टीचर ट्रेनिंंग के लिए देश के 15 लाख ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट्स की मैपिंग

यह पहल इस दिशा में महत्वपूर्ण है कि भारत तब तक सही अर्थो में प्रगति नहीं कर सकता है जब तक चरणबद्ध तरीके से शिक्षकों के कौशल का उन्नयन नहीं किया जाता है.

News18Hindi
Updated: August 18, 2019, 4:32 PM IST
टीचर ट्रेनिंंग के लिए देश के 15 लाख ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट्स की मैपिंग
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने देशभर में विभिन्न प्लेटफार्मो पर 15 लाख स्कूलों की मैंपिंग की है
News18Hindi
Updated: August 18, 2019, 4:32 PM IST
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने देशभर में विभिन्न प्लेटफार्मो पर 15 लाख स्कूलों की मैंपिंग की है और 19 हजार शिक्षक प्रशिक्षण संस्थाओं को गूगल अर्थ पर डाला है. इसके माध्यम से मंत्रालय शिक्षकों की प्रशिक्षण महत्वाकांक्षी योजना ‘निष्ठा’ (नेशनल इनिशिएटिव ऑन स्कूल टीचर्स हेड होलिस्टिक एडवांसमेंट) को आगे बढ़ायेगा.

मानव संसाधन विकास मंत्रालय 22 अगस्त को शिक्षकों को प्रशिक्षित करने की व्यापक योजना ‘निष्ठा’ (Allegiance) शुरू करने जा रहा है. इसके जरिये आने वाले समय में देशभर के 42 लाख शिक्षकों को प्रशिक्षित करने की परिकल्पना की गई है.

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने शनिवार को यह योजना शुरू किये जाने के संबंध में बताया था.

वहीं, मंत्रालय में स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग की सचिव रीना रे ने न्यूज एजेंसी को बताया कि हमने देशभर में विभिन्न प्लेटफार्मो पर 15 लाख स्कूलों की मैंपिंग की है. इसके अलावा 19 हजार शिक्षक प्रशिक्षण संस्थाओं की मैंपिंग की गई है और उन्हें गूगल अर्थ पर डाला गया है.

ऑनलाइल देखें  संस्थाओं की भौगोलिक स्थिति
उन्होंने कहा कि इसके उपयोगकर्ता ऑनलाइल जाकर न केवल इन संस्थाओं की भौगोलिक स्थिति को देख सकते हैं बल्कि अपना रिपोर्ट कार्ड भी देख सकते हैं और राय भी भेज सकते हैं.

‘निष्ठा’ योजना के संदर्भ में रे ने कहा कि यह पहल इस दिशा में महत्वपूर्ण है कि भारत तब तक सही अर्थो में प्रगति नहीं कर सकता है जब तक चरणबद्ध तरीके से शिक्षकों के कौशल का उन्नयन नहीं किया जाता है. इसके साथ ही शिक्षकों की सुविधा एवं समस्याओं पर भी ध्यान देने की जरूरत है.
Loading...

गौरतलब है कि अभी नेशनल इंस्टीट्यूट आफ ओपेन स्कूलिंग :एनओआईएस: को प्रारंभिक शिक्षा से जुड़े सेवारत अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षित करने का दायित्व दिया गया है. एनओआईएस ‘डिप्लोमा इन एलिमेंट्री प्रोग्राम’ संचालित कर रही है और यह दूरस्थ शिक्षा के तहत है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक, देश में समस्या केवल स्कूलों में शिक्षकों की कमी की ही नहीं है बल्कि प्रशिक्षित शिक्षकों की कमी की भी है. योग्य एवं प्रशिक्षित शिक्षकों की कमी देश के सभी राज्यों में है. बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड, ओडिशा, राजस्थान जैसे राज्यों में प्राथमिक स्कूल स्तर पर अप्रशिक्षित शिक्षकों की काफी कमी सामने आई है हालांकि इनके प्रशिक्षण की पहल तेजी से आगे बढ़ाई जा रही है.

ये भी पढ़ें-
10वीं-12वीं पास के लिए 2859 सरकारी नौकरी, आज है आखिरी तारीख

Success Story: UPSC में 7 साल में हासिल की सफलता, 5वें अटेम्प्ट में मिली 326वीं रैंक
Latest Update: आज जारी नहीं होगा SBI PO Main Result 2019
बिहार में इंस्पेक्टर, कॉन्स्टेबल पदों पर होगी 29 हजार भर्ती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 18, 2019, 4:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...