लाइव टीवी

Bihar Judicial Service Exam किसान के बेटे ने पहली बार में किया पास, बना सिविल जज

News18Hindi
Updated: December 5, 2019, 6:15 AM IST
Bihar Judicial Service Exam किसान के बेटे ने पहली बार में किया पास, बना सिविल जज
सिविल जज अमन कुमार ने पटना में ही रहकर बिहार बोर्ड से ही इंटरमीडिएट तक पढ़ाई की.

न्यूज18 हिंदी पर आप हर दिन एक ऐसी हस्ती की कहानी पढ़ते हैं, जिसने विषम परिस्थितियों से लड़कर अपने फील्ड में कामयाबी हासिल कर मिसाल कायम की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2019, 6:15 AM IST
  • Share this:
Success Story: न्‍यूज 18 हिंदी पर हर दिन एक एक शख्‍सयित की कहानी बताते हैं. इन कहानियों में आज उन लोगों से रूबरू होते हैं जो देश की सबसे मुश्‍किल और प्रतिष्‍ठित परीक्षाओं में आने वाले किसी भी एग्जाम को पास करते हैं. इन एग्जाम्स को देने के लिए हर साल लाखों लोग शामिल होते हैं लेकिन कामयाबी चंद लोगों को ही मिलती है. इन एग्‍जाम्स को क्रैक करने के लिए उम्‍मीदवार दिन- रात एक कर देते हैं. ऐसे में ये लोग बेहद खास होते हैं और उससे भी ज्‍यादा अहम होता है ऐसे लोगों का इस मुकाम तक पहुंचने का सफर.

हर हस्ती की कहानी संघर्ष के अलग-अलग पायदान को बयां कर प्रेरित करती है. आज की सक्सेस स्टोरी के जरिए मिलिए अमन कुमार से. अमन कुमार ने Bihar Judicial Service Exam को पहली बार में पास किया है. अमन ने बीपीएससी परीक्षा पहली बार में ही पास कर 384वीं  रैंक हासिल की है. अमन कुमार ने सिविल जज बनकर मिसाल कायम की है. शायद आपने व कहावत सुनी हो- बच्चा या तो ख़ौफ से पढ़ता है या शौक से. अमन की कहानी ये बताती है कि वे शौक से पढ़ते हैं.

अमन बिहार के खजुरिया गांव (Khajuria village) से हैं. ये गांव बड़हरा विधानसभा क्षेत्र में है. अमन के पिता, प्रभु दयाल यादव पेशे से किसान हैं. अमन की मां उषा देवी झारखंड के पलामू जिले में एक सरकारी विद्यालय में शिक्षक हैं. (खजुरिया गांव भागलपुर जिले के, कोलगोंग तहसील के सोनहुला ब्लॉक में है)

सिविल जज अमन कुमार ने पटना में ही रहकर बिहार बोर्ड से इंटरमीडिएट तक पढ़ाई की. इंटरमीडिएट के बाद वह दिल्ली पढ़ाई करने गए. उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से 2015-18 बैच में लॉ की पढ़ाई की. अमन ने मां-पिता सफलता का श्रेय देते हुए कहा, सफलता प्राप्त करने का कोई शॉर्टकट नहीं होता है.



न्यूज18 हिंदी पर आप हर दिन एक ऐसी हस्ती की कहानी पढ़ते हैं, जिसने विषम परिस्थितियों से लड़कर अपने फील्ड में कामयाबी हासिल कर मिसाल कायम की. देश की सबसे मुश्‍किल और प्रतिष्‍ठित परीक्षाओं के लिए हर साल लाखों उम्मीदवार उपस्थित होते हैं. कामयाब हुए हर उम्मीदवार का तजुर्बा कुछ न कुछ सिखाता है. अन्य सक्सेस स्टोरी पढ़ने के लिए नीचे लिखे Success Story पर क्लिक करें.

ये भी पढ़ें-
ग्रुप B & C की वैकेंसी भरने के लिए एक ही एजेंसी कराए CET exam: केंद्र


दिल्ली में खुलेगी ऐसी यूनिवर्सिटी जो हर स्टूडेंट को देगी नौकरी, पढ़ें डिटेल


DUTA की अनिश्चितकालीन हड़ताल से प्रभावित हो सकते हैं DU एग्जाम 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भागलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2019, 6:15 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर