RJD ने बेरोजगार युवाओं के लिये शुरू किया पोर्टल, सत्ता में आने पर मिलेगी नौकरी

RJD ने बेरोजगार युवाओं के लिये शुरू किया पोर्टल, सत्ता में आने पर मिलेगी नौकरी
पोर्टल पर जाने के लिए www.berozgarihatao.co.in पर जाएं.

कोई भी बेरोजगार युवक उपरोक्त वेबसाइट को खोल कर अपने संपर्क के विवरण के साथ बायोडाटा के रूप में जानकारी डाल सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 6, 2020, 12:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा उनकी पार्टी ने बिहार में बेरोजगार युवाओं का डेटाबेस तैयार करने के लिये एक समर्पित पोर्टल www.berozgarihatao.co.in और टोल फ्री नंबर 9334302020 शुरू किया है. साथ ही, यदि आगामी विधानसभा चुनाव के बाद उनकी पार्टी राज्य में सरकार बनाती है तो इन्हें नौकरी उपलब्ध कराई जाएगी.

नौकरियां सृजित करने के लिये नीतियां बनाने में मदद
तेजस्वी यादव ने कहा कि यह कदम पार्टी को राज्य की सत्ता में आने पर नौकरियां सृजित करने के लिये नीतियां बनाने में मदद करेगा.

बेरोजगार युवक बायोडाटा के रूप में जानकारी डाले
राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी ने पार्टी कार्यालय में कहा, कोई भी बेरोजगार युवक उपरोक्त वेबसाइट को खोल कर अपने संपर्क के विवरण के साथ बायोडाटा के रूप में जानकारी डाल सकता है. इसके अलावा, टोल फ्री नंबर पर मिस्ड कॉल कर भी कोई व्यक्ति अपना पंजीकरण करा सकता है.



बिहार में बेरोजगारी की दर 46.6 प्रतिशत
उन्होंने कहा, हमने राज्य में नौकरियों के अवसर सृजित करने के लिये विशेषज्ञों के परामर्श से व्यापक योजना तैयार की है. तेजस्वी ने दावा किया, बिहार में बेरोजगारी की दर 46.6 प्रतिशत है, जो देश में सर्वाधिक है. नौकरी की तलाश में बड़ी संख्या में लोग बिहार से बाहर जाते हैं. 52 प्रतिशत लोग गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन कर रहे हैं.

राज्य में पहले से लंबित रिक्तियों का भरने के लिये अभियान 
उन्होंने कहा कि यदि राजद की सरकार बनती है तो राज्य में पहले से लंबित रिक्तियों का भरने के लिये एक बड़ा अभियान चलाया जाएगा. इसके अलावा, सभी भर्ती परीक्षाएं नियमित रूप से कराई जाएंगी.

ये भी पढ़ें-
UPPSC Recruitment 2020: यूपीपीएससी ने विभिन्न पदों के लिए निकाली 610 वैकेंसी, आवेदन शुरू
जेईई एडवांस 27 सितंबर को, परीक्षा के लिए होंगी ये तैयारियां, एडमिट कार्ड की जांच बार कोड स्कैनर से

20 लाख से अधिक श्रमिक बिहार लौटे
कोविड-19 महामारी के प्रसार को रोकने के लिये लागू किये गये लॉकडाउन को लेकर 20 लाख से अधिक श्रमिक बिहार लौटे हैं. उन्हें से कई लोग देश के विभिन्न शहरों में स्थित अपने पुराने कार्य स्थलों पर वापस चले गये हैं. कई अन्य यहीं रूक कर आसपास के इलाकों में रोजगार तलाश रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज