होम /न्यूज /करियर /

सऊदी अरब: महिलाओं की अनोखी शर्त- नौकरी और ड्राइविंग की मिलेगी आजादी, तभी करेंगी शादी

सऊदी अरब: महिलाओं की अनोखी शर्त- नौकरी और ड्राइविंग की मिलेगी आजादी, तभी करेंगी शादी

सऊदी अरब में महिलाओं ने निकाह के लिए रखी अनोखी शर्त

सऊदी अरब में महिलाओं ने निकाह के लिए रखी अनोखी शर्त

एक सेल्समैन का काम करने वाले मज्द का कहना है कि वह शादी की तैयारी में जुटा था, तभी उसकी मंगेतर ने अनोखी शर्त रख दी कि मज्द शादी के बाद उसे ड्राइविंग और नौकरी करने की अनुमति देगा.

    सऊदी अरब में जैसे इस्लामिक देश में धीरे-धीरे ही सही लेकिन अब महिलाओं की स्‍थिति में सुधार आ रहा है. अब वे अपनी शर्तों पर जी रही हैं. खुद की खुशी और आजादी के बारे में सोच रही हैं. इसलिए तो उन्‍होंने अपनी जिंदगी का अहम पड़ाव निकाह में खुद को नजरअंदाज नहीं किया है. इसलिए तो अब शादी के बाद ड्राइविंग, पढ़ाई-लिखाई, नौकरी और घूमने-फिरने की आजादी के लिए अब वे बाकायदा पति के साथ कॉन्ट्रैक्ट कर रही हैं. वे ऐसा इसलिए कर रही हैं, ताकि शादी के बाद किसी भी तरह का कोई विवाद पैदा न हो.

    दशकों तक पाबंदी झेल चुकी महिलाओं को अभी पिछले साल ही ड्राइविंग का अधिकार मिला था. अधिकार मिलने के बाद वे नहीं चाहती हैं कि उन्‍हें किसी तरह की बंदिशों का सामना करना पड़ा. इसलिए वे अब ऐसा कर रही हैं. इसी क्रम में मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एक सेल्समैन का काम करने वाले मज्द का कहना है कि वह शादी की तैयारी में जुटा था, तभी उसकी मंगेतर ने अनोखी शर्त रख दी. युवती की मांग थी कि मज्द शादी के बाद उसे ड्राइविंग और नौकरी करने की अनुमति देगा. शादी के बाद मज्द उसकी मांग नजरअंदाज न कर सके, इसके लिए उसने बाकायदा मैरिज काॅन्ट्रैक्ट भी साइन करवाया है.



    वहीं एक अन्य युवती ने मंगेतर से करार किया था कि वह कभी दूसरा विवाह नहीं करेगा. इस मामले में मौलवी अब्दुलमोहसेन अल-अजेमी का कहना है कि कुछ युवतियां ड्राइविंग की मांग को लेकर काॅन्ट्रैक्ट कर रही हैं. करार होने से पति और ससुराल के लोग पाबंद हो जाते हैं कि वे उसकी बात दरकिनार नहीं करेंगे. अगर शादी के बाद वह अपनी बात से पीछे हटते हैं, तो महिला इसे आधार बनाकर पति से तलाक भी ले सकती है.

    यह भी पढ़ें:

    Tags: Saudi arabia, Women

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर