यूपी में 9वीं से 12वीं के लिए 19 अक्टूबर से खुलेंगे स्कूल, ये हैं शर्तें

बच्चे शिफ्ट में स्कूल जा सकेंगे.
बच्चे शिफ्ट में स्कूल जा सकेंगे.

सभी टीचर्स, स्टूडेंट्स और वर्कर्स के लिए मास्क लगाना जरूरी होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 11:32 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत सरकार ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच अनलॉक 5.0 की गाइडलाइन में 15 अक्टूबर के बाद से सभी स्कूल और कॉलेज को नियमों के साथ खोलने की इजाजत दे दी गई है. हालांकि इसका निर्णय केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों पर छोड़ा है.

उत्तर प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक ही 15 अक्टूबर से सभी स्कूल और कॉलेज खोलने का निर्णय लिया था. जिला स्तर पर प्रशासन से बात करने के बाद स्कूल मैनेजमेंट कैंपस खोलने का फैसला ले सकते हैं. राज्य सरकार ने सभी छात्रों के लिए अभिभावकों की ओर से स्कूल जाने की इजाजत देने वाला लेटर लाने को कहा है.

ऑनलाइन क्लास की सुविधा भी
सरकार की नई गाइडलाइन में साफ तौर पर कहा गया है कि अगर 15 अक्टूबर के बाद राज्य स्कूल खोलते हैं तो बच्चों की अटेंडेंस को लेकर कोई हायतौबा नहीं मचाई जाएगी. स्‍कूल आने वाले स्‍टूडेंट्स को पेरेंट्स की रिटन परमिशन के साथ आना होगा. सभी स्कूलों में ऑनलाइन क्लास की सुविधा भी दी जाएगी.
यूपी में 19 अक्टूबर से खुलेंगे स्कूल


उत्तर प्रदेश में 9वीं से 12वीं के लिए स्कूल 19 अक्टूबर से खोले जाएंगे. राज्य सरकार ने फैसला किया है कि क्लासेज शिफ्ट में चलेंगी और सैनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा जाएगा.

लिखित परमिशन से स्कूल जाएंगे छात्र
छात्रों को माता-पिता की लिखित परमीशन के बाद ही क्लासेज अंटेंड करने की अनुमति दी जाएगी. उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने बयान में कहा कि अगले हफ्ते से बच्चे शिफ्ट में स्कूल जा सकेंगे. इससे स्कूलों में 50 प्रतिशत की उपस्थिति सुनिश्चित की जा सकेगी.

इस तरह लगेंगी शिफ्ट्स
9वीं और 10वीं कक्षा के छात्रों को पहली शिफ्ट में और 11वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों को दूसरी शिफ्ट में बुलाया जाएगा. दो बच्चों के बीच बैठने के लिए 6 फीट की दूरी रखी जाएगी. हालांकि, स्कूलों को खोले जाने के पर हर शिफ्ट के पहले उसका पूरी तरह से सैनिटाइजेशन किया जाएगा. स्कूलों में सैनिटाइजर, हैंडवॉश, थर्मल स्कैनिंग और प्राइमरी ट्रीटमेंट की व्यवस्था रहेगी.

ये भी पढ़ें-
क्या सच में टल गई बिहार पुलिस भर्ती परीक्षा, जानिए सच्चाई 
यूपी शिक्षक भर्ती: आसान नहीं है शिक्षक बनने की राह, खड़ा हुआ नया विवाद

 टीचर्स, स्टूडेंट्स और वर्कर्स के लिए मास्क लगाना जरूरी
सभी टीचर्स, स्टूडेंट्स और वर्कर्स के लिए मास्क लगाना जरूरी होगा. डिप्टी सीएम ने कहा कि ऑनलाइन टीचिंग को लेकर भी निर्देश जारी कर दिए गए हैं. जिन छात्रों के पास ऑनलाइन टीचिंग का ऐक्सेस नहीं है उन्हें इस मामले में प्राथमिकता दी जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज