ऑनलाइन टेस्ट देने में असमर्थ छात्रों के लिए JNU कराएगा एग्जाम

ऑनलाइन टेस्ट देने में असमर्थ छात्रों के लिए JNU कराएगा एग्जाम
सितंबर के अंत तक अंतिम सेमेस्टर परीक्षा नहीं दें पाने वालों के लिए विशेष परीक्षाएं आयोजित होंगी.

जेएनयू में, कई स्कूलों में, पहले ही आखिरी सेमेस्टर परीक्षाओं का आयोजन ऑनलाइन किया जा चुका है.

  • Share this:
जेएनयू के वीसी एम जगदीश कुमार ने 7 जुलाई को कहा, उन छात्रों के लिए परीक्षा आयोजित की जाएगी जो ऑनलाइन नहीं दे सकते. इसी के एक दिन बाद एचआरडी मंत्रालय ने विश्वविद्यालयों में अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को रद्द नहीं करने का फैसला किया.

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सोमवार को COVID-19 मामलों में स्पाइक के मद्देनजर शेड्यूल को स्थगित करते हुए सोमवार को घोषणा की, विश्वविद्यालयों में अंतिम वर्ष की परीक्षाएं इस साल सितंबर के अंत तक आयोजित की जानी हैं.

सितंबर में अंतिम वर्ष की परीक्षा
हालांकि, सितंबर में अंतिम वर्ष की परीक्षा में बैठने में असमर्थ छात्रों को एक और मौका मिलेगा. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा जारी किए गए संशोधित दिशानिर्देशों के अनुसार, विश्वविद्यालय के लिए जब और जैसे मुमकिन होगा, वे विशेष परीक्षा आयोजित करेंगे.
मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा ये फैसला स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा एसओपी के अनुसार, परीक्षा आयोजित करने के लिए गृह मंत्रालय से एक संकेत के बाद आया है.



अंतिम सेमेस्टर परीक्षाओं को लिखने का अवसर
जेएनयू के वीसी एम जगदीश कुमार ने कहा, उन्होंने इन संशोधित दिशानिर्देशों का स्वागत किया. क्योंकि दिशानिर्देश छात्रों को COVID-19 से संबंधित निर्धारित प्रोटोकॉल / दिशानिर्देशों का पालन करके ऑफ़लाइन / ऑनलाइन / मिश्रित मोड में अंतिम सेमेस्टर परीक्षाओं को लिखने का अवसर देते हैं.

अंतिम सेमेस्टर परीक्षाओं को लिखने का अवसर
जेएनयू में, कई स्कूलों में, पहले ही आखिरी सेमेस्टर परीक्षाओं का आयोजन ऑनलाइन किया जा चुका है. जिनके पास इंटरनेट की पहुंच नहीं और परीक्षाओं को लिखने में असमर्थ हैं, विश्वविद्यालय में वापस आने पर उनके लिए परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया है. बाकी सब कुछ COVID-19 स्थिति के आधार पर होगा.

ये भी पढ़ें-
RBSE 12th Science Result: राजस्थान बोर्ड 12वीं का रिजल्ट इन वेबसाइट्स पर देखें
Jharkhand Board 10th Result: झारखंड बोर्ड 10वीं का रिजल्ट इन वेबसाइट पर देखें

यूजीसी ने विश्वविद्यालयों को उन छात्रों के लिए विशेष परीक्षाएं आयोजित करने की अनुमति दी है जो सितंबर के अंत तक अपनी अंतिम सेमेस्टर परीक्षाओं को पूरा करने में असमर्थ रहें. विश्वविद्यालयों के रूप में, हम छात्रों की जरूरतों के प्रति संवेदनशील हैं. यूजीसी का कदम छात्रों का समर्थन करने में सक्षम है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज