पहली बार: दिल्ली में सरकारी स्कूल के केजी से आठवीं तक के बच्चे SMS के जरिए कर रहे पढ़ाई

पहली बार: दिल्ली में सरकारी स्कूल के केजी से आठवीं तक के बच्चे SMS के जरिए कर रहे पढ़ाई
शिक्षा मंत्री ​रमेश पोखरियाल निशंक ने बताया कि सरकार 15 अगस्त के बाद स्कूल खोल सकती है.

लॉकडाउन (Lockdown) के कारण स्कूलों (School) में सभी शैक्षणिक गतिविधियां बंद हैं. ऐसे में दिल्ली सरकार (Delhi Government) के शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों की पढ़ाई के नुकसान को कम करने के लिए विस्तृत योजना बनाई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2020, 2:42 PM IST
  • Share this:
 नई दिल्ली. इन दिनों देश में कोरोना महामारी (Corona epidemic) से निपटने के लिए लॉकडाउन टल रहा है. ऐसे में स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों तक में ऑनलाइन पढ़ाई हो रही है. वहीं दिल्ली (delhi) की सरकारी स्कूलों (Government schools) ने इन सब से हटकर एसएमएस के जरिए पढ़ाने का रास्ता अपनाया है. यहां केजी से आठवीं तक के विद्यार्थियों की पढ़ाई को एसएमएस के माध्यम से पढ़ाना शुरू किया गया है. इन कक्षाओं के विद्यार्थियों को प्रतिदिन एसएमएस से गतिविधियां भेजी जा रही हैं. बच्चों को इन गतिविधियों की रिपोर्ट, ड्राइंग व पिक्चर के रूप में संभाल कर रखने को कहा गया है.

दरअसल इन गतिविधियों को शैक्षणिक सत्र 2020-21 में आंतरिक मूल्यांकन का आधार बनाया जाएगा. बता दें कि लॉकडाउन के कारण स्कूलों में सभी शैक्षणिक गतिविधियां बंद हैं. ऐसे में दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों की पढ़ाई के नुकसान को कम करने के लिए विस्तृत योजना बनाई है.

बता दें कि दिल्ली की सरकारी स्कूलों में भी बड़ी कक्षाओं की पढ़ाई ऑनलाइन हो रही है, लेकिन केजी से आठवीं तक के बच्चों को ऑनलाइन कक्षाओं को लेने में दिक्कत हो सकती है. ऐसे में इन कक्षाओं के बच्चों के अभिभावकों को उनके फोन पर मिशन बुनियाद और हैपीनेस क्लास की गतिविधियों की तरह प्रतिदिन अन्य गतिविधियां भेजी जा रही हैं.



बता दें कि देश इन दिनों कोरोना महामारी से जंग लड़ रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार बुधवार सुबह 8 बजे तक देश भर में कोरोना के कुल मामले 31,332 थे जिसमें 22,629 केस एक्टिव हैं, 7695 ठीक हो चुके हैं, 1007 की मौत हो गई है और 1 मरीज विदेश जा चुका है. स्वास्थय मंत्रालय के मुताबिक, महाराष्ट्र में 400, मध्य प्रदेश में 120, गुजरात में 181, दिल्ली में 54, तमिलनाडु में 25, तेलंगाना में 26, आंध्र प्रदेश में 31, कर्नाटक में 20, उत्तर प्रदेश में 34, पंजाब में 19, पश्चिम बंगाल में 22, राजस्थान में 51, जम्मू-कश्मीर में 8, हरियाणा में 3, केरल में 4, झारखंड में 3, बिहार में 2, असम, हिमाचल प्रदेश, मेघालय और ओडिशा में एक-एक मौत हुई है.
ये भी पढ़ें-  HRD मिनिस्टर दूसरी बार जल्द आएंगे लाइव, अबकी बार स्टूडेंट पूछ सकेंगे ऐसे सवाल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज