स्कूलों पर आई बड़ी खबर, दोबारा खोले जाने को लेकर सरकार की योजना का खुलासा

स्कूलों पर आई बड़ी खबर, दोबारा खोले जाने को लेकर सरकार की योजना का खुलासा
स्कूल खोलने को लेकर राज्य सरकारों ने तैयारी शुरू कर दी है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) से उपजे हालात के चलते स्कूल और कॉलेज (Schools and Colleges) समेत देशभर के शिक्षण संस्थान पांच महीने से बंद हैं. हालांकि अब स्कूल खोले जाने को लेकर सुगबुगाहट तेज हो गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 11, 2020, 11:33 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस के बीच देश में सामान्य जीवन पटरी पर लौटाने के लिए अनलॉक तीन की शुरुआत हो गई है. इस कड़ी में जिम भी खोल दिए गए हैं और अब सभी की निगाहें इस बात पर टिकी हैं कि आखिर स्टूडेंट्स की पढ़ाई के नुकसान की भरपाई के लिए स्कूल (Schools) कब से खोले जाएंगे. खासतौर पर ये देखते हुए कि श्रीलंका समेत कई यूरोपीय देशों में स्कूलों को पूरी तरह से खोला जा चुका है. भारत में ये कदम कब उठाया जाएगा, इसे लेकर भी अब सरकार के सूत्रों से अहम जानकारी सामने आई है.

स्कूल खोले जाने की समयसीमा निर्धारित नहीं
दरअसल, भारत में 16 मार्च से ही स्कूल और कॉलेज (Schools and Colleges) बंद हैं. हालांकि शिक्षा मंत्रालय ने पहले 15 अगस्त के बाद स्कूल खोले जाने की बात कही थी, लेकिन अनलॉक तीन जारी करते वक्त साफ कर दिया गया कि स्कूल और कॉलेज 31 अगस्त तक बंद रहेंगे. अब सरकार के सूत्रों के हवाले से ये जानकारी सामने आ रही है कि देश में स्कूल दोबारा खोलने को लेकर कोई समयसीमा अभी निर्धारित नहीं की गई है.





सिर्फ चंडीगढ़ ने जताई स्कूल खोलने की इच्छा
इतना ही नहीं, सरकार के सूत्रों के अनुसार, अभी तक सिर्फ चंडीगढ़ ने ही स्कूल दोबारा खोलने की इच्छा जाहिर की है. मगर स्कूल खोलने को लेकर कोई भी फैसला इस बात पर निर्भर करता है कि आने वाले समय में देश में कोरोना वायरस को लेकर क्या स्थिति रहती है. बता दें कि भले ही स्कूल खोले जाने को लेकर सिर्फ चंडीगढ़ ने इच्छा जाहिर की है, लेकिन कई राज्यों में स्कूल खोले जाने को लेकर अपने अपने स्तर पर तैयारी जारी हैं.

ये भी पढ़ें
लॉकडाउन के बाद दिल्ली सरकार के स्कूलों से 15% छात्रों का कोई अता-पता नहीं
रचा इतिहास: 96 साल की उम्र में की ग्रेजुएशन, ऐसा करने वाले देश के पहले शख्स

इससे पहले, शिक्षा मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से स्कूल खोले जाने को लेकर पेरेंट्स के फीडबैक लेने को कहा था. इस बीच, शिक्षा मंत्रालय ने सोमवार को एक संसदीय पैनल को बताया कि आनलाइन क्लास सिर्फ कक्षा तीन से उपर के बच्चों के लिए है. बता दें कि सरकार ने जुलाई के पहले हफ्ते में नौवीं कक्षा से बारहवीं कक्षा के बच्चों का सिलेबस 30 प्रतिशत तक कम कर दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज