चार महीने बाद यहां पूरी तरह से खुले स्कूल, सामाजिक दूरी के साथ क्लास शुरू

चार महीने बाद यहां पूरी तरह से खुले स्कूल, सामाजिक दूरी के साथ क्लास शुरू
लॉकडाउन की वजह से करीब चार महीने से स्कूल बंद रहे.

स्कूलों में मौजूद कैंटीन को स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा कोविड-19 के नियंत्रण में होने की पुष्टि होने तक खोलने की अनुमति नहीं होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 10, 2020, 5:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. श्रीलंका में कोरोना वायरस की महामारी को नियंत्रित करने के लिए लागू लॉकडाउन की वजह से करीब चार महीने से बंद स्कूल सोमवार से दोबारा पूरी तरह से खोल दिए गए. श्रीलंका में मार्च मे मध्य में कोविड-19 का पहला मरीज सामने आने के साथ सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया था. जुलाई में कुछ चुनिंदा कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए स्कूलों को खोला गया था, लेकिन कुछ दिनों बाद ही कोरोना वायरस के नये मामले सामने आने की वजह से इन्हें बंद कर दिया गया.

कक्षाएं सामाजिक दूरी के आधार पर शुरू
शिक्षा सचिव एनएचएम चित्रनंदा ने बताया, ‘‘सभी स्कूलों को आज दोबारा खोल दिया गया है और संबंधित कक्षाएं सामाजिक दूरी के आधार पर शुरू हो गई हैं.’’ उन्होंने बताया कि 200 से कम विद्यार्थियों वाले स्कूल मार्च में महामारी की वजह से लागू लॉकडाउन से पहले की तरह संचलित होंगे. वह पूर्व की तरह कक्षाएं संचालित करेंगे. उन्हें विद्यार्थियों के बीच एक मीटर की सामाजिक दूरी का अनुपालन करना होगा.

सामाजिक दूरी का अनुपालन
शिक्षा सचिव ने कहा कि वे स्कूल जिनमें 200 से अधिक विद्यार्थी हैं, उन्हें फैसला करना होगा कि स्वास्थ्य दिशानिर्देश के तहत सामाजिक दूरी का अनुपालन करने के लिए किस कक्षा के विद्यार्थी किस दिन स्कूल आएंगे.



संक्रमण सफलापूर्वक नियंत्रित 
अधिकारियों ने बताया कि स्कूलों में मौजूद कैंटीन को स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा कोविड-19 के नियंत्रण में होने की पुष्टि होने तक खोलने की अनुमति नहीं होगी. उन्होंने कहा कि स्कूलों को दोबारा खोलने का फैसला श्रीलंका द्वारा कोरोना वायरस के सामुदायिक स्तर पर संक्रमण को सफलापूर्वक नियंत्रित करने के बाद लिया गया.

ये भी पढ़ें-
बड़ी खबर: प्रधानमंत्री ने कहा-1 सितंबर से खुलने चाहिए देश के सभी स्कूल
इस राज्य में कोरोना योद्धाओं को मुआवजा, मरने वालों में 40% शिक्षक, उन्हें कोई मदद नहीं

महामारी का खतरा अभी टला नहीं
अधिकारियों ने बताया कि श्रीलंका में समुदाय स्तर पर संक्रमण का एक भी मामला 30 अप्रैल के बाद से नहीं आया है. स्वास्थ्य अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि महामारी का खतरा अभी टला नहीं है. गौरतलब है कि श्रीलंका में कोरोना वायरस से संक्रमण के 2,844 मामले सामने आए हैं जिनमें से 2,579 संक्रमित ठीक चुके हैं जबकि 11 लोगों की मौत हुई है. (भाषा के इनपुट साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज