इस दुनिया को अलविदा कह दिया. ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) नहीं रहे. बॉलीवुड के दिग्गज कलाकारों में शुमार ऋषि ने 67 साल की उम्र में आखिरी सांस ली. यूं तो ऋषि कपूर ज्यादा पढ़े लिखे नहीं थे और वो इसलिए क्योंकि उन्होंने 18 साल की उम्र में ही अपने अभिनय करियर की शुरुआत कर दी थी. ऋषि कपूर पिछले साल कैंसर का इलाज कराने के दौरान न्यूयॉर्क में थे. इस दौरान उन्होंने शिक्षा और नौकरियों को लेकर कई अहम बातें कीं.

भारत में मुफ्त शिक्षा चाहते थे ऋषि कपूर
जहां तक शिक्षा की बात है, तो बीते साल न्यूयॉर्क में अपना इलाज कराने के दौरान ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) को कई ऐसी बातें महसूस हुईं, जिनकी वजह से उन्होंने भारत में मुफ्त शिक्षा व्यवस्था की बात कही थी. दरअसल मई 2019 में बीजेपी सरकार के एक बार फिर पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने पर ऋषि कपूर ने ट्विटर के जरिए सरकार को बधाई दी थी और सरकार से भारत में मुफ्त शिक्षा की व्यवस्था पर जोर देने का निवेदन किया था.





शिक्षा दे सकती है बेहतर नौकरी और सुरक्षित जिंदगी
न्यूयॉर्क में इलाज के दौरान ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) ने पीएम मोदी (PM Modi) को किए अपने ट्वीट में कहा था कि शिक्षा भारतीय युवा को बेहतर नौकरी और एक सुरक्षित जिंदगी दे सकती है. इतना ही नहीं उन्होंने इसके साथ ये भी लिखा था कि माफ कीजिएगा अगर मैंने कुछ ज्यादा कह दिया हो, लेकिन एक नागरिक के तौर पर मेरी जिम्मेदारी है कि मैं अपनी बात आपके सामने रखूं.

हालांकि ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) के इस ट्वीट के पीछे एक किस्सा है. वो ये कि जब ऋषि न्यूयॉर्क में अपना इलाज करा रहे थे. उस दौरान उन्होंने अनुभव बयां करते हुए कहा, 'मैंने यहां पर ग्रेजुएशन देखा और यहां के अस्पतालों में विशेष चिकित्सा को देखकर मैं सोचता हूं कि सिर्फ कुछ ही लोगों को ये सुविधाएं क्यों मिल पाती हैं? जबकि यहां के कई डॉक्टर्स तो भारतीय हैं.' इसी के बाद उन्होंने पीएम मोदी को ट्वीट किया.

8वीं फेल थे ऋषि कपूर, रिपोर्ट कार्ड को लेकर बेटे रणबीर ने कही थी मजेदार बात

ग्रेजुएशन किए बिना एक्टर नहीं बन पाते इरफान खान, जानिए क्या है पूरी कहानी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज