भारत-चीन विवाद : गलवान वैली में शहीद हुए जवान गणेश राम के नाम पर होगा स्कूल, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान

भारत-चीन विवाद : गलवान वैली में शहीद हुए जवान गणेश राम के नाम पर होगा स्कूल, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान
गलवान घाटी (Galwan Valley) में 15-16 जून की रात को हुई झड़प में भारत (India) के कमांडिंग अफसर समेत 20 जवान शहीद हो गए थे.

गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीनी सेना (China Army) के साथ हुई झड़प में भारत (India) के 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 19, 2020, 10:23 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में शहीद हुए बस्तर के गणेश राम कुंजम (Ganesh Ram Kunjam) के नाम पर स्कूल का नाम रखने का फैसला किया है. गणेश राम पूर्वी लद्दाख की गलवान वैली में शहीद हो गए थे. कुंजम का अंतिम संस्कार गुरुवार को रायपुर में किया गया, जिसमें राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह भी श्रद्धांजलि देने पहुंचे.

20 लाख की आर्थिक सहायता और परिवार के सदस्य को नौकरी
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने साथ ही गणेश राम कुंजम (Ganesh Ram Kunjam) के परिवार को 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता का ऐलान भी किया. इसके अलावा शहीद जवान के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी. बघेल ने ट्वीट कर कहा, गणेश राम कुंजम के नाम पर स्कूल का नाम रखा जाएगा. इसके अलावा 20 लाख रुपये की आर्थिक मदद और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी.

76 सैनिक घायल हुए थे
पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच झड़प के मद्देनजर चीन के साथ लगी करीब 3,500 किलोमीटर की सीमा पर भारतीय थल सेना और वायु सेना को हाई अलर्ट कर दिया गया. बता दें कि गलवान घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ झड़प में भारत के 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए, ज​बकि 76 सैनिक घायल हुए थे.



ये भी पढ़ें
दिल्ली पुलिस में सब-इंस्पेक्टर के पदों पर हो रही बंपर भर्ती, जानें डिटेल
HPBOSE 12th Result:हिमाचल प्रदेश बोर्ड 12वीं के नतीजे जारी,hpbose.org पर देखें


गलवान घाटी में झड़प के बाद भारत ने अपने अग्रिम मोर्चे वाले सभी ठिकानों पर अलर्ट बढ़ा दिया है. चीनी नौसेना को कड़ा संदेश देने के लिए भारतीय नौसेना हिंद महासागर क्षेत्र में अपनी तैनाती बढ़ा रही है. सूत्रों ने बताया कि सशस्त्र बल चीनी सेना की किसी भी आक्रामक कार्रवाई का दृढ़ता के साथ जवाब देंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज