जॉब न होने के वजह से छात्र ने की आत्महत्या, छोड़ा सुसाइड नोट

जॉब न होने के वजह से छात्र ने की आत्महत्या, छोड़ा सुसाइड नोट
बेरोजगार होने की वजह से युवा ने आत्महत्या कर ली.

सुसाइड नोट में लिखा गया है कि 'मैं जिंदगी से परेशान हो चुका हूं. मैं किसी के सामने हंस नहीं पाता इसका एक ही कारण है कि मैं बेरोजगार हूं.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 30, 2020, 8:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केरल में नौकरी न मिलने की वजह से परेशान छात्र ने आत्महत्या (Suicide) कर ली. यहां तक कि लोक सेवा आयोग की वरीयता सूची में छात्र का नाम आने के बावजूद उसने फांसी लागकर आत्महत्या कर ली क्योंकि योग्यता सूची में नाम आने के बावजूद लिस्ट को कैंसिल कर दिया गया था. युवक ने एक सुसाइड नोट छोड़ा है, जिसमें लिखा गया है कि 'मैं जिंदगी से परेशान हो चुका हूं. मैं किसी के सामने हंस नहीं पाता इसका एक ही कारण है कि मैं बेरोजगार हूं.'

क्षेत्र में बढ़ गया तनाव

घटना के बाद जब विधायक सीके हरींद्रन पहुंचे तो युवा के घर के बाहर काफी तनाव बढ़ गया. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि पीएससी लिस्ट को कैंसिल किया जाना ठीक था. इसके बाद युवा मोर्चा के कुछ कार्यकर्ताओं ने उनके साथ धक्का-मुक्की की.

ये भी पढ़ें :-
फाइनल ईयर एग्जाम्स 30 सितंबर तक कराए जाएंगे, SC ने दिखाई हरी झंडी


बड़ी बात: सितंबर में क्यों होना चाहिए नीट और जेईई एग्जाम, ज़रूर जानें

वर्कर्स ने कहा कि पीएससी की नियुक्तियां मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन द्वारा कंट्रोल की जाती हैं. इसके बाद केरल पुलिस की एक टीम को भीड़ को हटाने के लिए भेजा गया. इस बीच राज्य सरकार के विरोध में कई जगहों पर विरोध भी किया गया. यूथ कांग्रेस और युवा मोर्चा के लोगों ने सचिवालय के निकट विरोध प्रदर्शन किया.

पहले भी लगते रहे हैं आरोप
बता दें सरकार पर ऐसे आरोप लगते रहे हैं कि पिछले करीब चार सालों से नियुक्तियों को लेकर काफी अनियमितताएं की जा रही हैं. ऐसा आरोप लगाया गया है कि ज्यादातर नौकरियां एसएफआई और सीपीएम से जुड़े लोगों को दी गईं भले ही वे योग्यता के सभी मानदंडों को पूरा नहीं करते थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज