Home /News /career /

बड़ी खबर: दिल्ली में फिर से खुलेंगे स्कूल, ये रहा पूरा मास्टरप्लान

बड़ी खबर: दिल्ली में फिर से खुलेंगे स्कूल, ये रहा पूरा मास्टरप्लान

स्कूलों को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है.

स्कूलों को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है.

स्कूलों के एक समूह ने 1 से 12 तक की सभी क्लास के लिए स्कूल खोलने की तैयारी के लिए 48 पेज की एसओपी तैयार कर ली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 21 सितंबर से अनुमति के अनुसार, शहर के निजी स्कूलों ने सीनियर छात्रों के माता-पिता तक यह आकलन करना शुरू कर दिया है कि उनमें से कितने अपने बच्चों को शिक्षकों से मार्गदर्शन के लिए स्कूल भेजने के लिए तैयार होंगे.

    21 सितंबर से 9वीं से 12वीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खोलने के निर्देश
    केंद्र सरकार की ओर से 21 सितंबर से 9वीं से 12वीं क्लास तक के बच्चों के लिए स्कूल (Schools) खोलने को लेकर दिशानिर्देश जारी किए जा चुके हैं.

    containment zones के बाहर स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति
    दिशानिर्देशों के अनुसार, 9 से 12 वीं कक्षा के छात्रों के लिए 21 सितंबर से containment zones के बाहर के स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दी जाएगी. उपस्थिति केवल अतिरिक्त मार्गदर्शन के उद्देश्य से स्वैच्छिक होगी, ऑनलाइन कक्षाएं जारी रहेंगी. स्कूल अब यह आकलन करने की कोशिश कर रहे हैं कि कितने माता-पिता इसका हिस्सा बनने के लिए तैयार होंगे.

    सहमति फॉर्म तैयार किया गया है
    इंडियन स्कूल के प्रिंसिपल तानिया जोशी ने कहा, 'हमने एक सहमति फॉर्म तैयार किया है और इसे पीटीए प्रतिनिधियों के माध्यम से माता-पिता को भेजा है. जिसपर माता-पिता दोनों के हस्ताक्षर आवश्यक होंगे. स्वास्थ्य विभाग ने हमें ऐसे दिशा-निर्देश दिए हैं, जिन्हें ध्यान में रखा जाएगा, लेकिन micro-level के स्कूल अपने माता-पिता की प्रतिक्रिया के अनुसार हमारे द्वारा देखे जाने वाले छात्रों की संख्या के आधार पर अपने स्वयं के एसओपी भी बनाएंगे.

    स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एसओपी
    स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एसओपी में 1% सोडियम हाइपोक्लोराइट घोल (1% sodium hypochlorite solution) के साथ स्कूलों में सभी कार्य क्षेत्रों को साफ करने, स्कूल में छात्रों की staggered रिपोर्टिंग, सभी प्रवेश पर हैंड स्क्रीनिंग और थर्मल स्क्रीनिंग, फर्श पर मार्किंग्स, वस्तुओं के बंटवारे पर रोक और शारीरिक दूरी (physical distancing) सुनिश्चित करने जैसी सावधानियां शामिल हैं.

    स्कूल खोलने की प्रक्रिया का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा 'माता-पिता का विश्वास'
    स्प्रिंगडेल्स स्कूल धौला कुआं की प्रिंसिपल ज्योति बोस ने कहा, फिर से स्कूल खोलने की प्रक्रिया का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा 'माता-पिता का विश्वास' होगा. हमारे पास एसओपी के अनुसार सब कुछ हो सकता है, लेकिन अब सब कुछ हमें मिलने वाली प्रतिक्रिया पर निर्भर है. फिलहाल, ज्यादातर माता-पिता डरे हुए हैं, खासकर पिछले सप्ताह के मामलों की संख्या को देखते हुए.

    शारीरिक रूप से स्कूल में उपस्थित होना आवश्यक है या नहीं
    कक्षाएं ऑनलाइन हो रही हैं. छात्रों के डाउट्स को माइक्रोसॉफ्ट टीम्स और शिक्षकों द्वारा दूर किया जा रहा है. इसलिए माता-पिता को यह तय करना है कि क्या वे शारीरिक रूप से स्कूल में उपस्थित होना आवश्यक समझते हैं या नहीं हम उसी अनुसार तैयारी करेंगे. एक ओर स्कूल, अभिभावकों की ओर से मांग का आकलन करने की कोशिश कर रहे हैं दूसरी ओर स्कूलों के एक समूह ने 1 से 12 तक सभी क्लास के लिए अंतिम रूप से स्कूल खोलने की तैयारी के लिए 48-पेज की एसओपी तैयार कर ली है.

    ये भी पढ़ें-
    SSC CGL, CHSL, JE के लिये अब कर सकते हैं सेंटर में बदलाव, पढ़ें पूरी डिटेल

    BPSC notification 2020: 66वें सिविल सेवा भर्ती परीक्षा के लिये नोटिफिकेशन जारी

    इन स्कूलों ने बनाई है SOP
    इंडियनएक्सप्रेसडॉटकॉम की खबर
    के मुताबिक, इंद्रप्रस्थ इंटरनेशनल स्कूल द्वारका, माउंट आबू पब्लिक स्कूल रोहिणी, वेंकटेश्वर ग्लोबल स्कूल रोहिणी, डीएवी पब्लिक स्कूल पुष्पांजलि एन्क्लेव, और देव समाज मॉडर्न स्कूल सुखपुरा विहार की प्रिंसिपलों की एक समिति द्वारा बनाई गई एसओपी योजना में बुनियादी ढांचे सहित विभिन्न क्षेत्रों पर विवरण शामिल है. जिसमें परिवहन, खेल और मनोरंजन प्रबंधन, और चिकित्सा आपात स्थिति भी शामिल है.

    Tags: Coronavirus school kab khulega, Coronavirus school open news, Coronavirus school opening, Private School

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर