Home /News /career /

UPSC Exam: क्या आप IAS बनना चाहते हैं? इस परीक्षा से आसान होगी राह

UPSC Exam: क्या आप IAS बनना चाहते हैं? इस परीक्षा से आसान होगी राह

आईएएस ऑफिसर कैसे बनें?

आईएएस ऑफिसर कैसे बनें?

UPSC Exam, IAS Officer: देश के ज्यादातर युवा आईएएस (IAS Officer) बनकर देश की सेवा करने का सपना देखते हैं. इसके लिए यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) पास करना जरूरी होता है. इस परीक्षा के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है, जिसके लिए कई उम्मीदवार कोचिंग का सहारा तक लेते हैं. अगर आप भी आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आपको यूपीएससी परीक्षा का सिलेबस (UPSC Exam Syllabus), एग्जाम पैटर्न (UPSC Exam Pattern) और अन्य जरूरी जानकारी अनिवार्य रूप से पता होनी चाहिए. इससे आप अपनी तैयारी सही तरीके से कर सकेंगे और आपको किसी तरह की कोई परेशानी भी नहीं आएगी (How To Become IAS Officer).

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली (UPSC Exam, IAS Officer). देश के ज्यादातर युवा सिविल सेवा परीक्षा (Civil Services Exam) पास करके सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri) करने का सपना देखते हैं. हालांकि यह इतना आसान भी नहीं होता है. इसके लिए भारत की सबसे कठिन और प्रतिष्ठित यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) पास करनी होती है. यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करने के लिए कई उम्मीदवार सालों तक कोचिंग का सहारा भी लेते हैं. अगर आप आईएएस ऑफिसर (How To Become IAS Officer) बनना चाहते हैं तो जानिए यूपीएससी एग्जाम का सिलेबस (UPSC Exam Syllabus) और एग्जाम पैटर्न (UPSC Exam Pattern).

    किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए उसका सिलेबस (UPSC Exam Syllabus) और एग्जाम पैटर्न (UPSC Exam Pattern) जरूर पता होना चाहिए. इससे करियर में आगे बढ़ने और अपनी मंजिल को सही तरीके से हासिल करने में काफी मदद मिलती है. यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) की प्लानिंग सही तरीके से की जाए तो इस परीक्षा को पास करना भी आसान हो जाता है. अगर आप यूपीएससी परीक्षा के बेसिक्स समझ जाएंगे तो आईएएस ऑफिसर बनना काफी आसान हो जाएगा (How To Become IAS Officer).

    UPSC परीक्षा के लिए जरूरी क्वालिफिकेशन
    यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) द्वारा आयोजित होने वाली सिविल सर्विस परीक्षा (Civil Services Exam) देने के लिए आवेदक का किसी भी सब्‍जेक्‍ट से ग्रेजुएट होना जरूरी है. इस परीक्षा को भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है और इसकी तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है.

    यूपीएससी परीक्षा के लिए तय है उम्र सीमा
    यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) के लिए उम्मीदवारों की न्यूनतम आयु 21 वर्ष होनी चाहिए. सामान्य वर्ग के आवेदक अधिकतम 32 वर्ष की उम्र तक 6 बार इस परीक्षा में हिस्सा ले सकते हैं. वहीं, OBC वर्ग के लिए उम्र सीमा 21 से 35 साल तय की गई है और इस कैटेगरी के उम्मीदवार 9 बार एग्जाम दे सकते हैं. SC-ST वर्ग के लिए उम्र सीमा 21 साल से 37 साल है और इनके एग्जाम अटेम्प्ट करने की कोई लिमिट नहीं है. साथ ही फिजिकली डिसएबल कैंडिडेट्स के लिए उम्र सीमा 21 से 42 साल तय की गई है. इस कैटेगरी में जनरल और OBC कैंडिडेट्स 9 बार एग्जाम दे सकते हैं, जबकि SC-ST के लिए कोई लिमिट नहीं है.

    ये भी पढ़ें:
    Career Tips: क्या आप जॉब ढूंढ रहे हैं? इन गलतियों से बिगड़ सकता है करियर
    आसान नहीं है UPSC परीक्षा, आईएएस बनने के लिए देना पड़ता है ऐसे सवालों का जवाब

    UPSC परीक्षा की सब्जेक्ट लिस्ट
    UPSC परीक्षा (UPSC Exam) के लिए कुल 25 विषयों में से अपना विषय चुनना होता है. विषय वही चुनें, जो आपके लिए आसान हो. इसमें एग्रीकल्चर, एनिमल हस्बेंड्री और वेटरनरी साइंस, मानव विज्ञान, बॉटनी, केमिस्ट्री, सिविल इंजीनियरिंग, कॉमर्स और एकाउंटेंसी, इकोनॉमिक्‍स, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, भूगोल, भू-विज्ञान, इतिहास, लॉ, मैनेजमेंट, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, मेडिकल साइंस, फिलॉसिफी, फिजिक्स, पॉलिटिकल साइंस और इंटरनेशनल रिलेशंस, मनोविज्ञान, पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन, समाज शास्‍त्र, स्‍टैटिस्टिक्‍स, जूलॉजी और भाषा (असमिया, बंगाली, बोडो, डोगरी, गुजराती, हिन्दी, कन्नड़, कश्मीरी, कोंकणी, मैथिली, मलयालम, मणिपुरी, संथाली, सिंधी, तमिल, तेलुगु, उर्दु और अंग्रेजी) में से किसी एक का चुनाव बतौर ऑप्शनल सब्जेक्ट कर सकते हैं.

    कैसे बनेंगे IAS ऑफिसर?
    यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) पास करने के लिए उम्मीदवारों को 3 चरण पास करने पड़ते हैं. इसमें सबसे पहले कैंडिडेट्स को प्रीलिमिनरी एग्जाम पास करना पड़ता है. इसके बाद यूपीएससी मेन्स एग्जाम (UPSC Mains Exam) देना होता है. इन दोनों में पास होने वाले उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है (How To Become IAS Officer).

    यूपीएससी प्रीलिम्स एग्जाम (Prelims Exam)
    यूपीएससी प्रीलिम्स एग्जाम (UPSC Prelims Exam) में उम्मीदवारों को दो-दो घंटे के 2 पेपर देने होते हैं. पहला पेपर विषय संबंधित होता है. वहीं, दूसरा पेपर सीसैट (CSAT) क्वालिफाइंग होता है और इसमें पास होने के लिए 33 फीसदी नंबर हासिल करना जरूरी है. पहले पेपर के नंबर के आधार पर कटऑफ लिस्ट तैयार की जाती है और उसके आधार पर उम्मीदवार मेन्स एग्जाम के लिए चयनित होते हैं.

    यूपीएससी मेन्स एग्जाम (UPSC Mains Exam)
    यूपीएससी मेन्स परीक्षा (UPSC Mains Exam) में कुल 9 पेपर होते हैं, जिनमें दो क्वालिफाइंग (A और B) और सात अन्‍य मेरिट के लिए हैं. लैंग्वेज आधारित दोनों क्वालिफाइंग पेपर 3-3 घंटे के होते हैं. एक पेपर निबंध का होता है और 3 घंटे में अपनी पसंद के अलग-अलग टॉपिक पर 2 निबंध लिखने होते हैं. इसके अलावा जनरल स्टडीज के 4 पेपर होते हैं, जिनके लिए 3-3 घंटे का समय मिलता है. आखिर में ऑप्शनल पेपर होता है, जिसमें दो एग्जाम होते हैं और इसका विषय उम्मीदवार खुद चुनते हैं. मेन्स एग्जाम की मेरिट लिस्ट में क्वालिफाइंग को छोड़कर सभी पेपर्स से नंबर शामिल किए जाते हैं.

    यूपीएससी इंटरव्यू (UPSC Interview)
    यूपीएससी मेन्स परीक्षा (UPSC Mains Exam) पास करने वाले उम्मीदवार को एक डिटेल एप्लीकेशन फॉर्म (DAF) भरना होता है, जिसके आधार पर पर्सनैलिटी टेस्ट होता है. फॉर्म में भरी गई जानकारियों के आधार पर ही इंटरव्यू के दौरान सवाल पूछे जाते हैं (UPSC Interview). इंटरव्यू में मिले नंबर को जोड़कर मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है और इसी के आधार पर ऑल इंडिया रैंकिंग तय की जाती है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर